अश्लील कंटेंट के चलते मुंबई पुलिस ने OTT ऐप के खिलाफ दर्ज किया मुकदमा

पिछले कुछ दिनों में मुंबई पुलिस को कई शिकायतें मिली हैं। इसी के चलते महाराष्ट्र साइबर सेल पुलिस ने छह OTT ऐप और दो वेबसाइट के खिलाफ इंटरनेट के जरिए अश्लीलता फैलाने को लेकर मुकदमा दर्ज किया है।
अश्लील कंटेंट के चलते मुंबई पुलिस ने OTT ऐप के खिलाफ दर्ज किया मुकदमा
Mumbai police files case against OTT app due to obscene contentSyed Dabeer Hussain - RE

मुंबई आज देश में जितनी तेजी से इंटरनेट इस्तेमाल किया जा रहा है, उतनी ही तेजी से कई प्रकार की ऐप्स भी इस्तेमाल की जा रही है। इन ऐप्स में ऐसी ऐप भी शामिल है जिन पर कुछ अश्लील कंटेंट परोसा जाता है। इसी अश्लील कंटेंट के चलते ही पोर्न फिल्म इंडस्ट्री को बढ़ावा मिलता है लेकिन अब मुंबई पुलिस की नजरें इसी पर नजर आ रही है। इसी के चलते मुंबई पुलिस ने अश्लीलता फैलाने वाले ऐप्स के खिलाफ शिकायत दर्ज की है।

मुंबई पुलिस ने दर्ज की शिकायत :

दरअसल, पिछले कुछ दिनों में मुंबई पुलिस को ऐसी कई शिकायतें मिली हैं कि, इस इंडस्ट्री के कुछ निर्माता मासूम लड़कियों का शोषण कर रहे हैं और उन्हें अश्लील फिल्मों में काम करने के लिए मजबूर किया जा रहा है। पुलिस ने इस बारे में मामला दर्ज करते हुए पोर्न फिल्म सामग्री बनाने वाले निर्माताओं को सामान भेजा है। इनमें बड़ी कंपनी के अधिकारी भी शामिल हैं। साथ ही महाराष्ट्र साइबर सेल पुलिस ने अब तक छह ओटीटी ऐप और दो वेबसाइट के खिलाफ इंटरनेट के जरिए अश्लीलता फैलाने को लेकर मुकदमा दर्ज किया है।

लॉकडाउन के दौरान हुई बढ़ोतरी :

बता दें, जब से इंटरनेट डाटा सस्ता हुआ है तब से पोर्न फिल्मों का क्रेज बहुत अधिक बढ़ता पाया गया है। इसके अलावा पोर्न फिल्म देखने वालों में 95% तक की बढ़ोतरी कोरोना वायरस के चलते देश में लागू हुए लॉकडाउन के दौरान हुई है।

OTT प्लेटफॉर्म्स उठा रहे फायदा :

लोगों के इस प्रकार के कंटेंट को पसंद करने का सबसे ज्यादा फायदा मुफ्त और प्रीमियम दोनों ही सर्विस पर चल रहे OTT प्लेटफॉर्म्स उठा रहे हैं। OTT मालिक ऐसे चैनलों पर किसी प्रकार की पाबंदी न होने का फायदा उठा रहे हैं। इसी राह में 'ट्रिपल एक्स', 'गंदी बात', 'चरमसुख' जैसी कई अश्लील वेब सीरीज रिलीज की गई, लेकिन अब महाराष्ट्र साइबर सेल ने इन सब के खिलाफ कार्रवाई करने की ठान ली है। क्योंकि, इस तरह की अश्लील फिल्में बनाने के लिए सबसे ज्यादा मुंबई की लड़कियों का इस्तेमाल किया जाता है।

महाराष्ट्र साइबर सेल के पुलिस ने बताया :

महाराष्ट्र साइबर सेल के पुलिस महानिरीक्षक यशस्वी यादव ने बताया कि, 'इन सभी प्लेटफॉर्म्स और वेबसाइट की की कई समय से निगरानी की जा रही थी और, अब तक की जांच में ये सामने आया कि, इन फिल्मों में काम करने वाली अभिनेत्रियों का शोषण करके ये वीडियो और फिल्में तैयार किए गए हैं। सठपता ही ये भी पता चला है कि कुछ कंपनियां डीपफेक तकनीक का इस्तेमाल करके नामी गिरामी अभिनेत्रियों के भी अश्लील वीडियो बना रही हैं। इन वीडियोज में दिखने वाली अभिनेत्रियों की इन वीडियोज के जरिए छवि खराब हो रही है। हम इन सभी वीडियोज को बनाने वालों पर कार्रवाई करेंगे और इंटरनेट से इन वीडियोज को हटाने की भी कोशिश कर रहे हैं। अगर ऐसा नहीं किया गया तो यह वेबसाइट और प्लेटफॉर्म्स बंद भी किए जा सकते हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co