New Executive Director of Central Bank of Japan
New Executive Director of Central Bank of Japan|Social Media
व्यापार

जापान में 55 वर्षीय महिला ने बदला 138 सालों का इतिहास

जापान की 55 वर्षीय एक महिला ने बदला 138 साल का इतिहास। जानिए कौन है यह महिला और कैसे बदला उन्होंने इतिहास।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

राज एक्सप्रेस। आज इस बात से इंकार करना बहुत मुश्किल है कि, भारत सहित पूरी दुनिया भर की महिलाएं पुरुषों से किसी भी बात में कम हैं। वह आज हर क्षेत्र में अपना और अपने देश का नाम रोशन कर रहीं हैं। वहीं, इसी राह में जापान की एक महिला ने बदला 138 साल का इतिहास। जानिए कौन है यह महिला और कैसे बदला उन्होंने इतिहास।

कौन है इतिहास वाली महिला :

दरअसल, जापान में 138 सालों में पहली बार ऐसा हुआ है जब किसी महिला को जापान के सेंट्रल बैंक के कार्यकारी निदेशक के पद के लिए चुना गया हो। उनका नाम 'टोकिको शिमिजु' है। वह 55 वर्षीय है। इतना ही नहीं शिमिजु पहली ऐसी महिला बन गई है। जो, जापान के सेंट्रल बैंक में कार्यकारी निदेशक का पद संभालेंगी। ऐसा करके शिमिजु ने जापान का 138 साल पुराना इतिहास बदल दिया है। बता दें, इससे पहले आज तक जापान में किसी भी महिला को इस पद के लिए नहीं चुना गया है। बता दें, टोकिको शिमिजु को इस पद के लिए बैंक ऑफ जापान में हुए बदलावों के दौरान चुना गया।

छह कार्यकारी सदस्यों में भी हुईं शामिल :

टोकिको शिमिजु को जापान के सेंट्रल बैंक में कार्यकारी निदेशक पद के साथ ही छह कार्यकारी सदस्यों में भी शामिल किया गया हैं। बता दें, यह 6 सदस्य मिलकर ही बैंक में रोजमर्रा का काम सँभालते है। हालांकि, शिमिजु बैंक से साल 1987 से ही जुड़ी हुई थी। इतने सालों में उन्होंने बैंक में निम्लिखित कई पद संभाले हैं।

  • वित्तीय मार्केट विभाग

  • विदेशी मुद्रा विनियम विभाग सहित

  • बैंक के महाप्रबंधक का पद (2016 में)

  • लंदन में बैंक की मुख्य प्रतिनिधि पद (2018 में )

बैंक में है 47% महिलाकर्मी :  

जानकारी के लिए बता दें, बैंक ऑफ जापान की स्थापना साल 1882 में हुई थी। तब से ही बैंक में 47% कर्मचारी महिला हैं। लेकिन मात्र 13% महिलाएं ही ऐसी हुईं जो वरिष्ठ प्रबंधक पद तक पहुंची हों। बाकि की बची हुई 20% महिलाएं कानूनी मामले, पेमेंट प्रोसेस और बैंक नोट से जुड़े काम देखती हैं। बता दें, बैंक में साल 1998 में एक मौद्रिक नीति की स्थापना की गई थी उसके बाद से ही महिलाओं को उच्च निर्णय लेने वाली पॉलिसी बोर्ड में शामिल किया गया था।

कुछ मुख्य बिंदु :

  • साल 2018 के विश्व बैंक के आंकड़ों के अनुसार जापान की आबादी में 51% हिस्सा महिलाओ के नाम है।

  • ग्लोबल जेंडर गैप इंडेक्स के अनुसार, जापान की गिनती 153 देशों में 121वें नंबर पर होती है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co