Raj Express
www.rajexpress.co
Niki App
Niki App|Kavita Singh Rathore -RE
व्यापार

अब ऑनलाइन पेमेंट, बगैर बैंक अकाउंट या ATM के भी संभव, निकी ऐप की देन

अब ऑनलाइन पेमेंट करने का नया तरीका सामने आया है, निकी के इस ऐप में आप बातचीत करके ऑनलाइन पेमेंन्ट कर सकते हैं। इतना ही नहीं यह ऐप अंग्रेजी के साथ-साथ कई अन्य भाषाओं में भी काम करने में सक्षम है।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

हाइलाइट्स :

  • निकी ऐप का अनोखा फीचर-बदलेगा ऑनलाइन पेमेंट की परिभाषा

  • ऑनलाइन बिल स्वयं भरे और पेमेंट अपने दोस्त या रिश्तेदार को करने बोलें

  • देश की भाषा में काम करने वाला पहला ऐप

राज एक्सप्रेस। सुबह ऑफिस पहुंचते ही फोन की घंटी बजी मां का फोन था फोन उठाते ही मां की परेशान सी आवाज आई कि, आज बिजली बिल भरने की आखिरी तारीख है, बिल नहीं भरा तो, कनेक्शन कट जाएगा। मैंने सोचा बिल भरना तो काफी आसान है फिर वहां परेशान क्यों है? पूछने पर पता चला कि, उनके शहर में रात से ही मूसलाधार बारिश हो रही है और घर पर कैश नहीं है। बैंक जाकर पैसे निकालकर फिर बिल भरने जाना थोड़ा मुश्किल है। तुरंत ऑनलाइन बिल भर के मैंने उन्हें आश्वस्त किया कि, अब उनका कनेक्शन नहीं कटेगा।

मेरी मां के पास तो बैंक का अकाउंट है, लेकिन एटीएम कार्ड नहीं होने के कारण उनके लिए ऑनलाइन लेनदेन काफी मुश्किल होता है, लेकिन हमारे देश में तो ऐसे बहुत सारे लोग हैं जिनके पास बैंक का अकाउंट भी नहीं है, एटीएम कार्ड तो बहुत दूर की बात है। ऑनलाइन पेमेंट नहीं करने वाले देश के छोटे शहरों व गांवों में रहने वाले इन लोगों को इस कारण से कई बार परेशानी का सामना करना पड़ता है जब वह मेरी मां जैसी स्थिति में फंस जाते हैं। फिर इस परेशानी से निकलने के लिए हम अकसर दूसरों से मदद लेते हैं।

निकी भी ऐसे समय में आपके दोस्त बनकर आपकी मदद करने के उद्देश्य से लेकर आई है अब एक अनोखा फीचर।

"किसी और को पेमेंट करने बोले" यानी सोशल पेमेंट फीचर इस फीचर के माध्यम से आसानी से मुश्किल से मुश्किल समय में भी किसी की मदद लेकर आप अपने बिल्स ऑनलाइन भर सकते हैं।

यह फीचर कैसे काम करता है-

निकी आपके इस फीचर की मदद से कोई भी ऑनलाइन पेमेंट कर सकता है।

आइए जानते हैं -

  1. सबसे पहले अपने स्मार्टफोन में प्ले स्टोर से फ्री में निकी ऐप डाउनलोड करें।

  2. फिर उस सर्विस को चुने जिसके लिए आपको पेमेंट करना है। (जैसे फोन का रिचार्ज, डीटीएच पेमेंट या बिजली बिल पेमेंट आदि)

  3. सर्विस चुनने के बाद और उससे संबंधित सभी सूचना निकी को देने के बाद पेमेंट का ऑपरेशन आएगा यहां पर आप किसी और को पेमेंट करने वाले का ऑप्शन क्लिक करें।

  4. आपके ऑप्शन चुनने के बाद आपको उस व्यक्ति को मैसेज भेजने के लिए ऑप्शन दिया जाएगा जैसे s.m.s., व्हाट्सएप आदि।

  5. मैसेज भेजने का माध्यम सुनने के बाद आप पेमेंट करने वाले अपने दोस्त या रिश्तेदार के साथ पेमेंट लिंक शेयर करें आप अपने दोस्त या रिश्तेदार का नंबर अपने फोन के कांटेक्ट लिस्ट में शेयर कर सकते हैं। (जैसे आप पेमेंट करने के लिए अपने दोस्त शेखर को बोलना चाहते हैं तो आप शेखर का नंबर सिलेक्ट करके संदेश भेजें)

  6. आपके दोस्त या रिश्तेदार की ओर से पेमेंट प्रोसेस पूरा करते ही आपके बिल का पेमेंट सफल हो जाएगा और इस संबंध में आपके पास सूचना आ जाएगी।

  7. बाद में आप अपने दोस्त या रिश्तेदार को बिल अमाउंट की रकम कैश में भी दे सकते हैं।

बैंक का अकाउंट न होने पर :

इस तरह से किसी और को पेमेंट करने वाले फीचर के माध्यम से कोई भी ऑनलाइन लेनदेन कर सकता है इस फीचर का लाभ वैसे लोग भी ले सकते हैं जो ऑनलाइन पेमेंट तो करना चाहते हैं, लेकिन उनके पास बैंक का अकाउंट नहीं है या एटीएम कार्ड नहीं है या कैश में सारे पेमेंट मिलता है। इसके अलावा वो लोग भी इस फीचर का फायदा उठा सकते हैं जो ऑनलाइन पेमेंट तो करते हैं, लेकिन कभी ऐसी स्थिति में फंस गए हो जहां पर नेट बैंकिंग का इस्तेमाल नहीं कर पा रहे हो।

भारत का पहला ऐप :

यदि हम निकी की बात करें तो, यह भारत का ऐसा पहला ऐप है जिसे देश के आम लोगों की जरूरतों को ध्यान में रखकर ही बनाया गया है। भारत की अधिकांश जनता गांव या छोटे शहरों में रहती है जो, ऑनलाइन ट्रांजैक्शन करने में सहज नहीं होती। कारण यह कि ज्यादातर ऐप अंग्रेजी में होते हैं जिससे ट्रांजैक्शन करने में उन्हें परेशानी होती है। इसके अलावा अंग्रेजी पढ़ने, समझते या टाइप करने में उन्हें दिक्कत होती है। लोगों की ऐसी ही परेशानियों को ध्यान में रखते हुए आईआईटी खड़गपुर के पूर्व छात्र सचिन जयसवाल, नितिन बाबेल, शिशिर मोदी और केशव प्रवासी ने निकी एप का निर्माण किया। वास्तव में निकी को ऐसा बनाया गया है जिससे भारत की आम जनता भी अपने घरेलू बिल जैसे बिजली का बिल, डीटीएच रिचार्ज, प्रीपेड मोबाइल रिचार्ज आदि का काम ऑनलाइन कर सके।

कई भाषाओं में काम करेगी यह ऐप :

वर्तमान समय में निकी अंग्रेजी के अलावा हिंदी, बंगला और तमिल भाषा में भी काम करती है। जिससे आसानी से लोग आपकी भाषा समझ सकते हैं, बहुत जल्द भारत की अन्य भाषाओं में भी निकी काम करने लगेगी। साथ ही निकी प्रत्येक कदम पर आपकी भाषा में बोलकर ऑनलाइन पेमेंट करने में मदद करती है, जिससे टाइप करने की जरूरत नहीं होती। इस प्रकार कोई भी निकी के साथ बातचीत करते हुए ऑनलाइन ट्रांजैक्शन पूरा कर सकता है। वर्तमान समय में भारत में करीब 50 लाख लोग निकी की सेवा ले रहे हैं जो अगले 1 वर्ष में ढाई करोड़ तक पहुंचने की संभावना है।