Payment made easier through UPI
Payment made easier through UPIRaj Express

दिसंबर 2023 में यूपीआई से लेन-देन का बना नया रिकॉर्ड, इस माह 18.23 लाख करोड़ ट्रांसफर किए गए

यूपीआई ने पिछले साल दिसंबर माह 2023 में 1,202 करोड़ ट्रांजैक्शन का नया रिकॉर्ड बना डाला है। इस दौरान 18,22,949.45 करोड़ रुपए का लेनदेन किया गया है।

हाईलाइट्स

  • एक साल में यूपीआई लेनदेन में दिखी 54% ग्रोथ

  • इस माह दौरान यूजर्स ने 1,202 करोड़ लेनदेन किए

  • नवंबर में यूपीआई पर 1,123 करोड़ लेनदेन किए

राज एक्सप्रेस। यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस या यूपीआई ने पिछले साल दिसंबर माह 2023 में 1,202 करोड़ ट्रांजैक्शन का नया रिकॉर्ड बनाया है। इस दौरान 18,22,949.45 करोड़ रुपए का लेनदेन किया गया है। इसके एक माह पहले नवंबर में यूपीआई पर 1,123 करोड़ ट्रैंजैक्शन के माध्यम से 17,39,740.61 करोड़ रुपए का लेनदेन किया गया था। नेशनल पेमेंट्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) ने पेमेंट सिस्टम के आंकड़े शेयर किए हैं। बीते साल के आखिरी महीने दिसंबर के आंकड़़ों के विश्लेषण से पता चलता है कि सालाना आधार पर लेन-देन की संख्या में 54 फीसदी का इजाफा हुआ है।एनपीसीआई के आंकडों के मुताबिक पिछले साल 2023 में किए गए टोटल ट्रांजैक्शन की कुल संख्या 11,724 करोड़ रही है। वहीं यूपीआई के माध्यम से ट्रांसफर किया गया अमाउंट यानी वैल्यू 182.3 लाख करोड़ रुपए रही है।

जानिए, कैसे काम करता है और कितना उपयोगी है यूपीआई

यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस यानी यूपीआई सेवा के लिए सबसे पहले आपको एक वर्चुअल पेमेंट एड्रेस तैयार करना होता है। इसके बाद इसे बैंक अकाउंट से लिंक करना होगा। इसके बाद आपको अपना बैंक अकाउंट नंबर, बैंक का नाम या आईएफएससी कोड कुछ भी याद रखने की जरूरत नहीं है। आप आसानी से चौबीस घंटों में किसी भी समय यूपीआई से किसी से पैसे रिसीव और ट्रांसफर कर सकते हैं। अब लोग पूरी तरह से यूपीआई भुगतान पर ही निर्भर होते जा रहे हैं। आरबीआई ने अब इसकी भुगतान की सीमा भी एक लाख रुपए तक बढ़ा दी है।

यूपीआई ने आज के दौर में बेहद आसान बनाया भुगतान

अगर, आपके बैंक अकाउन्ट में पैसे हैं तो आप किसी को भी उसके खाते में यूपीआई के जरिए अपने स्‍मार्टफोन से आसानी से पैसा भेज सकते हैं। न सिर्फ पैसा बल्कि यूटिलिटी बिल पेमेंट, ऑनलाइन शॉपिंग, खरीदारी आदि के लिए भी आजकल आजकल इसका खूब इस्तेमाल किया जा रहा है। यूपीआई से किसी को भुगतान करना बेहद आसान है। इसमें आपको किसी क्रेडिट या डेबिट कार्ड भी जरूरत नहीं होती है। ये सभी काम आप यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस सिस्टम से आसानी के साथ कर सकते हैं।

आईए जानें क्यूआर कोड से कैसे किया जाता है भुगतान

यदि किसी को आप क्यूआर कोड के जरिए पैसे भेजना चाहते हैं, तो यह बेहद आसान है। अपने यूपीआई ऐप के होम स्क्रीन के सबसे ऊपर क्यूआर कोड आइकन पर टैप कीजिए। इसके बाद अपने कैमरे को क्यूआर कोड पर केंद्रित कीजिए। आप सीधे पेमेंट पेज पर पहुंच जाएंगे। यहां आपको भेजने वालेा अमाउंट का लिखना है और फिर प्रोसेस पर टैप करना है। इसके सिस्टम पासवर्ड वेरीफाई करने के लिए कहेगा। आप पासवर्ड डालर वेरीफाई कर दीजिए। ऐसा करते ही निर्धारित राशि आपके खाते से निकल कर दूसरे व्यक्ति के खाते में चली जाएगी। इस तरह आप पाएंगे कि यूपीआई के जरिए भुगतान करना बेहद आसान है। यही वजह है कि लोग आजकल इस सुविधा की ओर तेजी से बढ़ रहे हैं।

मोबाइल नंबर या बैेक अकाउंट में भी किया जा सकता है पेमेंट

यूपीआई ऐप के होम स्क्रीन पर जाइए और मोबाइल नंबर या अकाउंट नंबर आइकन पर टैप कीजिए। स्क्रीन पर ओपन होने वाली विंडो में जिसे भुगतान करना है उसका मोबाइल नंबर या बैंक अकाउंट नंबर लिखिए। मोबाइल नंबर या बैंक अकाउंट में पैसे डिपाजिट करना लगभग एक जैसा ही है। नंबर दर्ज करने के बाद आप वह राशि डालिए जो आप दूसरे के अकाउन्ट या नंबर पर पे करना चाहते हैं। यूपीआई पासवर्ड डालिए और पेमेंट विकल्प पर टैप करते ही भुगतान हो जाएगा। इसके अलावा वॉयस कमांड से भी आप पेमेंट कर सकते हैं। बता दें कि यह सुविधा फिलहाल केवल हिंदी और अंग्रेजी भाषा में ही है। जल्दी ही इसे अन्य भाषाओं में उपलब्ध कराने के प्रयास किए जा रहे हैं।

एक दिन में कर सकते हैं 5 लाख रुपए तक का भुगतान

नए साल में यूपीआई में कई बदलाव किए गए हैं। 2024 में उन सभी लोगों के यूपीआई अकाउंट बंद हो जाएंगे जो एक्टिव नहीं हैं। सबसे बड़ा बदलाव ट्रांजेक्शन लिमिट को लेकर हुआ है। अब आप एक दिन में यूपीआई से 5 लाख रुपये तक का ट्रांजेक्शन कर सकते हैं। पहले यह सीमा केवल एक लाख रुपये की थी। अब एक लाख रुपये तक भुगतान के लिए एडिशन फैक्टर ऑथेंटिकेशन (एएफए) की जरूरत नहीं होगी। पहले 15,000 रुपये से अधिक भुगतान के लिए इसकी जरूरत पड़ती थी।

नए साल में यूपीआई एटीएम की सुविधा का लिजिए लाभ

यूपीआई लाइट का दायरा बढ़ा दिया गया है। वॉलेट से अब 2,000 रुपये तक ट्रांसफर किए जा सकेंगे। इसके लिए किसी पिन की जरूरत नहीं होगी। वहीं यूपीआई लाइट से ऑफलाइन मोड में 500 रुपये ट्रांसफर किए जा सकेंगे। पहले यह सीमा 200 रुपये थी। नए साल में यूपीआई एटीएम की सुविधा ली जा सकती है। यानी आप अपने यूपीआई एप से किसी यूपीआई एटीएम से पैसे निकाल सकेंगे। इसके लिए आपको डेबिट कार्ड की जरूरत नहीं होगी। हिटाची पेमेंट सर्विस ने यूपीआई एटीएम लॉन्च किया है। आप यूपीआई एटीएम पर क्यूआर कोड को स्कैन करके पैसे निकाल सकते हैं।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co