Nirav Modi told mice fear to uk high court
Nirav Modi told mice fear to uk high court|Kavita Singh Rathore -RE
व्यापार

नीरव मोदी ने मानसिक स्थिति गंभीर होने के बाद बताया चूहों का डर

लंदन की वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट द्वारा नीरव मोदी को भारत वापस भेजने की बात पर नीरव का वकील लगातार एक के बाद एक बहाने बनाए जा रहा है। वहीं, अब उसने अपनी नई दलील पेश की है।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

राज एक्सप्रेस। पंजाब नेशनल बैंक से सामने आये बड़े घोटाले का मुख्य आरोपी हीरा कारोबारी नीरव मोदी जिसे भारत द्वारा भगोड़ा घोषित कर दिया गया था, उसे 19 मार्च को लंदन में पकड़ा गया था और तब से उस पर लंदन में ही केस चल रहा है। इसी के चलते लंदन की वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट द्वारा सुनवाई के दौरान उसे भारत वापस भेजने की बात पर नीरव मोदी का वकील लगातार एक के बाद एक बहाने बनाए जा रहा है।

पेश की नई दलील :

दरअसल, भगोड़े नीरव मोदी को वापस भारत भेजने को लेकर प्रत्यर्पण का मामला चल रहा है। इस मामले पर ही लंदन के कोर्ट में पांच दिन की सुनवाई चल रही है। कोर्ट में हाल ही में 12 मई को हुई सुनवाई के दौरान नीरव के वकील ने नीरव मोदी की मानसिक स्थिति गंभीर बताई थी। वहीं, अब नए बहाने के साथ नीरव के वकील ने फिर अपनी नई दलील पेश की है।

नीरव मोदी के वकील की नई दलील :

कोर्ट में नीरव मोदी के वकील का कहना है कि, आर्थर रोड जेल में बहुत चूहे और कीड़े हैं, साथ ही जेल परिसर में बहुत सी नालियां और पास ही झुग्गी बस्ती है, जिसके कारण वहां, आसपास बहुत शोर का माहौल है। ऐसे में कैदियों की गोपनीयता भंग होगी। इसलिए नीरव मोदी को वहां नहीं रखा जा सकता है। यदि उन्हें आर्थर रोड जेल में रखा गया तो यह उसके मानवाधिकारों का उल्लंघन होगा।

भारतीय एजेंसियों का कहना :

वहीं, इस मामले में भारतीय एजेंसियों का कहना है कि, प्रत्यर्पण के बाद नीरव मोदी को आर्थर रोड जेल की बैरक नंबर 12 में रखा जाएगा और यह बैरक मुख्य तौर पर आर्थिक अपराध करने वाले अपराधियों के लिए ही बनाई गई है। भारतीय एजेंसियों ने आर्थर रोड जेल की एक वीडियो अदालत में पेश की है, जिसमें न ही चूहे नजर आ रहे हैं और न ही बैरक के पास कोई खुला नाला। साथ वीडियो में साफ नजर आ रहा है कि, प्रत्येक कैदी के लिए बैरक में भरपूर जगह दी गई है। हालांकि, दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद कोर्ट ने अभी कोई फैसला न सुनाते हुए क्राउन प्रॉसिक्यूशन सर्विस को आर्थर रोड जेल की ताजा रिपोर्ट देने के आदेश दे दिए हैं।

आर्थर रोड जेल की नई रिपोर्ट :

बता दें, अब आर्थर रोड जेल की इस रिपोर्ट को सितंबर में सुनवाई के दौरान पेश किया जाएगा। बताते चलें, नीरव मोदी के वकील ने प्रत्यर्पण के खिलाफ पहले दी मानसिक स्थिति गंभीर बताते हुए कहा था कि, "मुंबई की आर्थर रोड जेल में मानसिक रोगों के चिकित्सक नहीं हैं।" गौरतलब है कि, नीरव मोदी के ऊपर भारत के कई बैंकों का हजारों करोड का कर्ज है। इसके अलावा उसने बैंकों के साथ धोखाधड़ी की और लंदन भाग गया। वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट की पिछली सुनवाई के बारे में जानने के लिए - क्लिक करें

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co