मुश्किल में पड़ी Zomato और Swiggy, NRAI ने लगाया कंपनियों पर आरोप
मुश्किल में पड़ी Zomato और Swiggy, NRAI ने लगाया कंपनियों पर आरोपSyed Dabeer Hussain - RE

मुश्किल में पड़ी Zomato और Swiggy, NRAI ने लगाया कंपनियों पर आरोप

राज्यों के लॉकडाउन हटने के बाद फ़ूड डिलवरी कंपनी Zomato और Swiggy की मुश्किल ख़त्म हुई ही थी कि, अब इन कंपनियों पर नया संकट आ गया है। क्योंकि, NRAI ने दोनों कंपनियों पर आरोप लगाया है।

राज एक्सप्रेस। कोरोना वायरस के चलते पूरे विश्व में कोहराम मचा हुआ है। कई देशों में अब तक आर्थिक मंदी का माहौल है। हालांकि, इस आर्थिक मंदी का सामना भारत को भी करना पड़ा था, लेकिन अब कई सेक्टर्स की कंपनियां भी आर्थिक मंदी की चपेट से बाहर आ चुकी हैं। इन्हीं कंपनियों ने ऑनलाइन व्यापार चलाने वाली फ़ूड डिलवरी कंपनी Zomato और Swiggy भी शामिल है। राज्यों के लॉकडाउन हटने के बाद इनकी मुश्किल ख़त्म हुई ही थी कि, अब इन कंपनियों पर नया संकट आ गया है।

NRAI ने लगाया Zomato और Swiggy पर आरोप :

दरअसल, फ़ूड डिलवरी कंपनी Zomato और Swiggy को पिछले साल से अब तक कई बार लॉकडाउन लगने के चलते काफी नुकसान उठाना पड़ा था। जैसे तैसे ये कंपनियां अब पटरी पर आगे है तो इन पर नए संकट के बादल छा गए हैं। क्योंकि, अब देशभर के होटलों की निगरानी करने वाले रेस्टोरेंट संगठन 'नेशनल रेस्टोरेंट एसोसएिशन ऑफ इंडिया' (NRAI) ने Zomato और Swiggy पर आरोप लगाया है। NRAI ने आरोप लगते हुए कहा कि, 'खाना ऑर्डर देने के डिजिटल मंच Zomato और Swiggy गैर-प्रतिस्पर्धी गतिविधियों में शामिल है।' इसके अलावा NRAI इस मामले में और जानकारी भारतीय प्रतिस्पर्धा अयोग (CCI) को दी है।

कंपनियों पर अन्य आरोप :

बताते चलें, नेशनल रेस्टोरेंट एसोसएिशन ऑफ इंडिया (NRAI) ने Zomato और Swiggy कंपनी पर अन्य आरोप लगाया कि, इन दोनों कंपनियों ने 2020-21 में आर्डर मूल्य का 25 से 35% कमीशन लिया है। NRAI ने कहा "ऐसे कई उदाहरण हैं, जब दोनों डिजिटल कंपनियों ने भुगतान में देरी की। इससे भागीदारों के नकदी प्रवाह पर असर पड़ा है। जोमैटो और स्विगी अपने मंचों पर रेस्तरां के नाम बेहतर तरीके से दिखाने को लेकर छूट देने का दबाव बनाते हैं। इन दोनों ने पूरी लागत का बोझ रेस्तरां पर डाल दिया है।’’

NRAI की दोनों कंपनियों को चेतावनी :

NRAI ने Zomato और Swiggy कंपनियों को चेतावनी देते हुए कहा है कि, 'अगर उन्होंने एक जैसी कीमत रखी तो संबंधित रेस्तरां के नाम अपने मंच से हटा देंगे। ऐसे कई उदाहरण हैं जिनमें कुछ भागीदारों को मंच से हटा दिया गया है क्योंकि उन्होंने अन्य चैनलों पर उपभोक्ताओं को कुछ बेहतर दरों की पेशकश की है।' बता दें, इस मामले में Zomato और Swiggy को ई-मेल भेजकर उनसे जबाव मांगा है। हालंकि अब तक कंपनियों ने कोई बयान नहीं दिया है।

NRAI का पिछला बयान :

बताते चलें, नेशनल रेस्टोरेंट एसोसएिशन ऑफ इंडिया (NRAI) ने पांच जुलाई को कहा था कि, 'Zomato और Swiggy की गैर-प्रतिस्पर्धी गतिविधियों से रेस्तरां के हित प्रभावित हो रहे हैं। इसी को ध्यान में रखकर उसने एक जुलाई को CCI के समक्ष आवेदन दिया।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.