vodafone idea
vodafone ideaRaj Express

वोडाफोन आइडिया शेयर मूल्य 6 माह में 115% बढ़ा, मुश्किल में पड़ी निवेश जुटाने की योजना

वोडाफोन आइडियाI के शेयरों में निवेश की चर्चा के बीच दमदार रैली देखने को मिली है। कंपनी के शेयर ने छह माह में 115 फीसदी रिटर्न दिया है।

हाईलाइट्स

  • निवेश जुटाने की कोशिश से ही आई थी स्टॉक में तेजी

  • स्टॉक में तेजी ही बन गई कंपनी के लिए बड़ी मुसीबत

  • कंपनी ने छह महीने में निवेशकों दोगुना दिया रिटर्न

राज एक्सप्रेस । पिछले काफी समय से संकट से जूझ रही दूरसंचार सेवा प्नदाता कंपनी वोडाफोन आइडियाI के शेयरों में निवेश की चर्चा शुरू होने के बाद शैय़रों में दमदार रैली देखने को मिली। शेयर मूल्य मेंं आई हालिया तेजी ही कंपनी के लिए संकट का कारण बन गई है। साल के अंतिम कारोबारी दिन यह स्टॉक 20.75 फीसदी की बढ़त के साथ 16 रुपये के भाव पर बंद हुआ । इंट्राडे में स्टॉक ने 23 फीसदी तेजी के साथ 16.25 रुपये के 52-वीक हाई का स्पर्श कर लिया है। वोडाफोन आईडिया के शेयरों में आई तेजी की वजह से संकट में फंसी टेलीकॉम कंपनी के निवेश जुटाने के प्रयासों को गहरा झटका लगा है।

छह माह के दौरान वोडाफोन आइडिया के शेयरों में निवेळ करने वाले लोगों के निवेश को दोगुना कर दिया है। इस दौरान स्टॉक में करीब 115 फीसदी की तेजी देखने को मिली है। इसके विपरीत, 50 शेयरों वाले निफ्टी में इसी समय सीमा के दौरान 13.28 फीसदी का ग्रोथ देखने को मिला है। 29 दिसंबर को वोडाफोन आइडिया का ट्रेडिंग वॉल्यूम बढ़कर 175 करोड़ शेयरों के स्तर पर जा पहुंचा। जो एक हफ्ते के एवरेज 26 करोड़ शेयरों और मासिक एवरेज 33 करोड़ शेयर की सीमा को पार कर गया।

वोडाफोन आईडिया के शेयरों में पिछले 6 माह में 115 फीसदी की शानदार तेजी देखने को मिली है। हालांकि, स्टॉक में यह शानदार तेजी ही कंपनी के लिए मुसबीत बन गई है। वोडाफोन आइडिया इन दिनों वित्तीय संकट से गुजर रहे हैं। उसे खुद को टेलीकॉम इंडस्ट्री में बने रहने के लिए पैसों की जरूरत है। कंपनी ने हाल के दिनिों में कई स्तरों पर धन जुटाने प्रयास शुरू किए हैं। कंपनी के लिए संकट तब गहरा गया जब उसके शेयरों की कीमत बढ़ने की वजह से उसकी धन जुटाने की योजना खटाई में पड़ गई।

दरअसल, वोडाफोन कनवर्टिबल स्ट्रक्चर के जरिए फंडिंग जुटाने का प्रयास कर रही थी। लेकिन उसके शेयरों में तेजी आने की वजह से अब उसकी फंडिंग को लेकर जारी बातचीत ठहर गई है। इस फंडिंग को जुटाने के लिए दिसंबर की समयसीमा तय की गई थी। कनवर्टिबल स्ट्रक्चर के जरिए फंडिंग जुटाने की यह योजना अब खटाई में पड़ गई है। कंपनी के शेयर की कीमत 6 महीनों में लगभग 115 प्रतिशत बढ़ी है। इसकी वजह से कनवर्टिबल स्ट्रक्चर के जरिए पैसे जुटाना मुश्किल हो गया है।

बता दें कि वोडाफोन के शेयरों में यह तेजी इसी उम्मीद से आई कि कंपनी फंड जुटाने का प्रयास कर रही है। गौरतलब है कि कंपनी के फंड जुटाने के प्रयासों ने ही कंपनी के रास्ते में गतिरोध पैदा कर दिया है। सितंबर में खत्म तिमाही में वोडाफोन आइडिया ने 8,737.9 करोड़ की विस्तारित हानि दर्ज की है, जबकि पिछले साल की इसी तिमाही में यह 7,595.5 करोड़ था। एक्सचेंज फाइलिंग में कंपनी ने बताया है कि उसका ऑपरेशनल रेवेन्यू 10,716.3 करोड़ रुपये तक पहुंच गया है। यह पिछले साल की समान तिमाही के 10,614.6 करोड़ रुपये से 0.95 फीसदी अधिक है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co