Ola की अनोखी पहल - महिलाओं को देगी ऑटो फील्ड में नौकरी
Ola की अनोखी पहल - महिलाओं को देगी ऑटो फील्ड में नौकरीKavita Singh Rathore -RE

Ola की अनोखी पहल - महिलाओं को देगी ऑटो फील्ड में नौकरी

Ola कंपनी ने भारत में ई-स्कूटर लांच करने के बाद महिलाओं को ऑटो फिल्ड में नौकरी देने का फैसला किया है। यह कंपनी की एक अनोखी और बड़ी पहल है। इस बारे में जानकारी Ola के को-फाउंडर भाविश अग्रवाल ने दी है।

राज एक्सप्रेस। आज महिलाएं किसी भी फिल्ड में पुरुषों से कम नहीं है। चाहे वो कोई सी भी फील्ड हो। इस बात का प्रमाण दिया है टैक्सी सेवा प्रदाता कंपनी Ola ने। दरअसल, आपने ऑटो कंपनीयों में ज्यादातर पुरूषों को ही काम करते देखा होगा, लेकिन Ola कंपनी ने एक अनोखा ऐलान कर बताया है कि, कंपनी ने भारत में अपना ई-स्कूटर लांच करने के बाद महिलाओं को भी ऑटो फिल्ड में नौकरी देने का फैसला किया है। यह कंपनी की एक अनोखी और बड़ी पहल है। इस बारे में जानकारी Ola के को-फाउंडर भाविश अग्रवाल ने दी है।

Ola की अनोखी और बड़ी पहल :

जहां तब हमारा ख्याल है आपने अब तब भारत में ऑटो सेक्टर में सिर्फ पुरुषों को ही काम करते देखा होगा, लेकिन अब आप Ola की ऑटो कंपनी में 10 हजार से ज्यादा महिलाओं को काम करते देख सकेंगे। इस बारे में जानकारी देते हुए Ola के को-फाउंडर भाविश अग्रवाल ने बताया है कि, 'Ola की इलेक्ट्रिक स्कूटर की फैक्ट्री पूरी तरह से महिलाओं द्वारा चलाई जाएगी। इस फैक्ट्री में 10 हजार से अधिक महिलाओं को रोजगार का अवसर मिलेगा। तमिलनाडु के Ola इलेक्ट्रिक स्कूटर प्लांट का संचालन सिर्फ महिलाएं करेंगी। प्लांट में 10 हजार से ज्यादा महिलाओं को नौकरी मिलेगी। साथ ही यह सिर्फ महिलाओं द्वारा संचालित किया जाने वाला दुनिया का पहला सबसे बड़ा मोटर व्हीकल मैन्युफैक्चरिंग प्लांट होगा।'

Ola के को-फाउंडर का दावा :

Ola के को-फाउंडर भाविश अग्रवाल ने एक ब्लॉग पोस्ट में दावा किया है कि, 'यह दुनिया की सबसे बड़ी महिलाओं के द्वारा संचालित एकमात्र फैक्ट्री होगी और दुनिया में अपनी तरह की एकमात्र ऑटोमोटिव निर्माण सुविधा होगी। आत्मनिर्भर भारत को आत्मनिर्भर महिला की आवश्यकता है। कंपनी अपने कार्यबल को बढ़ा रही है क्योंकि इसकी फैक्ट्री अभी अधिकांश ऑटोमोटिव कर्मचारियों की तुलना में कहीं अधिक उन्नत है। ऐसा पहली बार हो रहा है, जब ओला कंपनी के प्लांट में सभी कर्मचारी महिला हों। हमने मुख्य विनिर्माण कौशल में उन्हें प्रशिक्षित और कुशल बनाने के लिए महत्वपूर्ण निवेश किया है, और वे ओला फ्यूचर फैक्ट्री में निर्मित हर वाहन के पूरे उत्पादन के लिए जिम्मेदार होंगे।'

रिपोर्ट के हवाले से कहा :

को-फाउंडर भाविश अग्रवाल ने एक रिपोर्ट के हवाले से कहा है कि, 'सिर्फ महिलाओं को श्रम कार्यबल में समान अवसर मिलने से देश के सकल घरेलू उत्पाद में 27 फीसदी की वृद्धि हो सकती है।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co