Online और Offline Shopping में कौन है किससे बेस्ट ? जान लें फायदे और नुकसान

भारत को डिजिटल भारत बनाने की होड़ में "Online Shopping" का भी एक बड़ा हाथ है। हम इस पर भी चर्चा करेंगे कि, ऑनलाइन शूपिंग और ऑफलाइन शूपिंग में क्या अंतर है और इसके क्या फायदे और क्या नुकसान हैं।
Online और Offline Shopping के फायदे और नुकसान
Online और Offline Shopping के फायदे और नुकसानसोशल मीडिया

Online shopping vs offline shopping : आज भारत दिन-प्रति-दिन तरक्की करता जा रहा है। आज का युग तेजी से डिजिटलीकरण की तरफ बढ़ रहा है। भारत दिन-प्रति-दिन तरक्की करता जा रहा है। आज का युग तेजी से Digitization (डिजिटलीकरण) की तरफ बढ़ रहा है। अपने इस भारत को डिजिटल भारत बनाने की होड़ में "Online Shopping" का भी एक बड़ा हाथ है। हम इस पर भी चर्चा करेंगे कि, ऑनलाइन शूपिंग और ऑफलाइन शूपिंग में क्या अंतर है और इसके क्या फायदे और क्या नुकसान हैं।

क्यों ऑनलाइन शॉपिंग बेस्ट है ?

दरअसल, आज शॉपिंग करना किसे पसंद नहीं होता ? आपने बहुत लोगो को कहते सुना होगा कि, हमें ऑफलाइन शॉपिंग की तुलना में Online Shopping करना ज्यादा अच्छा है , लेकिन कभी आपने यह जानने की कोशिश की है, कि क्यों ऑनलाइन शॉपिंग बेस्ट है, या लोग आजकल Online Shopping करना क्यों ज्यादा पसंद कर रहे है। हालांकि, आज भी कई लोग ऐसे भी है जो ऑफलाइन शॉपिंग करना ही पसंद करते है। दोनों में से क्या बेस्ट है, इसे जानने के लिए आपको पहले Online Shopping और Offline Shopping में अंतर जानना पड़ेगा।

ऑनलाइन शॉपिंग Vs ऑफलाइन शॉपिंग :

Online Shopping की परिभाषा :

"Online Shopping इलेक्ट्रॉनिक कॉमर्स का एक रूप कहा जा सकता है। जो उपभोक्ताओं को एक वेब ब्राउज़र का इस्तेमाल द्वारा इंटरनेट पर विक्रेता से सीधे सामान या सेवाओं को खरीदने की अनुमति देता है। उपभोक्ताओं को रिटेलर की वेबसाइट पर सीधे या एक शॉपिंग सर्च इंजन द्वारा रुचि के अनुसार उत्पाद मिलते है। उपभोक्ता एक श्रृंखला का उपयोग करके ऑनलाइन खरीदारी कर सकते हैं।"

आम बोल-चाल की भाषा में:

अगर हम आम बोलचाल की भाषा में बात करें तो, घर बैठे हम इंटरनेट की मदद से कोई भी सामान घर मांगा सकते है बिना कही जाये उसे कहते है, ऑनलाइन शॉपिंग। आजकल इंटरनेट पर इतनी ऑनलाइन साइट्स लांच हो गई है, तो आपके पास शॉपिंग के लिए बहुत सारे ऑप्शन है। अब बात हो ऑनलाइन शॉपिंग की हो ही रही है तो हम Business from Consumer (B2C) और Business-to-Business (B2B) शॉपिंग की बात भी करेंगे।

क्या है, यह Business from Consumer (B2C) शॉपिंग ?

अगर आप कोई भी प्रोडक्ट किसी भी साइट पर देख कर आर्डर प्लेस करते है और कंपनी डायरेक्ट आप तक सामान पंहुचा देती है। इसे हम Business to Consumer (B2C) शॉपिंग कहते है।

क्या है, यह Business-to-Business (B2B) शॉपिंग ?

अगर हम बात करे Business to Business (B2B) शॉपिंग की तब हमे थोड़ा डिटेल में जानना होगा। होता यह है कि जब भी कोई ऑनलाइन साइट लांच की जाती है, तो उसे अन्य Business से जोड़ा जाता है। जिससे सामान खरीद कर कस्टमर तक पहुंचाया जा सके इसे हम B2B शॉपिंग कहते है। हम इसे ऐसे समझे जब हम किसी साइट पर कोई प्रोडक्ट आर्डर प्लेस करते है तब वह साइट प्रोडक्ट किसी स्टोर से लेकर हम तक पहुँचती है। इस साइट्स का खुद का कोई स्टोर नहीं होता है ये कई स्टोर्स से टाईअप करके रखती है, और जब भी इनके पास कोई आर्डर आता है तब वह उसे वहाँ से कस्टमर तक पहुंचा देती है।

ऑनलाइन शॉपिंग के फायदे :

समय की बचत :

ऑनलाइन शॉपिंग करने का सबसे बड़ा फायदा यह होता है की आपके समय की बचत होती है और आपको ऑनलाइन शॉपिंग करने के लिए कहीं जाने की जरूरत नहीं पड़ती आप घर बैठे ही किसी भी शॉपिंग साइट्स पर अपने पसंद का प्रोडक्ट मंगवा सकते है। इससे आपको कहीं आने जाने में लगने वाला समय बच जाता है साथ ही अगल-अलग दुकानों से जाकर सामान लेने वाले समय की भी बचत होगी।

रोजगार के अवसर :

ऑनलाइन शॉपिंग की प्रोसेस पूरी करने के लिए कई लोगो की आवश्यकता होती है। इन आवश्यकताओं को पूरा करने के बहाने लोगो को रोजगार के अवसर मिलते है। जैसे कि....

  • अगर आपको किसी साईट से जुड़ी कोई जानकारी चाहिये हो या कोई गलत सामान आ जाने पर समस्या का समाधान चाहिए हो, तो कस्टमर तक सही जानकारी पहुंचाने के लिए कस्टमर केयर खोले जाते है।

  • आपका सामान आप तक पहुंचाने के लिए कंपनियां लोगो को अपॉइंट करती है जिन्हे डिलेवरी बॉय भी कहा जाता है।

  • सामान की पेकिंग होना या B2B द्वारा डिलेवरी बॉय तक पहुँचना हर प्रोसेस को पूरा करने के लिए कई लोगो की आवश्यकता होती है। जिससे लोगो को रोजगार के अवसर प्राप्त होते है।

मोल-भाव से छुटकारा :

ऑनलाइन शॉपिंग करने का एक फायदा यह भी होता है की आपको कोई भी प्रोडक्ट उचित दाम पर प्राप्त हो जाता है आपको चार जगह जाकर मोल-भाव करने की जरूरत नहीं पड़ती है।

पैसो की बचत :

ऑनलाइन शॉपिंग करने से समय के साथ पैसे की भी बचत होती है। हमारे आने जाने में लगने वाला खर्चा बचता है। साथ ही अगर किसी हालत में हम लिया हुआ सामान वापस करना चाहते है तो उसे कहीं जाकर नहीं बदलना पड़ता है, ऑनलाइन शॉपिंग से आपका सामान घर बैठे ही बदल जाता है।

आकर्षक ऑफर्स का फायदा :

ऑनलाइन शॉपिंग साइट्स हर दूसरे दिन अपने नए-नए ऑफर्स निकालती ही रहती है, कहीं किसी त्यौहार के अवसर पर तो कभी कोई डिस्काउंट ऑफर्स। जिसके तहत आपको बहुत सारा सामान जैसे स्मार्टफोन, डिजाइनर कपड़े, फूटवेयर्स, इलेक्ट्रिक सामान, किचिन अप्लायंसेस आदि उचित दामों पर मिल जाते है।

ऑनलाइन शॉपिंग करते समय इन बातो का रखे ध्यान:

  • धोखा-धड़ी से बचे- आजकल लगातर बहुत से ऑनलाइन शॉपिंग में फ्रॉड की खबरे सुनने में आ रही है। अगर आप इन फ्रॉड से बचना चाहते है तो, आप केवल किसी भी सामान की फोटो देख कर ही उसका चुनाव न करे उससे जुड़ी हुई सारी जानकारी को पूरी तरह पढ़े और फिर ही आर्डर प्लेस करे।

  • यदि किसी कंडीशन में आपके पास गलत सामान पहुंच भी गया हो, तो आप उसे दी हुई समय सीमा के अंदर ही वापिस कर दे या बदल ले जिससे आपको नुकसान न उठाना पड़े।

  • पेमेंट करते समय अगर आप कैश ऑन डिलेवरी(COD) के अलावा अन्य कोई चुनाव करते है तो आप इस बात का ध्यान रखे की आपकी ट्रांजेक्शन से जुड़ी जानकारी आप किसी को न दे । नहीं तो आपकी जानकारी लीक होने से बहुत बड़ा नुकसान हो सकता है। डेबिट व क्रेडिट कार्ड से भुगतान करते समय अपनी सूचना वेबसाइट पर कभी भी सेव ना करे । आप कोशिश करे कि हमेशा HTTPS (Hyper Text Transfer Protocol Secure) सर्वर पर ही भुगतान करें क्योंकि यह आपके लिए सेफ होता है।

  • एक जैसे नाम वाली नकली कंपनियों से बचे। कई बार नई वेबसाइट आपको अधिक डिस्काउंट और आकर्षक ऑफर्स का लालच देती है। जिससे आप आसानी से उनका निशाना बन जाते है ऐसी कंपनिया कसी भी तरह का फ्रॉड कर सकती है जैसे की आपका डाटा चोरी कर लेना या नकली सामान पंहुचा देना। आप हमेशा कोशिश करे की उन साइट्स का ही चुनाव करे जिनसे आप पूरी तरह फेम्लियर हो । इसके अलावा फ्री ट्रायल अथवा फ्री गिफ्ट के चक्कर में न पड़े।

क्या है सही तरीका ऑनलाइन शॉपिंग का :

  • Step 1: सर्व प्रथम आपको मार्केट में उपलब्ध किसी भी एक शॉपिंग साईट का चुनाव करना होगा।

  • Step 2 : अब आपको उस साइट में अपना अकाउंट बना कर उसमे लॉगिन करना होगा।

  • Step 3 : लॉगिन करने के बाद आप अलग अलग सेगमेंट में जाकर अपने पसंद के प्रोडक्ट का चुनाव कर सकते है।

  • Step 4 : चुनाव करने के बाद आपको सावधानी पूर्वक पेमेंट की प्रक्रिया पूरी करनी पड़ती है। आप पेमेंट के लिए कैश ऑन डिलीवरी(COD) के अलावा ATM, क्रेडिट-डेविट कार्ड, नेट बैंकिंग या अन्य किस वॉलेट का इस्तेमाल भी कर सकते है।

Offline Shopping :

अब हम बात करते है Offline Shopping की। हम सभी हमेशा से ही Offline Shopping करते ही आ रहे है। ऑनलाइन शॉपिंग का क्रेज तो अभी पिछले 15-20 सालों से ही चला है। मार्केट जाकर देखकर छूकर कपडे पसदं करके, भईया और कम करो, इतना नहीं इतना देंगे इस तरह से मौल-भाव करवा कर खरीददारी करना ही Offline Shopping कहलाता है।

Offline Shopping के फायदे :

सामान की पुष्टि एवं ग्राहक की संतुष्टि :

Offline Shopping करने का सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि, हम किसी भी प्रोडक्ट को देख कर, छूकर सामान के सही होने की पुष्टि कर सकते है। इसके अलावा ग्राहक अपने द्वारा ख़रीदे हुए सामन से पूरी तरह से संतुष्ट रहता है।

मन माने दाम :

Offline Shopping करने पर आप अलग-अलग जगह पर जाकर किसी एक प्रोडक्ट की कीमत की जानकारी लेकर उचित एवं मन माने दाम में खरीद सकती है।

कहा से करे ऑफलाइन शॉपिंग:

अब हमारे सामने एक सवाल यह खड़ा होता है कि, कहां से करे Offline Shopping ?? तो हम आपको बताते है कि, आपको पहले ये चुनाव करना होगा कि आपको कौन-सा प्रोडक्ट खरीदना है। आप उस हिसाब से मार्केट का चुनाव कर सकते है। इसके अलावा आज कल शहरों में बड़े-बड़े माल्स बने हुए है। जहां एक से एक ब्रांड उपलब्ध होते है। आप आसानी से वहां जाकर भी शॉपिंग कर सकते है। वैसे तो ऑफलाइन शॉपिंग के समय इस तरह का कोई सवाल उठता ही नहीं हैं। क्योंकि, सबको अपने आसपास के क्षेत्र का आईडिया रहता है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co