OYO ने एक बार फिर कर्मचारियों को दिखाया बाहर का दरवाजा
OYO will lay off EmployeesKavita Singh Rathore -RE

OYO ने एक बार फिर कर्मचारियों को दिखाया बाहर का दरवाजा

कोरोना वायरस के चलते कई सेक्टर को हुए नुकसान के बाद कई कंपनियों की राह चलकर रूम उपलब्ध कराने वाली कंपनी OYO ने अपनी कंपनी से छंटनी करने का फैसला लिया है।

राज एक्सप्रेस। कोरोना वायरस के चलते कई सेक्टर का हाल तो मानो ऐसा हो गया है, जैसे उनकी रीढ़ की हड्डी ही टूट गई हो। इन हालातों के चलते इन सेक्टर्स को काफी नुकसान का सामना करना पड़ रहा है। इन सेक्टर्स में होटल, रेस्टोरेंट्स, टूर एंड ट्रैवल एजेंसी और रूम की सुविधा प्रदान करने वाली कंपनियां भी शामिल हैं। इसी के चलते रूम उपलब्ध कराने वाली कंपनी OYO ने अपनी कंपनी से छंटनी करने का फैसला लिया है।

OYO करेगी कर्मचारियों की छंटनी :

कोरोनावायरस के चलते भारत में हुए लॉकडाउन के तहत कंपनी को काफी नुकसान का सामना करना पड़ा था। जिसके चलते नुकसान का सामना कर रही रूम सर्विस प्रोवाइडर कंपनी OYO ने अपने लगभग 600-800 कर्मचारियों की छंटनी करने का फैसला किया हैं। हालांकि, ये पहला मौका नहीं है जब कंपनी छंटनी करने जा रही है। इस साल में अब तक कंपनी कई बार अपने कर्मचारियों को बाहर का दरवाजा दिखा चुकी है। कंपनी ने यह फैसला लागत को कम करने के उद्देश्य से लिया है।

रिनोवेशन और संचालन डिपार्टमेंट के लोगों की हुई छंटनी :

बताते चलें, OYO कंपनी द्वारा जिन कर्मचारियों की छंटनी की जा रही है। उनमें से ज्यादातर स्टाफ रिनोवेशन और संचालन डिपार्टमेंट से जुड़े हैं। खबरों की मानें तो, कंपनी की योजना इन डिवीजनों को बंद करने और मुख्य रूप से पार्टनर होटलों के साथ रेवेन्यू शेयरिंग मॉडल पर ध्यान केंद्रित करने की है। बता दें, कंपनी ने इससे पहले इसी साल मार्च में अपने 5,000 कर्मचारियों को नौकरी से निकाला था।

होटल मालिक होंगे संचालन के लिए जिम्मेदार :

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार, कंपनी होटल के पार्टनर्स को उनकी सम्पत्ति से मिलने वाले सभी रेवेन्यू पर एक भाग वसूलेगी। इससे स्टाफ को न्यूनतम सैलरी देने और प्रॉपर्टी को मेंटेन करने में सहायता मिलेगी। कंपनी ने फैसला लेते हुए कहा है कि 'अब से होटल के मालिक संचालन के लिए जिम्मेदार होंगे, ऐसे में होटल की मार्केटिंग की जिम्मेदारी ओयो संभालेगा। इसमें नियमित मुआवजा, नोटिस पे और लीव इनकैश शामिल है, कंपनी इन कर्मचारियों को जून में नकद लाभ के एवज में 25% अन्वेस्टेड डीप डिस्काउंट वाले ईएसओपी को आत्मसमर्पण करने का विकल्प भी दे रही है। यह नकद राशि उनके मार्च 2020 के निर्धारित वेतन के 25% के बराबर हो सकती है।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co