Raj Express
www.rajexpress.co
P. Chidambaram Expressed Concern on economic growth Rate
P. Chidambaram Expressed Concern on economic growth Rate |Kavita Singh Rathore -RE
व्यापार

पी. चिदंबरम ने जेल से ही जताई आर्थिक विकास दर को लेकर चिंता

पी. चिदंबरम को जेल में बैठ कर भी आर्थिक विकास दर की चिंता सता रही है, जिसके चलते उन्होंने जेल से ही अपने परिजनों की मदद से उनके ट्वीटर पर आर्थिक विकास को लेकर मोदी सरकार के खिलाफ बयान दिया।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

हाइलाइट्स :

  • पी. चिदंबरम को जेल में हो गए लगभग 90 दिन

  • जेल से ही जताई आर्थिक विकास दर को लेकर चिंता

  • मोदी सरकार के खिलाफ चिदंबरम ने दिया बयान

  • दूसरी तिमाही में GDP में आई गिरावट

राज एक्सप्रेस। INX मीडिया मामले के मुख्य आरोपी पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम को जेल में लगभग 90 दिन हो गए हैं। उन्हें वहां बैठ कर अपनी बेल की चिंता होनी चाहिए और इस बात पर विचार करना चाहिए कि, जेल से कैसे निकला जाये, लेकिन उन्हें तो जेल में बैठ कर भी आर्थिक विकास की चिंता सता रही है। उन्होंने जेल से ही आर्थिक विकास दर में दर्ज की गई गिरावट को लेकर चिंता जताई और सरकार के खिलाफ अपना बयान दिया।

पी. चिदंबरम का बयान :

शनिवार को पी. चिदंबरम ने जेल से ही आर्थिक विकास दर को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि, झारखंड के लोगों भाजपा सरकार की नीतियों को खारिज कर देना चाहिए। बताते चलें कि, आज झारखंड में विधानसभा चुनाव की 13 सीटों पर पहले चरण के लिए मतदान किया जा रहा है। चिदंबरम की तरफ से उनके परिजनों ने चिदंबरम के सोशल मीडिया प्लटफॉर्म ट्वीटर पर ट्वीट कर कहा -

"मैंने अपने परिवार को मेरी ओर से ट्वीट करने को कहा है : जैसा कि व्यापक रूप से भविष्यवाणी की गई थी, दूसरी तिमाही में जीडीपी ग्रोथ रेट 4.5% रही है। फिर भी सरकार कहती है "ऑल इज वेल"। "तीसरी तिमाही में भी ग्रोथ रेट 4.5% से अधिक नहीं होगी। साथ ही अन्य संभावनाएं भी बदतर हैं।"

पी. चिदंबरम

भाजपा के खिलाफ करें वोट :

पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने झारखंड के लोगों को सलाह दी है कि, उन्हें भाजपा के खिलाफ वोट देना चाहिये, इतना ही नहीं झारखंड के लोगों को भाजपा सरकार की नीतियों और शासन के मॉडल को भी खारिज कर देना चाहिए। उन्होंने कहा कि, "झारखंड के लोगों को ऐसा करने के लिए यह पहला मौका मिला है।" जानकारी के लिए बता दें कि, देश के मेनिफेक्टरिंग सेक्टर में गिरावट और कृषि क्षेत्र में पिछले साल की तुलना में गिरावट दर्ज की गई है और चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में GDP में भी गिरावट आई यह केबल 4.5% ही रह गयी है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।