फ्रांस में एफिल टॉवर से शुरू हुआ यूपीआई के जरिए भुगतान, भारतीय अब रुपए में कर सकेंगे भुगतान

फ्रांस में भी अब यूपीआई से पेमेंट किए जा सकेंगे। एनआईपीएल ने लायरा के साथ मिलकर फ्रांस में यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (यूपीआई) लॉन्च किया है।
Eiffel Tower
Eiffel TowerRaj Express

हाईलाइट्स

  • फ्रांस में भी अब यूपीआई के माध्यम से रुपए में किए जा सकेंगे भुगतान

  • यूपीआर्ई भुगतान सेवा की शुरुआत फ्रांस के एफिल टावर से की गई है

  • एफिल टावर देखने जाने वाले पर्यटकों में भारतीयों का दूसरा स्थान

राज एक्सप्रेस। फ्रांस में भी अब यूपीआई के माध्यम से पेमेंट किए जा सकेंगे। एनपीसीआई इंटरनेशनल पेमेंट्स लिमिटेड (एनआईपीएल) ने लायरा के साथ हाथ मिलकर फ्रांस में यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (यूपीआई) लॉन्च किया है। इसकी शुरुआत फ्रांस के एफिल टावर से की गई है। भारतीय पर्यटकों के लिए अब यहां से अपने यूपीआई से जुड़े ऐप के जरिए विभिन्न भुगतान कर सकेंगे। एफिल टावर भारतीयों के लिए फ्रांस मे्ं सबसे आकर्षक डेस्टिनेशन है। दुनिया भर से इसे देखने के फ्रांस जाने वालों में सबसे अधिक पर्यटकों में भारतीयों का दूसरा स्थान है। नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) के मुताबिक इस करार के तहत भारतीय पर्यटक मर्चेंट वेबसाइट पर क्यूआर कोड को अपने यूपीआई ऐप के जरिए स्कैन कर भुगतान कर सकेंगे।

दो साल से हो रहा था इस योजना पर काम

फ्रांस में यूपीआई के जरिए पेमेंट शुरू करने के लिए एनपीसीआई ने करीब दो साल पहले वर्ष 2022 में फ्रांस की लायरा के साथ एक सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए थे। आपको याद होगा पिछले साल पीएम नरेंद्र मोदी ने यूपीआई मैकेनिज्म के इस्तेमाल को लेकर भारत और फ्रांस के बीच समझौते का ऐलान किया था। इतने दिन की मेहनत के बाद फ्रांस में एफिल टावर से यूपीआई भुगतान की शुरुआत हो चुकी है।

फ्रांस में तेजी से बढ़ रहा यूपीआई का दायरा

फ्रांस में अब यूपीआई पेमेंट्स शुरू होने से सबसे ज्यादा भारतीय पर्यटकों को ही फायदा होने वाला है। वे अब रुपये में भुगतान कर सकेंगे। क्रेडिट और डेबिट कार्ड से इंटरनेशनल पेमेंट्स पर 0.99 से 3.5 फीसदी का मार्कअप चार्जेज लगता है। यूपीआई से पेमेंट करने पर इन चार्जेज से मुक्ति मिल सकती है। मार्कअप फीस उन शुल्कों को कहते हैं, जिसे बैंक और क्रेडिट कार्ड कंपनियां फॉरेन करेंसी में लेन-देन पर वसूलती हैं। भारत मे्ं यूपीआई का दायरा तेजी से विस्तार ले रहा है। इसके 38 करोड़ से अधिक यूजर्स हैं। पिछले महीने जनवरी 2024 में ही इसके जरिए 1220 करोड़ से अधिक ट्रांजैक्शंस किए गए हैं।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co