नियामक कार्रवाई पर बातचीत के लिए आरबीआई के अफसरों से मिले पेटीएम के सीईओ विजय शेखर शर्मा

पेटीएम के सीईओ विजय शेखर शर्मा ने नियामक कार्रवाई पर चर्चा के लिए आज आरबीआई के अफसरों से मुलाकात की। खबर है कि इस बातचीत का कोई हल नहीं निकल सका है।
Vijay Shekar Sharma
Vijay Shekar SharmaRaj Express

हाईलाइट्स

  • पेटीएम के खिलाफ नियामक कार्रवाई पर पुनर्विचार का आग्रह किया

  • शर्मा 29 फरवरी को कामकाज पर रोक की समय सीमा बढ़ाने को कहा

  • बताया जाता है बैठक में रोक आगे बढ़ाने का फैसला नहीं हो सका

राज एक्सप्रेस । पेटीएम के सीईओ विजय शेखर शर्मा ने नियामक कार्रवाई पर चर्चा के लिए आज आरबीआई अफसरों से मुलाकात की। बता दें कि इससे पहले, संस्थापकों के एक समूह ने आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को पत्र लिखकर पेटीएम पेमेंट्स बैंक के खिलाफ नियामक कार्रवाई पर पुनर्विचार और समीक्षा करने का आग्रह किया गया था। एक मीडिया रिपोर्ट में बताया गया है कि विजय शेखर शर्मा और पेटीएम के अन्य अधिकारियों ने केंद्रीय बैंक द्वारा चिह्नित नियामक चिंताओं को दूर करने के लिए एक रोडमैप पर चर्चा करने के लिए सोमवार को आरबीआई के अफसरों से मुलाकात की।

बैठक में नहीं निकल सका कोई समाधान

इस बैठक में पेटीएम ने 29 फरवरी को कामकाज पर रोक लगने वाली समय सीमा को बढ़ाने के लिए कहा। बताया जाता है कि विजय शेखर शर्मा और आरबीआई के बीच बैठक में कोई समाधान या आगे बढ़ने का फैसला नहीं हो सका। इसके साथ ही खबर है कि नियामक ने बैठक के दौरान कोई सुधारात्मक उपाय नहीं बताया। मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि कंपनी ने वॉलेट व्यवसाय और फास्टैग के लिए लाइसेंस के हस्तांतरण के संबंध में आरबीआई से स्पष्टता भी मांगी है।

RBI गवर्नर व वित्तमंत्री से भी किया था आग्रह

यह उन रिपोर्टों के बाद आया है कि संस्थापकों के एक समूह ने आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को पत्र लिखकर पेटीएम पेमेंट्स बैंक के खिलाफ नियामक कार्रवाई पर पुनर्विचार और समीक्षा करने का आग्रह किया था। उन्होंने आरबीआई से भुगतान बैंक, फिनटेक पारिस्थितिकी तंत्र और व्यापक अर्थव्यवस्था पर संभावित प्रभाव को देखते हुए पेटीएम पर प्रतिबंधों की आनुपातिकता का पुनर्मूल्यांकन करने के लिए कहा था। उन्होंने कमियों को दूर करने और इसके अनुपालन को प्रदर्शित करने के लिए पेटीएम के लिए एक विंडो का भी आग्रह किया।

नियमों केउल्लंघन पर आरबीआई ने की कार्रवाई

उल्लेखनीय है कि आरबीआई ने नियमों के गैर-अनुपालन और पर्यवेक्षी चिंताओं की वजह से पेटीएम पेमेंट्स बैंक के खिलाफ नियामक कार्रवाई का आदेश दिया है। इसने भुगतान बैंक से ग्राहक खातों, वॉलेट, फास्टैग, प्रीपेड उपकरणों, एनसीएमसी कार्डों में जमा, लेनदेन, प्रीपेड उपकरणों और टॉप-अप को रोकने के लिए कहा। पेटीएम उपयोगकर्ताओं को बिना किसी प्रतिबंध के अपने खाते से शेष राशि निकालने या उपयोग करने की अनुमति दी गई है। इस बीच, पेटीएम ने भी स्पष्टीकरण जारी करते हुए कहा कि कंपनी या विजय शेखर शर्मा पर कोई ईडी जांच नहीं शुरू की गई है।

पेटीएम वॉलेट के लिए मुकेश अंबानी से नहीं हुई बात

पेटीएम ने अपने बयान में कहा कि फेमा उल्लंघन के लिए भी उनकी जांच नहीं की जा रही है। यह भी स्पष्ट किया गया है कि पेटीएम वॉलेट के अधिग्रहण के लिए जियो फाइनेंशियल सर्विसेज के लिए मुकेश अंबानी के साथ कोई बातचीत नहीं की गई है, जैसा कि कुछ नई साइटों में बताया गया था। स्पष्टीकरण के बाद, पेटीएम के शेयरों में पांच सत्रों के बाद पहली बार बढ़त देखने को मिली है। बीएसई पर पेटीएम के शेयर 7.19 प्रतिशत बढ़ोतरी के साथ 438.35 रुपये के उच्चतम स्तर पर पहुंच गए हैं। स्टॉक अपने दिन के निचले स्तर 395.50 रुपये से 18.81 प्रतिशत ऊपर था।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co