ओएनडीसी से जुड़े स्टार्टअप बिटसिला को खरीदने के लिए Paytm ने शुरू की चर्चा, जल्द हो सकती है डील

आरबीआई और वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण से मुलाकात से उत्साहित पेटीएम के प्रमोट्रस ने ई-कॉमर्स स्टार्टअप बिटसिला को खरीदने के लिए बातचीत शुरू की है।
Paytm Founder Vijay Shekhar Sharma
Paytm Founder Vijay Shekhar SharmaRaj Express

हाईलाइट्स

  • ओपन नेटवर्क फॉर डिजिटल कॉमर्स (ओएनडीसी) स्टार्टअप है बिटसिला

  • जल्द हो सकती है डील, इससे पेटीएम को ओएनडीसी मार्केट का मिलेगा सर्पोट

  • पेटीएम ई-कॉमर्स ने अपना नाम बदलकर पीएआई प्लेटफॉर्म कर लिया है

राज एक्सप्रेस। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) और वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण से मुलाकात से उत्साहित पेटीएम के प्रमोटर्स ने ई-कॉमर्स स्टार्टअप बिटसिला को खरीदने के लिए बातचीत शुरू की है। बताया जाता है कि पेटीएम और बिटसिला के बीच यह करार अब अंतिम चरण में पहुंच गया है। बेंगलुरु स्थित बिटसिला, ओपन नेटवर्क फॉर डिजिटल कॉमर्स (ओएनडीसी) स्टार्टअप है। पेटीएम ई-कॉमर्स ने अपना नाम बदलकर पीएआई प्लेटफॉर्म कर लिया है। पेटीएम ई-कॉमर्स ने अपना नाम बदलकर पीएआई प्लेटफॉर्म कर लिया है। कंपनी ने लगभग तीन महीने पहले अपना नाम बदलने करने के लिए आवेदन किया था और 8 फरवरी को रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज ने उसके आवेदन को मंजूरी दे दी है।

पेटीएम ई-कॉमर्स का नाम अब पीएआई प्लेटफॉर्म्स

रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज ने अपने नोटिफिकेशन में बताया है सर्टिफिकेट की तारीख से कंपनी का नाम पेटीएम ई-कॉमर्स प्राइवेट लिमिटेड से बदलकर पीएआई प्लेटफॉर्म्स प्राइवेट लिमिटेड कर दिया गया है। कंपनी को मूल रूप से पेटीएम ई-कॉमर्स प्राइवेट लिमिटेड के नाम से शामिल किया गया था। सेलर-साइड ऐप के रूप में ओएनडीसी में इस स्टार्टअप की भूमिका बी2बी (बिजनेस टु बिजनेस) है, क्योंकि यह छोटे व्यापारियों को नेटवर्क से जोड़ने में मदद करता है। 2020 में दशरथम बिटला और सूर्या पोक्कली ने बिटसिला को शुरू किया था। बिटसिला की खरीद के साथ पेटीएम की नेटवर्क में सेलर-साइड पर भी पहुंच जाएगी।

ओएनडीसी पर मजबूत हो जाएगी ओएनडीसी की पकड़

इसके साथ ही ओएनडीसी पर इसकी पकड़ और मजबूत हो जाएगी। यह प्लेटफार्म ग्राहक और विक्रेता दोनों को सीधे मिलाने का काम करता है। बता दें कि ओएनडीसी एक गैर लाभकारी संगठन है। एसबीआई, एचडीएफसी जैसे कई बैंक इसके शेयर होल्डर हैं। ओएनडीसी पर ऑल ओवर इंडिया 35 हजार से ज्यादा सेलर हैं। इसमें 38 लाख से ज्यादा सामान बेचने के लिए मौजूद हैं। आप कैटेगरी को देखकर अपनी जरूरत का सामान ऑर्डर कर सकते हैं। ओएनडीसी के माध्यम से खाना ऑर्डर करने पर बहुत सस्ती दर पर खाना या अन्य सामान उपलब्ध कराया जा सकता है।

बेहद कम कमीशन पर काम करता है ओएनडीसी

इसे डिपार्टमेंट फॉर प्रमोशन ऑफ इंडस्ट्री एंड इंटर्नल ट्रेड (डीपीआईआईटी) ने तैयार किया है। जहां स्विगी-जोमैटो जैसे फूड एग्रीगेटर्स 25-30% कमीशन लेते हैं, वहीं ओएनडीसी केवल 3 से 5 फीसदी ही चार्ज करता है। इसलिए इससे कुछ भी ऑर्डर करना 27 फीसदी तक सस्ता पड़ता है। अगर आप दुकानदार हैं और इस प्लेटफॉर्म पर अपना सामान बेचना चाहते हैं, तो ओएनडीसी वेबसाइट पर जाइए और सेलर के रूप में अपना अकाउंट क्रिएट कीजिए। उसके बाद जिस कैटेगरी में बिजनेस किया जाता है, उसे सेलेक्ट कीजिए । इसके बाद सेलर के पास जो भी प्रोडक्ट हैं, उसे इस प्लेटफार्म पर दर्ज कर दीजिए। इसके साथ ही यहां से आपका आर्डर प्रासेस शुरू हो जाएगा।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co