Petrol-Diesel prices increased in india
Petrol-Diesel prices increased in india|Kavita Singh Rathore -RE
व्यापार

क्यों भारत में पेट्रोल-डीजल की कीमतें घटी नहीं बल्कि बढ़ गईं

रंगपंचमी पर भारतीय वाहन चालकों को लगा झटका, क्योंकि भारत में पेट्रोल-डीजल की कीमतें घटने की जगह बढ़ गईं हैं। जबकि हाल ही में सऊदी अरब ने 'ऑयल प्राइस वॉर' का ऐलान किया था। जिससे कच्चे तेल के दाम गिरे थे

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

हाइलाइट्स :

  • रंगपंचमी पर भारतीय वाहन चालकों को लगा झटका

  • पेट्रोल- डीजल की कीमतें घटने की जगह बड़ी

  • सऊदी अरब ने हाल ही में किया था 'ऑयल प्राइस वॉर' का ऐलान

  • कच्चे तेल की कीमतों में दर्ज की गई थी भरी गिरावट

  • पेट्रोल-डीजल की कीमतें बढ़ने के होते है दो मुख्य कारण

राज एक्सप्रेस। कुछ दिनों पहले दुनिया के प्रमुख तेल उत्पादक देशों के बीच उत्पादन में कटौती को लेकर सहमति न बनने के कारण सऊदी अरब ने 'ऑयल प्राइस वॉर' का ऐलान कर दिया था। सऊदी अरब द्वारा छेड़ी गई इस प्राइस वॉर की वजह से कच्चे तेल के दामों में जमकर गिरावट आई थी। दर्ज की गई इस गिरावट से भारत में पेट्रोल डीजल की कीमतें घटने की उम्मीद लगाई जा रही थी, लेकिन यह क्या? भारत में तो पेट्रोल-डीजल की कीमतें अब घटने की जगह और भी अधिक बढ़ती हुई नजर आ रही हैं।

भारत में बढ़ गई एक्साइज ड्यूटी :

बीते सोमवार तेल उत्पादक देशों के बीच सहमति न बनने के चलते 'ऑयल प्राइस वॉर'का ऐलान हुआ और ब्रेंट क्रूड ऑयल की कीमत लुढ़क कर 31.13 डॉलर प्रति बैरल पर आ पहुंची, जो साल के शुरुआत में 64 डॉलर प्रति बैरल थी। इसके बाद भी भारत में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में तीन रुपये प्रति लीटर के हिसाब से एक्साइज ड्यूटी बढ़ गई है जिसके चलते कीमतें भी बढ़ गईं। आपको बता दें कि, इन तेल उत्पादक देशों में सऊदी अरब, ईरान और रूस शामिल हैं।

क्रूड ऑयल की कीमतें :

क्रूड ऑयल (कच्चा तेल) की कीमत की बात करें तो, अब क्रूड ऑयल की कीमत मिनरल वॉटर से भी निचे आगयी है। जी हां, आपको सुनने में थोड़ा अजीब लग रहा होगा लेकिन यह बिल्कुल सच है। मार्केट में एक लीटर मिनरल वॉटर बोतल की कीमत लगभग 15 से 20 रुपये है और अब एक लीटर क्रूड ऑयल की कीमत लगभग 13 से 14 रुपये हो गई है। आपको बता दें कि, एक बैरल में 159 लीटर क्रूड ऑयल होता है। आपको याद दिला दें कि, साल 2014 के आखिर में इंटरनेशनल मार्केट में क्रूड ऑयल की कीमतों में कई बार गिरावट दर्ज की गई थी।

क्यों बढ़ती हैं पेट्रोल-डीजल की कीमतें ?

हर किसी के दिमाग में यह सवाल जरूर उठता है कि, इंटरनेशनल मार्केट में क्रूड ऑयल की कीमतों में गिरावट दर्ज होने के बाद भी भारत में पेट्रोल-डीजल की कीमतें घटने की जगह बढ़ गई हैं। तो हम आपको बता दें, इसके दो मुख्य कारण हैं,

  • भारत में ही पेट्रोल-डीजल की कीमतों पर लगने वाला टैक्स

  • डॉलर के मुकाबले रुपये की कमजोरी

टैक्स में में क्या-क्या शामिल ?

आपको बता दें कि, भारत में पेट्रोल-डीजल पर लगने वाले टैक्स में एक्साइज ड्यूटी, वैट और डीलर कमीशन की कीमत शामिल रहती हैं।

  • एक्साइज ड्यूटी - 19.98 रुपये

  • वैट - 15.25 रुपये

  • डीलर कमीशन - 3.55 रुपये

नोट : सभी राज्यों में वैट की दर अलग-अलग निर्धारित की जाती है, जो 15 रुपये से लेकर 33-34 रुपये तक होती है और इनके अनुसार ही पेट्रोल-डीजल की कीमतें भी निर्धारित की जाती हैं।

महानगरों में पेट्रोल की कीमतें :

  • दिल्ली में पेट्रोल की कीमतें - 69.87 रुपये प्रति लीटर

  • कोलकाता में पेट्रोल की कीमतें - 72.57 रुपये प्रति लीटर

  • मुंबई में पेट्रोल की कीमतें - 75.57 रुपये प्रति लीटर

  • चेन्नई में में पेट्रोल की कीमतें - 72.57 रुपये प्रति लीटर

महानगरों में डीजल की कीमतें :

  • दिल्ली में डीजल की कीमतें - 62.58 रुपये प्रति लीटर

  • कोलकाता में डीजल की कीमतें - 64.91रुपये प्रति लीटर

  • मुंबई में डीजल की कीमतें - 65.51 रुपये प्रति लीटर

  • चेन्नई में में डीजल की कीमतें - 66.02 रुपये प्रति लीटर

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co