कई देशों में दी गई वैक्सीन Pfizer का असर हो रहा 6 महीनों बाद खत्म
कई देशों में दी गई वैक्सीन Pfizer का असर हो रहा 6 महीनों बाद खत्मSyed Dabeer Hussain - RE

कई देशों में दी गई वैक्सीन Pfizer का असर हो रहा 6 महीनों बाद खत्म

कई देशों में जारी कोरोना कहर के बीच परेशान कर देने वाली एक खबर सामने आई है कि, अमेरिका (USA) सहित कई देशों में दी गई वैक्सीन Pfizer (फाइजर) का असर खत्म हो रहा है।

राज एक्सप्रेस। भारतवासियों के लिए देश में एक नहीं बल्कि दो-दो कोरोना वैक्सीन मौजूद हैं। साथ ही अब तो विदेशों की वैक्सीन भारत में आना शुरू हो चुकी हैं। जहां, कई देशों से ऐसी खबरें सामने आरही है कि, अब जल्द ही बच्चों को भी वैक्सीन देने शुरू की जाएंगी। इसी बीच परेशान कर देने वाली एक खबर सामने आई है कि, अमेरिका (USA) सहित कई देशों में दी गई वैक्सीन Pfizer (फाइजर) का असर खत्म हो रहा है।

Pfizer का असर हो रहा खत्म :

दरअसल, दुनियाभर के देशों में अभी भी कोरोना का कहर जारी है और किसी को इस बात का अंदाजा भी नहीं है कि, यह कब खत्म होगा। ऐसे में फिलहाल सभी देश कोरोना वायरस के खिलाफ जारी इस जंग को वैक्सीन को औजार मान कर लड़ रहे है। इसी भी इस तरह की खबर आना कि, Pfizer वैक्सीन का असर 6 महीनों बाद बड़े स्तर पर कम होता नजर आ रहा है। लोगों की चिंता बढ़ा रहा है। इस मामले में एक स्टडी सामने आई है। जिससे यह बड़ा खुलासा हुआ है। हालांकि, इसी दौरान अमेरिका में बुजुर्गों और कुछ नागरिकों को Pfizer का बूस्टर डोज देने की प्रोसेस जारी है।

Pfizer को लेकर राहत की खबर :

बताते चलें इस मामले में जानकारी एक अख़बार में प्रकाशित हुए डाटा के आधार पर सामने आई है। इस डाटा में बताया गया है कि, 'कोरोना वायरस संक्रमण से बचाने में Pfizer की वैक्सीन का प्रभाव दूसरी डोज दी जाने के बाद 6 महीने होने ही 88% से 47% पर आता नजर आरहा है। हालांकि, इस वैक्सीन को लेकर एक राहत यह भी है कि, Pfizer डेल्टा वेरिएंट के खिलाफ कारगर नजर आरही है। क्योंकि, Pfizer स्पताल में भर्ती होने और मौत के मामले में बेहतर सुरक्षा दे रही है।' शोधकर्ताओं का कहना है कि, 'आंकड़ों में गिरावट का कारण ज्यादा संक्रामक वेरिएंट्स के बजाए कम होती प्रभावकारिता है।'

सीनियर वाइस प्रेसिडेंट ने बताया :

इस रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि, Pfizer और कैसर पर्मानेंट ने पिछले साल दिसंबर 2020 से लेकर अगस्त 2021 के बीच कैसर पर्मानेंट सदर्न कैलिफोर्निया के करीब 34 लाख लोगों के हेल्थ रिकॉर्ड्स की जांच की। इसके बाद Pfizer वैक्सीन्स में चीफ मेडिकल ऑफिसर और सीनियर वाइस प्रेसिडेंट लुई जोडार ने बताया है कि, ‘हमारा वेरिएंट स्पेसिफिक एनालिसिस बताता है कि (Pfizer/BioNTech) वैक्सीन सभी वेरिएंट्स ऑफ कंसर्न के खिलाफ प्रभावी है।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co