PhonePe के भारत शिफ्ट होने पर करना होगा करोड़ो के टैक्स का भुगतान
PhonePe के भारत शिफ्ट होने पर करना होगा करोड़ो के टैक्स का भुगतानSyed Dabeer Hussain - RE

PhonePe के भारत शिफ्ट होने पर करना होगा करोड़ो के टैक्स का भुगतान, Walmart भी चुकाएगा रकम

PhonePe के भारत में शिफ्ट होने और कंपनी की वैल्यूएशन में दर्ज हुई बढ़त के चलते कंपनी को एक बड़ी रकम का टैक्स देना पड़ेगा। इस रकम का भुगतान वॉलमार्ट इंक (Walmart) और PhonePe दोनों को मिलकर करना होगा।

राज एक्सप्रेस। आज भारत में ऑनलाइन पेमेंट और मनी ट्रांसफर करने के लिए कई ऑनलाइन डिजिटल ऐप और वॉलेट इस्तेमाल किए जाते हैं। इन्हीं में से एक डिजिटल पेमेंट वॉलमार्ट फोनपे (PhonePe) भी है। वहीँ, अब PhonePe को लेकर ब्लूमबर्ग की एक ताज़ा रिपोर्ट सामने आई है। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि, PhonePe के भारत में शिफ्ट होने और कंपनी की वैल्यूएशन में दर्ज हुई बढ़त के चलते कंपनी को एक बड़ी रकम का टैक्स देना पड़ेगा। इसके अलावा इस रकम का भुगतान वॉलमार्ट इंक (Walmart) और PhonePe दोनों को मिलकर करना होगा।

PhonePe हुआ भारत शिफ्ट :

दरअसल, दुनिया की सबसे बड़ी रिटेल चेन कंपनी वॉलमार्ट (Walmart) को PhonePe के चलते करोड़ो का फटका पड़ा है। क्योंकि, रिटेल जाएंट Walmart को PhonePe के भारत शिफ्ट होने के कारण भारत में 8,300 करोड़ रुपये के टैक्स का भुगतान करना होगा। ऐसा इसलिए क्योंकि, PhonePe में सबसे बड़ी हिस्सेदारी Walmart की ही है। जो उसे Flipkart के चलते मिली थी। जब Flipkart ने PhonePe को खरीदा था। खबर तो यह भी है कि, Walmart और PhonePe के सभी शेयरधारकों को लगभग 1 अरब डॉलर टैक्स का भुगतान करना होगा।

ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट :

ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट की मानें तो, PhonePe का मुख्यालय अब सिंगापुर से भारत में शिफ्ट हो गया है। जिसके कारण ही इन कंपनियों को यह टैक्स चुकाना पड़ रहा है। PhonePe के भारत शिफ्ट होने और कंपनी की वैल्यूएशन में बढ़त दर्ज होने के चलते यह टैक्स इतना बड़ा हो गया है। वहीँ, अमेरिकी इंवेस्टमेंट फर्म टाइगर ग्लोबल मैनेजमेंट द्वारा भी PhonePe में हिस्सेदारी खरीदी है। जिसके कारण वर्तमान में मौजूद शेयरहोल्डर्स को 8,300 करोड़ रुपये के टैक्स देना होगा। बता दें, PhonePe जनरल अटलांटिक, कतर इंवेस्टमेंट अथॉरिटी सहित कई निवेशकों से फंड जुटाने में जुटी है। इसके लिए प्री-मनी वैल्यूएशन 1200 करोड़ डॉलर का बताया जा रहा है।

Flipkart ने खरीदा था PhonePe को :

गौरतलब है कि, PhonePe को साल 2016 में ई-कॉमर्स कंपनी Flipkart ने खरीदा था। हालांकि, अब दोनों कंपनियां बिल्कुल अलग-अलग हैं। अब इन दोनों कंपनियों की कॉमन बात बस यह रह गई है कि, यह दोनों ही की Walmart की पेरेंट कंपनी है। PhonePe और Flipkart दोनों कंपनियां अलग-अलग 2019 में ही हो गई थी। अब PhonePe एक भारतीय कंपनी ने तब्दील हो चुकी है। Walmart ने पिछले महीने कहा था कि, 'वह भारतीय ई-कॉमर्स दिग्गज कंपनी Flipkart के साथ PhonePe की साझेदारी को समाप्त करेगी।'

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस यूट्यूब चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। यूट्यूब पर @RajExpressHindi के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co