Holi Market
Holi Market|Kavita Singh Rathore -RE
व्यापार

होली पर होता दुकानदारों को फायदा और सेहत को नुकसान

होली के त्यौहार पर मार्केट में बैठे दुकानदारों को तो फायदा होता है, लेकिन मार्केट में बिक रही मिलावट वाली मिटाई और रंग से हमारी सेहत को नुकसान हो सकता है। इसलिए रखें, कुछ विशेष बातों का ध्यान।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

राज एक्‍सप्रेस। वैसे तो हर त्यौहार पर बाजारों में बैठे दुकानदारों को फायदा होता है, लेकिन होली के त्यौहार पर बाजारों में चाइना से आई महंगी-महंगी पिचकारी और रंग-गुलाल बिकते हैं। होली पर जम कर मिठाई खाई जाती है। जिसे कई लोग बाजार से लाते हैं। होली के त्यौहार पर सबसे ज्यादा बिकने वाली वस्तुओं में मिठाई-नमकीन, मावा, घी और रंग-पिचकारी हैं। इस त्यौहार पर सबसे ज्यादा मात्रा में दुकानदारों को इन्ही से फायदा होता है। इसके अलावा भांग बेचने वालो को भी इस दिन काफी फायदा होता है। तो इन्हे खरीदते समय कुछ विशेष बातों का ध्यान रखें।

होली मस्ती का त्‍यौहार :

आज के इस आर्टिकल में हम आपके लिए बेहद ही जरूरी याद रखने योग्य बातें लेकर आए हैं, जो आपकी सेहत के लिए काफी महत्वपूर्ण साबित हो सकती हैं.... यह बात तो आप जानते हैं कि, होली रंगों और मस्‍ती का त्‍यौहार है और इस दिन हम पूरी मस्‍ती में डूब जाते हैं, लेकिन इसके साथ ही आप अपनी सेहत का भी ख्‍याल रखें क्‍योंकि, इस त्‍यौहार पर अगर आप कुछ पकवान और खाने-पीने की चीजों को बाजार से खरीदते हैं तो प्‍लीज आप ऐसा न करें, हम आपकों बाहर या बाजार की चीजों को खाने-पीने के लिए इस लिए मना कर रहें, क्‍योंकि मिलावट का बाजार और वर्तमान में फेल रहा कोरोना वायरस आपकी सेहत के साथ खिलवाड़ कर सकता है और यह लापरवाही बड़ी परेशानी का सबब बन सकती है।

होली पर इन वस्तुओं से बचें :

होली के मौके पर भांग का चलन भी तेजी से चलता है। यदि आप इसे न लेना चाहते हैं तो, भांग मिली वस्तुओं से बचें। इसके अलावा होली पर मिठाईयों और नमकीन पकवानों का दौर भी खूब चलता है, तो आइये हम आपकों यहां बता देते हैं कि, आप बाहर की किन 5 चीजों से दूर रहें, तो आपकी सेहत पर बुरा असर नहीं पड़ेगा।

यह हैं वह 5 चीजें-

  • मिठाई

  • मावा

  • नकली घी

  • बाजार का नमकीन

  • रंग

मिठाई :

त्यौहार के वक्त ज्यातर लोग घर पर मिठाई बनाने से ज्यादा उचित बहार से मिठाई खरीद कर लाना समझते हैं। तो, हम आपको बता दें कि, त्यौहार के समय बाजारों में बिकने वाली लगभग 60% मिठाई मिलावट वाली होती हैं और नकली दूध-मावा से बनी होती हैं। यह मिठाइयां आपको बुरी तरह बीमार कर सकती हैं। इन मिठाईयों में रंग से लेकर स्वाद तक सभी कुछ नकली होता है, यहां तक कि इसे बनाने में जिन चीजों का उपयोग किया जाता है वो भी मिलावटी होता है। अगर आप इससे होने वाले नुकसान से बचना चाहते हैं तो घर की बनी मिठाईयों का प्रयोग करें। जो, शुद्ध होंगी और आपको नुकसान भी नहीं करेंगी।

मावा - पनीर :

त्यौहारों पर बहुत से लोग घर पर ही मिठाई बनाते हैं। तो हम आपको बता दें, अधिकतर मिठाईया जो मावे की ही बनती हैं उसके लिए आप मावा खुद घर पर बना लें और मावा बाजार से न खरीदें, क्योंकि, यह भी मिलावट वाला और नकली हो सकता है। आपकों ध्यान रखना होगा कि, आप मावा-पनीर खरीदने से पहले उसकी अच्छी तरह से जांच-परख जरूर कर लें, क्योंकि नकली मावा-पनीर आपकी सेहत पर असर डाल सकता है। मावे में कास्टिक सोडे से लेकर, मिलावटी खाद्य पदार्थ तक का उपयोग किया जा सकता है जो आपकी आंतों से लेकर पाचन तंत्र और अन्य अंगों को प्रभावित कर सकता है।

नकली घी :

अब हम आपकों यहां घी के बारे में भी बता दें कि, अगर आप त्यौहारी सीजन में बाजार से घी लाकर मिठाई बना रहे हैं, तो यहां भी आपको सतर्क रहना होगा। घी खरीदने से पहले उसे अच्छी तरह से जांच परख लें, क्योंकि असली और देसी घी देने का दावा करने वाले कई उत्पादक, घी बनाने में जानवरों की चर्बी तक का प्रयोग करते हैं।

बाजार का नमकीन :

त्यौहार के सीजन में मीठा कम पसंद करने वाले लोग नाश्ते में नमकीन का इस्तेमाल करते हैं। कई लोग बाजार से नमकीन का पैकेट या सेव जैसे खाद्य पदार्थ लेने के बारे में सोच लेते हैं, तो रूक जाइए, इस नमकीन से आपको उल्टी-दस्त जैसी बीमारियां हो सकती हैं। त्यौहार के समय इसे खस्ता और कुरकुरा बनाने के लिए कुछ डिटर्जेंट और अन्य हानिकारक पदार्थों को मिलाया जाता है और किस तेल में इसे तला जाता है, उसका आप और हमें किसी को अता पता नहीं है, लेकिन आप इस गलतफहमी में मत रहें कि, स्वाद अच्छा है तो यह अच्छे ही होंगे। यह आपके स्वास्थ्य के लिए बेहद हानिकारक भी हो सकते हैं।

रंग :

जैसा कि, सबको पता है होली एक रंगों का त्यौहार है इस त्यौहार की सबसे खास बात ही रंग है। अक्सर होली की मस्ती में हम इस बात का ध्यान ही नहीं रखते हैं कि, इन रंगो से हमे नुकसान भी पहुंच सकता है। होली के रंग देख कर ख़रीदें क्योंकि, इन्हें कई तरह के केमिकल से तैयार किया जाता है कोशिश करें कि, सूखे रंगों (गुलाल) का इस्तेमाल करें और ठंडाई और खाने के पकवानों को इन रंगों से दूर रखे। यह सभी आपको नुकसान पंहुचा सकते हैं। इसके साथ ही आप होली खेलने से पहले आपकी स्किन और बालों को इन केमिकल वाले रंगों से बचायें। अगर आप चाहें तो, हमारे द्वारा ही बताई गई कुछ टिप्स को फॉलो कर सकते हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co