पाकिस्तान के PUBG और TikTok लवर्स के लिए दुःख की खबर
Pubg Ban in PakistanKavita Singh Rathore -RE

पाकिस्तान के PUBG और TikTok लवर्स के लिए दुःख की खबर

अब पाकिस्तान के यूजर्स PUBG गेम नहीं खेल पाएंगे। क्योंकि पाक की इमरान खान सरकार ने पाक में PUBG बैन करने जैसा बड़ा फैसला ले लिया है। हालांकि, इस बैन को हटाने की मांग भी पाक में होने लगी है।

PUBG Ban: आज दुनियाभर में सबसे ज्यादा ऑनलाइन मल्टीप्लेयर खेला जाने वाला गेम PUBG (पबजी) बन चुका है। यह गेम लगभग सभी देशों में खेला जाता है, लेकिन अब पाकिस्तान के यूजर्स PUBG गेम नहीं खेल पाएंगे। क्योंकि पाक की इमरान खान सरकार ने पाक में PUBG बैन करने जैसा बड़ा फैसला ले लिया है। हालांकि, इस बैन को हटाने की मांग भी पाक में होने लगी है।

क्यों किया बैन :

दरअसल, पाक सरकार का मानना है कि, PUBG गेम इस्लाम धर्म के विरुद्ध है। क्योंकि इस गेम को खेलने पर युवाओं को लत लग जाती है और वह इन्हें बार-बार खेलते हैं। इतना ही नहीं इस गेम के कारण युवाओं के शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को भी नुकसान होता है। इतना ही नहीं, पाकिस्तान टेलीकम्यूनिकेशन अथॉरिटी के मुताबिक, पाक में पबजी खेलने वाले युवाओं पर एक मानसिक दबाव बना रहता है। इसके कारण युवाओं में आत्महत्या की घटनाओं में भी बढ़ोतरी दर्ज की गई है।

इस्लाम विरोधी दृश्य :

बताते चलें, पाकिस्तान की सरकारी एजेंसी के मुताबिक PUBG गेम खलने के दौरान कई ऐसे दृश्य भी सामने आते हैं जो कि ,इस्लाम विरोधी माने जाते हैं। एजेंसी ने यही दलील इस्लामाबाद हाईकोर्ट में सुनवाई के दौरान पेश करते हुए कहा कि, इन्हीं कारणों को देखते हुए सरकार पाकिस्तान में PUBG गेम को खेलने की इजाजत नहीं दे सकती है। वहीं दूसरी तरफ ऐसा माना जा रहा है कि, इस बैन का असर प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी तहरीक ए इंसाफ पाकिस्तान को चुनावों पर पड़ सकता है। उन्हें इन चुनावों में नुकसान भी उठाना पड़ सकता है। क्योंकि, पाक में भी युवाओं के बीच यह गेम काफी लोकप्रिय है।

अगला नंबर TikTok का :

पाकिस्तान में PUBG गेम पर बैन लगाने के बाद अब अगला नंबर चीन की लोकप्रिय शार्ट विडियो मेकिंग ऐप TikTok का हो सकता है क्योंकि, पाक में TikTok को बैन करने के लिए भी याचिका दायर कर दी गई है। हाल ही में भारत सुरक्षा संबंधी कारणों के चलते TikTok को बैन किया गया था। हालांकि, पाकिस्तान में सुरक्षा कारण न बताते हुए धार्मिक कारण बताया है। दायर की गई याचिका के मुताबिक, TikTok के द्वारा सोशल मीडिया पर इस्लाम विरोधी कंटेंट शेयर किए जा रहे हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.