पंजाब: किसान आंदोलन के चलते रेलवे को रद्द करनी पड़ी कई ट्रेनें

पंजाब में किसान आंदोलन के चलते रेलवे को हजारों यात्री ट्रेनें और हजारों मालगाड़ियां रद्द करनी पड़ीं और इन ट्रेनों के रद्द होने से रेलवे को 1,670 करोड़ का नुकसान भी उठाना पड़ा है।
पंजाब: किसान आंदोलन के चलते रेलवे को रद्द करनी पड़ी कई ट्रेनें
Railway cancelled trains due to Farmer Movement in PunjabSyed Dabeer Hussain - RE

पंजाब। हाल ही में केंद्र सरकार द्वारा किसानों के हितों के संरक्षण के लिए किसान बिल पेश किया गया था जिसका विरोध देश के कई राज्यों में जम कर हो रहा था। इन्हीं राज्यों में पंजाब भी शामिल है। पंजाब में इस बिल के विरोध में किसान आंदोलन चलाया जा रहा है। यह आंदोलन बीते 50 दिन से जारी है। इसी आंदोलन के चलते ही रेलवे को हजारों यात्री ट्रेनें और हजारों मालगाड़ियां रद्द करनी पड़ीं और इन मालगाड़ियों के रद्द होने से रेलवे को 1,670 करोड़ का नुकसान भी उठाना पड़ा है।

किसान आंदोलन के चलते ट्रेनें रद्द :

दरअसल, रेलवे को पंजाब में पिछले 50 दिनों से लगातार चलाए जा रहे किसान आंदोलन के चलते 1,986 यात्री ट्रेनें और 3,090 मालगाड़ियां रद्द करनी पड़ीं। इस आंदोलन में शामिल प्रदर्शनों के कारण रेलवे को हर दिन मालभाड़े में लगभग 36 करोड़ रूपये का नुकसान उठाना पड़ रहा है और अब तक रेलवे 1,670 करोड़ का नुकसान उठा चुका है। खबरों के अनुसार, फिलहाल यहां ट्रेन सेवाएं अभी कुछ समय के लिए और निलंबित रहेंगी। हालांकि, सिर्फ मालगाड़ियों को चलाने के लिए प्रदर्शनकारियों के प्रस्ताव को रेलवे ने सिरे से ठुकरा दिया है।

मालभाड़े में भारी नुकसान :

बताते चलें, इस आंदोलन के चलते 1 अक्तूबर से 15 नवंबर के बीच मालभाड़े में भारी नुकसान हुआ है। क्योंकि कुछ जरूरी वस्तुओं को लेकर जम्मू-कश्मीर और लद्दाख जाने वाली कई मालगाड़ियां पंजाब के बाहरी इलाकों में फंसी खड़ी हैं। कोयले की 520 रैकों की पंजाब के पांच बिजली संयंत्रों को आपूर्ति की जानी थी, मगर ट्रेनें फंसी होने के चलते 550 करोड़ रुपये का नुकसान उठाना पड़ा।

अन्य मालगाड़ियों से हुआ नुकसान :

बताते चलें, इनके अलावा जितनी भी मालगाड़ियां रद्द की गई उनके चलते निम्लिखित नुकसान हुआ है।

  • स्टील की 110 रैक के चलते 120 करोड़ का नुकसान (अनुमानित)

  • सीमेंट की 170 रैक के चलते 100 करोड़ का नुकसान (अनुमानित)

  • राख की 90 रैक के चलते 35 करोड़ का नुकसान

  • अनाज की 1,150 रैक के चलते 550 करोड़ का नुकसान

  • खाद की 270 रैक के चलते 140 करोड़ का नुकसान

  • पेट्रोलियम की 110 रैक के चलते 40 करोड़ का नुकसान

  • अन्य जरूरी वस्तुओं के चलते लगभग 600 कंटेनरों से भरी ट्रेनों को रद्द होने से 120 करोड़ रुपये का नुकसान

  • 70 और मालगाड़ियों के रद्द होने से 15 करोड़ का नुकसान

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co