Railways to charge for special trains 30% more
Railways to charge for special trains 30% more |Syed Dabeer Hussain - RE
व्यापार

रेलवे वसूलेगा स्पेशल ट्रेनों के लिए मेल-एक्सप्रेस से भी 30% ज्यादा किराया

त्योहारों को मद्देनजर रखते हुए लिमिटेड समय के लिए चलाई जा रही ट्रेनों के लिए रेलवे द्वारा यात्रियों से अन्य ट्रेनों और एक्सप्रेस ट्रेनों की तुलना में अधिक किराया वसूला जाएगा।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

राज एक्सप्रेस। भारत में तेजी से बढ़ रहे कोरोना प्रकोप के बीच त्योहारी सीजन को ध्यान में रखते हुए रेलवे बोर्ड द्वारा देश में अन्य 196 जोड़ी स्पेशल ट्रेनों का संचालन शुरू करने की घोषणा की गई है। हालांकि, ये ट्रेनें दुर्गापूजा, दशहरा, दिवाली और छठ के त्योहारों को मद्देनजर रखते हुए लिमिटेड समय के लिए चलाई जाएंगी। इन ट्रेनों के लिए रेलवे द्वारा अन्य ट्रेनों और एक्सप्रेस ट्रेनों की तुलना में अधिक किराया वसूला जाएगा।

196 जोड़ी स्पेशल ट्रेनों का संचालन :

दरअसल, रेलवे ने देश में कई अन्य ट्रेनें भी चलाने का ऐलान किया है। इन नई स्पेशल ट्रेनों के तहत कुल 392 (196 जोड़ी) ट्रेनें चलाई जाएंगी। जिनसे लोगों को दुर्गापूजा, दशहरा, दिवाली और छठ के त्योहारों पर अपने घर जाने में बड़ी मदद मिलेगी। हालांकि, इन ट्रेनों के लिए यात्रियों को पहले से अधिक खर्चा करना पड़ेगा क्योंकि, रेलवे इन ट्रेनों के लिए यात्रियों से मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों के मुकाबले 10% से 30% तक ज्यादा किराया लिया जाएगा। बताते चलें, लिमिटेड समय अवधि के लिए चलने वाली यह सभी ट्रेनें सुपरफास्ट ट्रेनें होंगी। इसलिए इन सभी की स्पीड मिनिमम (कम से कम) 55 किमी प्रति घंटा होगी ही।

कब से कब तक चलेंगी ट्रेनें :

बताते चलें, रेलवे ने हाल ही में 15 अक्टूबर से 200 ट्रेनों को चलने की घोषणा की थी। इसके अलावा रेलवे ने अब फेस्टिव सीजन को ध्यान में रखते हुए 20 अक्टूबर से अन्य 392 और ट्रेनें चलने का फैसला किया हैं। यह ट्रेनें 20 अक्टूबर से 30 नवंबर तक के लिए चलाई जाएंगीं। बता दें, रेलवे मंत्रालय द्वारा कई क्षेत्रों की मांग पर 196 जोड़ी ट्रेनों को चलाने के लिए मंजूरी दी है। इस मंजूरी से यह ट्रेनें लखनऊ, कोलकाता, पटना, वाराणसी जैसी जगहों से शुरू की जाएंगीं। इसके अलावा यह ट्रेनें रोजाना, हफ्ते में चार बार, हफ्ते में एक बार चलने वाली ट्रेनें शामिल की गई हैं।

अब तक चलाई जा चुकी 550 ट्रेनें :

गौरतलब है कि, भारत में मार्च के आखरी सप्ताह से ही सम्पूर्ण लॉकडाउन के चलते सभी रेल यात्राएं ठप्प पड़ी थीं। हालांकि, जरूरतों को देखते हुए सरकार ने 12 मई से धीरे-धीरे पहले कई स्पेशल ट्रेनें चलाईं थीं। इसके बाद 12 सितंबर से 80 नई स्पेशल ट्रेनें चलाई गईं। इसके बाद सरकार ने त्योहारी सीजन को मद्देनजर रखते हुए देश में फिर से 200 से भी अधिक कई विशेष ट्रेनें चलाने का फैसला किया है। इस प्रकार देश में 12 मई से अब तक लगभग 550 मेल/एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेनें चलाईं जा चुकी है। इनमें 15 जोड़ी राजधानी स्पेशल ट्रेनें और 100 जोड़ी लंबी दूरी तय करने वाली ट्रेनें भी शामिल हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co