रतन टाटा ने किया हेल्थकेयर स्टार्टअप iKure में निवेश

टाटा संस के पूर्व चेयरमैन रतन टाटा द्वारा हेल्थकेयर सर्विसेज स्टार्टअप आईक्योर (iKure) में निवेश करने की खबर सामने आई है। इस बारे में जानकारी मंगलवार को iKure कंपनी ने स्वयं दी है।
रतन टाटा ने किया हेल्थकेयर स्टार्टअप iKure में निवेश
Ratan Tata invests in healthcare startup iKureSyed Dabeer Hussain - RE

राज एक्सप्रेस। पिछले महीनों में कई कंपनियों के बीच साझेदारी होने की खबरें सामने आई हैं। वहीं, अब भारत के बड़े दिग्गज बिजनसमैन और टाटा संस के पूर्व चेयरमैन रतन टाटा द्वारा हेल्थकेयर सर्विसेज स्टार्टअप आईक्योर (iKure) में निवेश करने की खबर सामने आई है। इस बारे में जानकारी मंगलवार को iKure कंपनी ने स्वयं दी है।

रतन टाटा ने किया iKure में निवेश :

दरअसल, भारत के बहुचर्चित और दिग्गज व्यापारी रतन टाटा ने हेल्थकेयर सर्विसेज स्टार्टअप कंपनी iKure में निवेश किया है। हालांकि, कंपनी ने निवेश के तहत हुई डील की रकम को लेकर कोई जानकारी नहीं दी है। बता दें, वर्तमान में iKure की सर्विसेस और टेक्नोलॉजी प्लेटफॉर्म का उपयोग अफ्रीका के कई देशों में किया जा रहा है। गौरतलब है कि, साल 2012 के दिसंबर में टाटा संस से रिटायर होने के बाद से अब तक रतन टाटा कई टेक आधारित स्टार्टअप में निवेश कर चुके हैं।

iKure के फाउंडर और CEO ने बताया :

iKure कंपनी ने इस निवेश से जुड़ी जानकारी देते हुए बताया कि, 'नए फंड से वह देशभर में और ग्लोबल लेवल पर तेजी से अपना कारोबार बढ़ाना चाहती है। टाटा के निवेश के बारे में iKure कंपनी के फाउंडर और CEO सुजय सांत्रा ने कहा कि, 'हमें खुशी है कि रतन टाटा ने निवेश के बारे में सोचा है। हम अत्यधिक सम्मान और प्रोत्साहन महसूस करते हैं।

कंपनी का लक्ष्य :

बताते चलें, iKure क्लिनिक्स, डिजिटल टेक्नोलॉजीज और प्रशिक्षित फ्रंटलाइन स्वास्थ्य कर्मियों के जरिये प्राइमरी हेल्थकेयर सर्विसेज मुहैया करती है। बता दें, iKure कंपनी की प्राइमरी हेल्थकेयर सर्विसेज का लाभ वर्तमान सामने में पूरे देश के 7 राज्यों में 11 लाख से ज्यादा लोग ले रहे हैं। जबकि, कंपनी का लक्ष्य अगले 5 साल में 1 करोड़ से ज्यादा ग्राहकों तक अपनी प्राइमरी हेल्थकेयर सर्विसेज पहुंचाने का है। कंपनी ने अपने लक्ष्य के बारे में बताया कि, 'प्राइमरी हेल्थकेयर सर्विसेज देने में उसे एक्सेसेबिलिटी, अफॉर्डेबिलिटी, अवेलेबिलिटी और अवेयरनेस जैसी चुनौतियों का सामना करना पड़ता है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co