RBI का GDP के डबल डिजिट में पहुंचने का अनुमान, नहीं बदली ब्याज दरें
RBI का GDP के डबल डिजिट में पहुंचने का अनुमान, नहीं बदली ब्याज दरेंSocial Media

RBI का GDP के डबल डिजिट में पहुंचने का अनुमान, नहीं बदली ब्याज दरें

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा शुक्रवार को RBI गवर्नर की अगुवाई में हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद क्रेडिट पॉलिसी की समीक्षा का ऐलान किया गया। इसी दौरान RBI ने ब्याज दरों से जुड़ी जानकारी दी।

राज एक्सप्रेस। भारत का केंद्रीय बैंक भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा समय-समय पर ब्याज दरों में बढ़ोतरी और कटौती करता रहता है। रिजर्व बैंक द्वारा शुक्रवार को RBI गवर्नर की अगुवाई में हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद क्रेडिट पॉलिसी की समीक्षा का ऐलान किया गया। इसी दौरान RBI ने ब्याज दरों से जुड़ी जानकारी दी। साथ ही भारत की अर्थव्यवस्था (GDP) के डबल डिजिट में पहुंचने का अनुमान जताया है।

RBI गवर्नर ने किये कई ऐलान :

दरअसल, शुक्रवार को भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई। इस दौरान कई बड़े एलना किये गए। इस दौरान क्रेडिट पॉलिसी की समीक्षा का ऐलान किया गया। साथ ही RBI ने ब्याज दरों में कोई बदलाव न करने की जानकारी दी। हालांकि, RBI ने अर्थव्यवस्था के डबल डिजिट में पहुंचने का अनुमान जताया है। बता दें, RBI ने अगले वित्त वर्ष 2021-22 में अर्थव्यवस्था में 10.5% की बढ़त दर्ज होने का अनुमान जताया है। RBI ने इकोनॉमिक सर्वे में 11% होने का अनुमान लगाया है।

ब्याज दरों में नहीं हुआ कोई बदलाव :

RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने इस प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बताया है कि, RBI ने ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है, इसका मतलब यह हुआ कि, रेपो रेट अभी भी 4% और रिवर्स रेपो रेट 3.35% ही रहेगी। खबरों की मानें तो, वर्तमान समय में RBI का फोकस राजकोषीय घाटे को कम करने पर है। हालांकि, एक्सपर्ट ने पहले ही अंदाजा लगाया था कि, ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया जाएगा। बता दें, ब्याज दरों को पहले ही काफी (1.15%) कटौती की जा चुकी है। जबकि, आम बजट 2021-22 पेश होने के बाद पहली बारRBI ने क्रेडिट पॉलिसी की समीक्षा की है।

RBI गवर्नर का कहना :

इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में RBI गवर्नर का कहना था कि, 'धीरे-धीरे घरों की बिक्री में सुधार हुआ है, साथ ही अब लोगों के खर्च करने की क्षमता एक बार फिर रिकवर हो रही है। हाल ही में जो आम बजट पेश किया गया है, उससे निवेश की स्थिति सुधरने की उम्मीद है। जबकि, जनवरी-मार्च के बीच महंगाई दर 5.2% तक रह सकती है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co