RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने दी क्रिप्टोकरेंसी को लेकर अहम जानकारी
RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने दी क्रिप्टोकरेंसी को लेकर अहम जानकारीSocial Media

RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने दी क्रिप्टोकरेंसी को लेकर अहम जानकारी

सरकार क्रिप्टोकरेंसी के नियमों में कुछ बदलाव करने को लेकर विचार कर रही है। जिसकी जानकारी केंद्रीय रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने दी है।

राज एक्सप्रेस। क्रिप्टोकरेंसी एक एसी करेंसी है, जो ज्यादातर सुर्ख़ियों में बनी रहती है। इसको लेकर कई नियम निर्धारित किए गए हैं। जिनमें समय-समय पर बदलाव किए जाते हैं। ज्यादातर निवेशक और ट्रेडर्स में रूचि रखते है। वहीं, अब सरकार क्रिप्टोकरेंसी के नियमों में कुछ बदलाव करने को लेकर विचार कर रही है। जिसकी जानकारी केंद्रीय रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने दी है।

सरकार का ठोस कदम उठाने पर विचार :

हाल ही में क्रिप्टोकरेंसी को एलकार ऐसी खबरें सामने आई थीं कि, सरकार एक क्रिप्टोकरेंसी बिल ला सकती है, जिसमें क्रिप्टोकरेंसी को एक कमोडिटी की तरह देखा जाएगा। हालांकि, केंद्रीय रिजर्व बैंक (RBI) वर्चुअल करेंसी क्रिप्टोकरेंसी को लेकर कई बार सचेत रहने की सलाह दे चुका है। इसके अलावा RBI ने साल 2018 में इनकी ट्रेडिंग पर प्रतिबंध भी लगाया था। हालांकि, कोर्ट ने इस प्रतिबंध को खारिज कर दिया था। इन दिनों मार्केट में क्रिप्टोकरेंसी की काफी डिमांड है। इस बात को मद्देनजर रखते उए सरकार इसको लेकर कुछ ठोस कदम उठाने पर विचार कर रही है। इस मामले में जानकारी गवर्नर शक्तिकांत दास ने दी।

RBI गवर्नर ने दी जानकारी :

रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने एक कार्यक्रम के दौरान बताया कि, 'केंद्रीय बैंक बिटकॉइन जैसी क्रिप्टोकरेंसी को लेकर ‘गंभीर' रूप से चिंतित है और उसने सरकार को इस चिंता से अवगत करा दिया है। अब इस मामले में निर्णय सरकार को लेना है। क्रिप्टोकरेंसी के अर्थव्यवस्था में योगदान के विषय में ‘विश्वसनीय स्पष्टीकरण और जवाब' की जरूरत है। हमने क्रिप्टो करेंसी को लेकर अपनी गंभीर और बड़ी चिंता से सरकार को अवगत करा दिया है. सरकार को इस पर फैसला करना है।' जबकि, इससे पहले इसी साल मार्च में गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा था कि, 'उनके पास यह विश्वास करने की वजह है कि, सरकार केंद्रीय बैंक द्वारा जताई गई चिंता से सहमत है।'

मान्यता देने वाला पहला देश :

बताते चलें, दुनियाभर में अब तक सिर्फ एक ही देश ने क्रिप्टोकरेंसी को मान्यता दी है और वो अल सल्वाडोर है। अल सल्वाडोर इस सप्ताह बिटकॉइन को मान्यता देने वाला पहला देश बन गया है। जबकि, आज भी क्रिप्टोकरेंसी की इतनी लोकप्रियता होने के बाद भी कोई देश इसको मान्यता देने के लिए तैयार नहीं है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co