RBI गर्वनर शक्तिकांत दास ने बताया बैंकिंग सिस्टम बहुत मजबूत
RBI गर्वनर शक्तिकांत दास ने बताया बैंकिंग सिस्टम बहुत मजबूतSocial Media

RBI गर्वनर शक्तिकांत दास ने बताया बैंकिंग सिस्टम बहुत मजबूत, दी अन्य जानकारी

भारत के बैंकिंग सिस्टम को लेकर ही देश के केंद्रीय बैंक भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने खास जानकारी दी है। जो कि, पिछले हफ्ते यूएस फेड के जैक्सन होल शिखर सम्मेलन के बाद दी गई है।

राज एक्सप्रेस। जहां, पिछले दो साल पूरी दुनियाभर के सेक्टर कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप से ठप्प पड़े नज़र आए। वहीं, उसी दौरान भारत के सभी बैंकों में निरंतर कार्य होता रहा। हालांकि, भारत में भी आर्थिक मंदी का माहौल देखने को मिला, लेकिन भारत का बैंकिंग सिस्टम काफी मजबूत नजर आया। वहीं, अब भारत के बैंकिंग सिस्टम को लेकर ही देश के केंद्रीय बैंक भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने खास जानकारी दी है। जो कि, पिछले हफ्ते यूएस फेड के जैक्सन होल शिखर सम्मेलन के बाद दी गई है।

RBI गवर्नर ने दी जानकारी :

दरअसल, रिजर्व बैंक ऑफ इंड‍िया (RBI) के गर्वनर शक्तिकांत दास द्वारा समय-समय पर बैंको से जुड़ी खास जानकारी या कोई अन्य जानकारी दी जाती रही है। वहीँ, अब RBI गवर्नर शक्तिकांत दास मुंबई में आयोजित हुई फिक्स्ड इनकम मनी मार्केट और डेरिवेटिव्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया की एनुअल गैदरिंग में शामिल हुए, इस दौरान उन्होंने वहां उपस्थित लोगों को संबोधित किया। अपने संबोधन में उन्होंने जानकारी देते हुए कहा है कि,

'पिछले हफ्ते यूएस फेड के जैक्सन होल शिखर सम्मेलन के बाद से बाजार बेहद अस्थिर और अनिश्चित हो गए हैं। हमारी बैंकिंग प्रणाली की सेहत अच्छी है और बाहरी प्रतिकूल परिस्थितियों से किसी भी तरह के नकारात्मक प्रभाव को रोकने में सक्षम है। बैंकिंग सिस्टम को मजबूत बनाने के लिए सरकार ने पहले से ही कई कदम उठाए हैं। 26 अगस्त की स्थिति के अनुसार भारत का मुद्रा भंडार 561 अरब अमेरिकी डॉलर है, जो बाहरी झटकों को रोकने का काम करेगा। हमारी बैंकिंग प्रणाली अच्छी तरह से पंजीकृत है। आगे चलकर हमारी मौद्रिक नीति चौकस, तेज और कैलिब्रेटेड होगी।

शक्तिकांत दास, RBI गवर्नर

सरकार कर रही सॉवरेन ग्रीन बांड जारी करने पर काम :

RBI गर्वनर शक्तिकांत दास ने आगे की जानकारी देते हुए यह भी बताया है कि, सरकार सॉवरेन ग्रीन बांड जारी करने पर काम कर रही है। भारतीय रुपए में 5.1 % की गिरावट आई है जो दुनिया में सबसे कम है। RBI नियमित रूप से बाजार में तरलता और विश्वास प्रदान करता है। हमारा हस्तक्षेप मोटे तौर पर अत्यधिक अस्थिरता को रोकने और अपेक्षाओं को स्थिर करने पर आधारित है। भारत को व्यापक रूप से 2022 में दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था माना गया है। जब अन्य प्रमुख अर्थव्यवस्थाएं वास्तव में मंदी या अपनी विकास गति में काफी कमी का सामना कर रही हैं भारत ने तेज गति दिखाई है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co