RBI
RBIRaj Express

आरबीआई के लोन खातों पर पेनल्टी के नियमों में किया बदलाव, अब मनमानी नहीं कर पाएंगे बैंक

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने लोन और ईएमआई को लेकर एक बड़ा ऐलान किया है। बैंक ने लोन लेने वाले ग्राहकों को राहत का खबर दी है।

हाईलाइट्स

  • भारतीय रिजर्व बैंक ने लोन और ईएमआई को लेकर नई गाइडलाइन जारी की

  • पीनल चार्जेज और ब्याज दरों में ज्यादा पारदर्शिता लाने के लिए नए नियम लागू किए गए

  • ये नियम एक जनवरी 2024 से लागू कर दिए जाएंगे

राज एक्सप्रेस । भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने लोन और ईएमआई को लेकर एक बड़ा ऐलान किया है। बैंक ने लोन लेने वाले ग्राहकों को राहत का खबर दी है। आरबीआई ने पीनल चार्ज और ब्याज दरों को लेकर नई गाइडलाइन जारी की है। पीनल चार्जेज और ब्याज दरों में ज्यादा पारदर्शिता लाने के लिए नए नियम बनाए हैं। यह नियम एक जनवरी 2024 से लागू होंगे। आरबीआई ने नोटिफिकेशन जारी किया है कि लोन देने वाले संस्था को अब पीनल दरों पर इंटरेस्ट लगाने के लिए खुद से बोर्ड अप्रूव्ड पॉलिसी तैयार करनी होगी।

आरबीआई ने क्यों बदला नियम

रिजर्व बैंक ने कहा कि कई उधारकर्ता की तरफ से उन शर्तों के साथ चूक या गैर-अनुपालन के मामले में पीनल चार्ज का इस्तेमाल करते हैं। यह उन शर्तों पर भी लागू होता है जिसके तहत कोई लोन मिलता है। बैंक को अनुशासन बनाए रखने के लिए आरबीआई ने कहा कि बैंकों पीनल चार्ज को कमाई का जरिया नहीं बनाना चाहिए। कई संस्था पीनल चार्ज के जरिये पैसे कमाते हैं। इन्हीं बातों का ध्यान रखते हुए केंद्रीय बैंक ने यह गाइडलाइन जारी की है।

भारतीय रिजर्व बैंक के निर्देश

  • बैंक कोई पेनल्टी चार्ज लेती है तो उसके पीनल चार्ज माना जाएगा

  • रिजर्व बैंक के निर्देश के अनुसार अगर बैंक कोई पेनल्टी चार्ज लेती है, तो उसे उसका पीनल चार्ज माना जाएगा।

  • बैंक को एक्सट्रा कॉम्‍पोनेंट पेश करने की अनुमति नहीं है।

  • पीनल चार्ज के लिए एक बोर्ड अप्रूव्ड पॉलिसी तैयार की जानी चाहिए।

  • बैंक को किसी भी लोन या प्रोडक्ट को लेकर कोई भेदभाव नहीं करना चाहिए।

  • यह नियम बैंकिंग संस्था पर लागू होंगे। इसमें कमर्शियल बैंक, सहकारी बैंक, एनबीएफसी, हाउसिंग फाइनेंस कंपनियां और एक्जिम बैंक, नाबार्ड, एनएचबी, सिडबी और एनएबीएफआईडी जैसे बाकी संस्था शामिल है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co