RBI ने बड़ी राहत देते हुए किया क्रेडिट कार्ड को UPI से लिंक, कार्ड से हो सकेगा UPI पेमेंट
RBI ने बड़ी राहत देते हुए किया क्रेडिट कार्ड को UPI से लिंकSyed Dabeer Hussain - RE

RBI ने बड़ी राहत देते हुए किया क्रेडिट कार्ड को UPI से लिंक, कार्ड से हो सकेगा UPI पेमेंट

MPC की बैठक खत्म होने के बाद RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने एक बड़ी राहत देते हुए क्रेडिट कार्ड को UPI (यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस) से लिंक करके लोगों की मुश्किल आसान कर दिया है।

राज एक्सप्रेस। देश में किसी भी नीतिगत दरों में होने वाले बदलाव या उस पर चर्चा करने के लिए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) और मौद्रिक नीति समिति (MPC) की अहम् बैठक होती है। RBI और MPC की बैठक 6 जून से शुरू होकर आज यानी 8 जून तक चली। इस बैठक के बाद आज RBI गवर्नर शक्तिकांत दास द्वारा कई बड़े ऐलान किए गए। जिसके तहत रेट रेपो बढ़ाने का फैसला तो लिया ही गया, साथ ही अन्य फैसले भी लिए गए। इन्हीं फैसलों के तहत RBI ने एक राहत भी दी है। जो कि, क्रेडिट कार्ड के जरिए UPI पेमेंट करने की सुविधा देकर दी है।

क्रेडिट कार्ड के जरिए हो सकेगा UPI पेमेंट :

दरअसल, बुधवार यानी 8 जून, 2022 को रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) और मौद्रिक नीति समिति (MPC) की बैठक खत्म होने के बाद RBI गवर्नर शक्तिकांत दास द्वारा बड़ा ऐलान किया गया। इस ऐलान के तहत RBI ने जहां रेपो रेट बढ़ा कर लोन महंगा कर दिया है। वहीं, एक बड़ी राहत देते हुए क्रेडिट कार्ड को UPI (यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस) से लिंक करके लोगों की मुश्किल आसान कर दी है। यानी अब आप क्रेडिट कार्ड के जरिए भी UPI का भुगतान कर सकेंगे। RBI ने इसकी शुरुआत Rupay क्रेडिट कार्ड से की है। बता दें, RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने इस घोषणा के बाद UPI के माध्यम से Rupay क्रेडिट कार्ड से भुगतान मंजूरी दे दी है। RBI गवर्नर दास ने मोनेटरी पॉलिसी रिव्यू प्रेस कॉन्फ्रेंस (monetary policy review press conference) में यह घोषणा की है।

RBI गवर्नर ने दी जानकारी :

बताते चलें, अभी तक आप या बैंक ग्राहक सिर्फ डेबिट कार्ड से सेविंग्स या करेंट अकाउंट को ही जोड़कर पैसो का लेनदेन या पेमेंट कर पाते थे, लेकिन अब कार्ड को सेविंग्स या करेंट अकाउंट के साथ ही UPI से भी लिंक किया जा सकेगा। इस मामले की जानकारी देते हुए RBI गवर्नर दास ने कहा कि,

'नई व्यवस्था से ग्राहकों को UPI प्लेटफॉर्म के माध्यम से भुगतान करने में अधिक अवसर और सुविधा मिलने की उम्मीद है। वर्तमान में 26 करोड़ से अधिक यूजर्स और 5 करोड़ कारोबारी यूपीआई प्लेटफॉर्म पर शामिल हैं। अकेले मई 2022 में UPI के माध्यम से 10.40 लाख करोड़ रुपये के 594.63 करोड़ लेनदेन किए गए थे। केंद्रीय बैंक अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए पर्याप्त लिक्विडिटी या कैश की उपलब्धता सुनिश्चित करेगा। आने वाले समय में महामारी की वजह से उपलब्ध कराई गई अत्यधिक नकदी को कई साल के समय में सामान्य स्तर पर लाया जाएगा। हालांकि, इसके साथ ही केंद्रीय बैंक यह सुनिश्चित करेगा कि अर्थव्यवस्था की उत्पादक जरूरतों के लिए पर्याप्त नकदी उपलब्ध रहे। इसके अलावा शहरी सहकारी बैंकों को अनुसूचित बैंकों की तरह घरों तक अपने ग्राहकों को बैंक से जुड़ी सुविधाएं देने की अनुमति देने का प्रस्ताव किया गया है।'

शक्तिकांत दास, RBI गवर्नर

RBI की अन्य घोषणाएं :

बताते चलें, आज रेपो रेट में बढ़ोतरी और कार्ड को UPI से लिंक करने के साथ ही अन्य कई और फैसले भी लिए गए है। इन फैसलों के तहत भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने बुधवार को पेश चालू वित्त वर्ष की तीसरी द्विमासिक मौद्रिक समीक्षा की मुख्य बातें बताते हुए ऐलान किया है कि -

  • 2022-23 के लिए आर्थिक वृद्धि दर का अनुमान 7.2 प्रतिशत पर बरकरार।

  • ग्रामीण सहकारी बैंकों को वाणिज्यिक रियल एस्टेट क्षेत्र को कर्ज देने की अनुमति।

  • शहरी सहकारी बैंक घर के दरवाजे पर बैंकिंग सेवाएं उपलब्ध करा सकेंगे।

  • इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से नियमित अंतराल पर जरूरी सेवाओं के लिये खुद-ब-खुद होने वाले भुगतान को 5,000 रुपये से बढ़ाकर 15,000 रुपये किया गया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co