RBI द्वारा ATM-क्रेडिट कार्ड के लिए निर्धारित नए नियम लागू होंगे अगले साल
RBI द्वारा ATM-क्रेडिट कार्ड के लिए निर्धारित नए नियम लागू होंगे अगले सालSyed Dabeer Hussain - RE

RBI द्वारा ATM-क्रेडिट कार्ड के लिए निर्धारित नए नियम लागू होंगे अगले साल

अब भारत का केंद्रीय बैंक रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने बैंकों के ATM और क्रेडिट कार्ड से जुड़े कुछ नए नियम निर्धारित किये हैं। हालांकि, यह नियम अभी लागू नहीं किये जाएंगे।

राज एक्सप्रेस। भारत का केंद्रीय बैंक रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) सभी बैंकों पर नियंत्रण रखता है और सभी बैंकों की लगाम RBI के ही हाथ में ही रहती है। RBI द्वारा सभी बैंकों के लिए नियम निर्धारित किये गए हैं। जिनमें RBI समय समय पर बदलाव करता रहता है। ये नियम चाहे बैंकों के लिए हो या उनके ATM के लिए। वहीं, अब RBI ने बैंकों के ATM और क्रेडिट कार्ड से जुड़े कुछ नए नियम निर्धारित किये है। हालांकि, यह नियम अभी लागू नहीं किये जाएंगे।

ATM और क्रेडिट कार्ड से जुड़े कुछ नए नियम :

दरअसल, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने ATM और क्रेडिट कार्ड से जुड़े कुछ नए नियम निर्धारित किये हैं या कहे बदलने का फैसला किया है। इन बदलावों के तहत RBI ने डेटा स्टोरेज से जुड़े टोकनाइजेशन के नियम जारी किए हैं। हालांकि, यह नियम RBI द्वारा इस साल से लागू न करके अगले साल यानि 1 जनकवरी 2022 से लागू किए जाएंगे। इसके बाद बैंक के ग्राहक को अपने कार्ड की डिटेल्स किसी थर्ड पार्टी यानी फूड डिलेवरी ऐप, कैब सेवा देने वाली कंपनियों जैसी किसी भी ऐप के साथ शेयर नहीं करनी पड़ेगी। हालांकि, अब तक चले आरहे नियमों के मुताबिक, पहले इन ऐप पर यूजर्स का डाटा सेव होजाता था। जिससे उसके चोरी होने की सम्भावना बन जाती थी, लेकिन टोकन सर्विस लागू होजाने के बाद अपनी डिटेल्स देना ग्राहकों की इच्छा के आधार पर रहेगा।

RBI ने दी जानकारी :

जी हां, आपको जानकार हैरानी होगी कि, अगले साल इस नए नियम के लागू हो जाने के बाद यदि आप ना चाहे तो आप किसी भी ऐप से लेनदेन करते समय अपने ATM या क्रेडिट कार्ड की जानकारी साझा करने की जरूरत नहीं पड़ेगी और न ही इसके लिए को आप पर दबाव बनाएगा। न ही बैंक/कार्ड जारी करने वाली कंपनियों द्वारा अनिवार्य रूप से इसे लागू किया जाएगा। RBI ने जानकारी देते हुए बताया है कि, नए नियमों के तहत 1 जनवरी, 2022 से कार्ड लेनदेन/पेमेंट में कार्ड जारीकर्ता बैंक या कार्ड नेटवर्क के अलावा कोई भी वास्तविक कार्ड डेटा स्टोरेज नहीं करेगा। इसमें पहले से स्टोर ऐसे किसी भी डेटा को फिल्टर किया जाएगा हालांकि, ट्रांजैक्शन ट्रैकिंग या सुलह मकसद के लिए, संस्थाएं सीमित डेटा स्टोर कर सकती हैं। वास्तविक कार्ड नंबर और कार्ड जारीकर्ता के नाम के आखिरी चार अंक तक के स्टोर की छूट होगी।'

नए नियम से जुड़े कुछ मुख्य बिंदु :

  • नए नियम CoFT मोबाइल, लैपटॉप, डेक्सटॉप स्मार्ट वॉच आदि से पेमेंट करने पर भी लागू किये जाएंगे।

  • टोकन सर्विस प्रोवाइडर द्वारा जारी किए गए कार्ड के लिए ही टोकनाइजेशन की सुविधा की पेशकश की जाएगी।

  • कार्ड डेटा को टोकननाइज करने और डी-टोकनाइज करने की क्षमता एक ही टोकन सर्विस प्रोवाइडर के साथ होगी।

  • कार्ड डेटा का टोकनकरण ग्राहक की सहमति के साथ किया जाएगा।

  • टोकनकरण के लिए AFA का भी इस्तेमाल किया जाएगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co