लॉकडाउन में बुक हुई फ्लाइट्स टिकिट के लिए यात्रियों को मिलेगा रिफंड

नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (DGCA) ने सुप्रीम कोर्ट को लॉकडाउन के दौरान हवाई टिकट बुक करने वाले यात्रियों को तत्काल रिफंड करने से जुड़ी जानकारी दी।
लॉकडाउन में बुक हुई फ्लाइट्स टिकिट के लिए यात्रियों को मिलेगा रिफंड
Refund for flight Ticket Booking in LockdownKavita Singh Rathore -RE

राज एक्सप्रेस। देश में कोरोना (कोविड-19) के मामलों की बढ़ती स्थिति को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लागू लॉकडाउन लगातार 2 महीने से ज्यादा समय तक रहा इस दौरान भारतीय रेलवे और हवाई यात्राएं पूरी तरह रद्द रही। हालांकि, बीच-बीच में कई उड़ानें संचालित की गईं, लेकिन फिर इन्हें रद्द कर दिया गया। ऐसे में जिन लोगों ने टिकिट की बुकिंग की थी, उनके लिए 'नागरिक उड्डयन महानिदेशालय' (DGCA) द्वारा एडवाइजरी जारी की गई है।

नागरिक उड्डयन मंत्रालय द्वारा जारी नोटिस :

नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (DGCA) ने मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट को जानकारी दी। महानिदेशालय ने रिफंड को लेकर जानकारी देते हुए बताया है कि, 'यदि किसी ग्राहक (यात्री) द्वारा 24 मई तक के लॉकडाउन से पहले तक कि, किसी भी फ्लाइट की टिकट की बुकिंग की गई हो तो, उसे एयरलाइन कंपनी पूरा पैसा रिफंड कर देगी। कंपनियां ये रिफंड क्रेडिट शेल और इंसेंटिव स्कीम के तहत करेंगी।'

केंद्र सरकार की इंसेंटिव योजना :

बताते चलें, केंद्र सरकार द्वारा हाल ही में एक इंसेंटिव योजना शुरू की जा चुकी है, जिसके अंतर्गत उड़ान रद्द करने की तारीख से 30 जून 2020 तक मूल कीमत पर 0.5% ब्याज प्राप्त होगा। इस समय अवधि के अलावा यात्री द्वारा 31 मार्च, 2021 तक हर महीने 0.75% ब्याज प्राप्त कर सकता है।

इस प्रकार होगा रिफंड :

DGCA ने बताया है कि, यात्रियों को यह रिफंड तीन चरणों में किया जाएगा।

  • पहला चरण - पहले चरण में ऐसे लोगों को शामिल किया जाएगा, जिन्होंने लॉकडाउन से पहले 24 मई तक टिकट की बुकिंग की थी। इन्हें प्रस्तावित क्रेडिट शेल और इंसेंटिव स्कीम के तहत रिफंड किया जाएगा।

  • दूसरा चरण - दूसरे चरण में ऐसे लोगों को शामिल किया जाएगा, जिन्होंने लॉकडाउन लागू रही अवधि में टिकट की बुकिंग की थी। इन्हें यात्रा से जुड़ी एयरलाइंस कंपनी द्वारा रिफंड किया जाएगा।

  • तीसरा चरण - तीसरे चरण में ऐसे लोगों को शामिल किया जाएगा, जिन्होंने कभी भी टिकट बुक किया हो, लेकिन 24 मई के बाद यात्रा के लिए, इनका रिफंड Civil Aviation Requirement (CAR) प्रावधानों द्वारा नियंत्रित किया जाएगा।

केंद्र सरकार का प्रस्ताव :

दरअसल, केंद्र सरकार द्वारा प्रस्ताव पेश किया गया था। जिसके अनुसार, लॉकडाउन की अवधि में जिन लोगों द्वारा टिकिट की बुकिंग की गई थी। उन टिकटों के लिए एयरलाइंस कंपनियों द्वारा 15 दिनों के अंदर पूरा रिफंड दिया जाए। इन टिकट की बुकिंग में घरेलू और अंतरराष्ट्रीय दोनों तरह की उड़ानें शामिल हैं। साथ यह बुकिंग किसी भी प्रकार (स्वयं या एजेंट के द्वारा) से की गई हो। बता दें, इस में लॉकडाउन में

  • पहली अवधि के दौरान हुआ 25 मार्च से 14 अप्रैल तक का लॉकडाउन

  • दूसरी अवधि के दौरान हुआ 14 अप्रैल से 3 मई तक का लॉकडाउन शामिल है

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co