Reliance Industry set to finalize deal with Saudi Aramco
Reliance Industry set to finalize deal with Saudi Aramco|Kavita Singh Rathore -RE
व्यापार

रिलायंस इंडस्ट्रीज कर रही सऊदी अरामको से डील फाइनल करने की तैयारी

रिलायंस इंडस्ट्री ने हाल ही में लगभग 10 बड़ी कंपनियों के साथ डील फाइनल करके फंड जुटा कर खुद को कर्जमुक्त कर लिया है। वहीं, अब RIL कंपनी सऊदी अरामको के साथ डील फाइनल करने की तैयारी में है।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

राज एक्सप्रेस। हाल ही में भारत के सबसे अमीर शख्स और जाने-माने बिजनेसमेन मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्री ने लगभग 10 बड़ी कंपनियों के साथ डील फाइनल करके फंड जुटा कर खुद को दी गई समय अवधि से 9 माह पहले ही कर्जमुक्त कर लिया है। वहीं, अब RIL कंपनी दुनिया की जानी-मानी और राजस्व के हिसाब से सबसे बड़ी कंपनी 'सऊदी अरामको' के साथ डील फाइनल करने की तैयारी में है।

अरामको की डील :

दरअसल, सऊदी अरामको कंपनी की भारत की दिग्गज रिलायंस इंडस्ट्रीज से काफी समय से बातचीत चल रही है। इस बातचीत के तहत अरामको की रिलायंस इंडस्ट्रीज से 75 अरब डॉलर के कारोबार में से 20% की हिस्सेदारी खरीदने को लेकर डील चल रही है। बता दें, भारत 83% पेट्रोलियम से जुड़ी जरूरतें आयात द्वारा पूरा करता है और इसलिए ही अगर यह डील फाइनल हो जाती है तो, यह समझौता काफी फायदेमंद साबित होने की पूरी उम्मीद है।

हालांकि, यह डील पहले मार्च 2020 तक पूरी होने का अनुमान लगाया गया था, लेकिन देशों में बने हालातों के चलते लगे लॉकडाउन के कारण यह डील पूरी न हो सकी। परंतु अब कंपनी इस डील को पूरा करने के लिए तेजी से कार्य कर रही है। क्योंकि, RIL तेल से लेकर रसायन तक के अपने बिजनस का कुछ हिस्सा सऊदी अरामको को बेचना चाहती है।

सऊदी अरामको के साथ डील से RIL का फायदा :

बताते चलें कि, मुकेश अंबानी द्वारा कंपनी की 2019-20 की सालाना रिपोर्ट में बताया गया है कि, रिलायंस इंडस्ट्री अपने ऊर्जा कारोबार के लिए सऊदी अरामको के साथ साझेदारी करने को लेकर तेजी से काम कर रही है। कंपनी जल्द ही इस डील को अंतिम रूप देगी। इस डील के पूरा होने पर हमारी रिफाइनरीज को ज्यादा ऑयल-टू-केमिकल कन्वर्जन के लिए वैल्यू एक्रीटिव क्रूड ग्रेड के बड़े पोर्टफोलियो की सुविधा मिलने लगेगी साथ ही ज्यादा फीडस्टॉक की सुरक्षा भी प्राप्त होगी।

मुकेश अंबानी का ऐलान :

बता दें, भारत के सबसे अमीर व्यक्ति और दिग्गज कारोबारी मुकेश अंबानी ने बीते साल 2019 के अगस्त माह में अपने कारोबार में 20% हिस्सेदारी सऊदी अरब की सऊदी अरामको कंपनी को बेचने से जुड़ी डील को लेकर घोषणा की थी।

RIL ने बनाया भारतीय कॉरपोरेट में इतिहास :

वहीं हाल ही में मुकेश अंबानी की कंपनी RIL ने अपने जियो प्लेटफॉर्म के जरिए 11 बड़ी डील साइन करके 1,15,693.95 करोड़ रुपए जुटाए हैं। गौरतलब है कि, आज तक किसी भी कंपनी द्वारा इतनी राशि इतने कम समय में नहीं जुटाई गई है, जितनी राशि RIL ने मात्र 58 दिनों के दौरान जुटाई। भारतीय कॉरपोरेट इतिहास में इतने काम दिनों में इतनी राशि जुटाने वाली यह पहली कंपनी बन गई है। सराहनीय बात यह है कि, कंपनी ने यह राशि ऐसे समय में हासिल जुटाई है जब पूरी दुनिया में लॉकडाउन लागू था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co