Raj Express
www.rajexpress.co
3 years of Reliance Jio
3 years of Reliance Jio |Syed Dabeer Hussain - RE
व्यापार

Reliance Jio के 3 साल पूरे, अब तक यूजर्स को मिले ये फ़ायदे

आज आकर्षक ऑफर पेश करने के लिए जानी जाने वाली बहुचर्चित कंपनी Reliance Jio को 3 साल पूरे हो गए है। इसी ख़ुशी के अवसर पर Jio ने अपने ग्राहकों को बेहद कीमती रिटर्न गिफ्ट देते हुए Gigafiber की लांचिंग की।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

राज एक्सप्रेस। आज हम एक ऐसी कंपनी के बारे में बात करने जा रहे है, जिसका नाम देश का बच्चा-बच्चा जनता है। जी हां Reliance Jio (Jio) एक ऐसी कंपनी है, जिसका नाम शायद ही देश का कोई इंसान नहीं जनता होगा। आज अर्थात 5 सितम्बर को Reliance Jio कंपनी को 3 साल पूरे हो चले है। आइये इस खास मौके पर जाने कैसा रहा इस कंपनी का अब तक का सफर।

Reliance की शुरुआत :

धीरजलाल हीराचंद अंबानी (धीरू भाई अंबानी) ने अपने भाई चंपक लाल दमानी के साथ मिलकर Reliance कंपनी की शुरुआत की। दोनों भाइयों ने साल 1960 में रिलायंस कमर्शियल कॉर्पोरेशन (Reliance Commercial Corporation) नाम की एक कंपनी शुरु की थी। 1965 तक यह पार्टनरशिप खत्म हो चुकी थी। 1980 में यह देश की सबसे बड़ी टेक्सटाइल कंपनी बन चुकी थी। उन्होंने 1985 में इस कंपनी का नाम बदल कर रिलायंस इंडस्ट्री लिमिटेड (Reliance Industry Limited) कर दिया। इसके बाद उन्होंने अपने व्यपार को आगे बढ़ाते हुए 1990 में गैस और आयल के क्षेत्र में कदम रखा। उन्होंने अपनी इस नई कंपनी को रिलायंस हिन्दुस्तान (Reliance Hindustan) नाम दिया।

रिलायंस टेलिकॉम की शुरुआत :

धीरू भाई अंबानी ने 1995 तक रिलायंस टेलिकॉम प्राइवेट लिमिटेड (Reliance Telecom Private Limited) नाम से टेलिकॉम कंपनी की भी शुरुआत कर दी थी। साल 2000 तक यह इकलौती बहुचर्चित कंपनी बन चुकी थी। इसने अपने कस्टमर्स को बहुत कम कीमत में फोन बांटे साथ ही इनकमिंग को फ्री कर दिया। साल 2002 में धीरू भाई अंबानी की मृत्यु हो जाने के बाद यह बिजनेस दोनों भाइयों ने संभाला। जब दोनों भाई में झगडे बढ़ने लगे, तब 2006 में उनकी मां कोकिलाबेन ने दोनों भाई के बिच इस बिजनस का बटवारा कर दिया।

किसके हिस्से क्या लगा :

Reliance की शाखाओं में से अनिल अंबानी को टेलीकॉम, एंटरटेनमेंट, पॉवर, फाइनेंशियल सर्विस कंपनी मिली और मुकेश अंबानी को रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industry) और इंडियन पेट्रोकेमिकल्स कारपोरेशन लिमिटेड (IPCL) मिली।

मुकेश अंबानी का टेलीकॉम में कदम :

मुकेश अंबानी के हाथ टेलिकॉम की एक भी कंपनी नहीं आई, तब मुकेश अंबानी ने अपने भाई की कंपनी रिलायंस कम्युनिकेशन को आगे बढ़ने का मन बना लिया। इस समय भी कंपनी ने बहुत कम दरों पर फ़ोन बाटे और इसी कंपनी ने ही भारत को सबसे चीपेस्ट कॉल रेट से इंटरडूज़ करवाया था। इतने चीपेस्ट रेट देखते हुए अन्य कंपनियों को भी अपनी कॉल रेट कम करना पड़ा। मुकेश अंबानी चाह कर भी अपनी टेलिकॉम कंपनी इसलिए नहीं शुरू कर पा रहे थे, क्योंकि उन्होंने जो एग्रीमेंट साइन किया था उसमे एक शर्त ये रखी गई थी कि, वो दूसरी कोई टेलिकॉम कंपनी की शुरुआत नहीं करेंगे।

रिलायंस Jio की शुरुआत :

साल 2010 में जैसे ही मुकेश अंबानी का एग्रीमेंट एक्सपायर हुआ, उन्होंने तुरंत ही इंफोटेल ब्रॉडबैंड से हाथ मिला लिया। इतना ही नहीं उन्होंने उससे 96% ओनरशिप भी खरीद ली। यह उस समय की बात है, जब मार्केट में पहले से 4G स्पेक्ट्रम आ चूका था। इसके बाद इसी कंपनी को मुकेश अंबानी ने 2016 में Reliance Jio का नाम दिया। जब टेलिकॉम मार्केट में 3G भी नहीं था, तब वे 4G पर काम कर रहे थे। मुकेश अंबानी ने Jio की शुरुआत इस बात को ध्यान में रखते हुए की कि, मार्केट में जो नेटवर्क उपलब्ध है वो सही नहीं है। वह बहुत अच्छे से जानते थे कि, वो उन्हें बहुत आसानी से कंपटीशन दे सकते है। वह टेलिकॉम के पक्के खलाड़ी पहले ही रह चुके थे। jio ने अपने फाइबर ऑप्टिकल में 2.5 लाख करोड़ रूपये इन्वेस्ट किया है जो, एयरटेल, वोडाफोन और आइडिया कंपनी की तुलना में देखे तो, तीनों के इन्वेस्टमेंट का 3 गुना है।

गन एंड बुलेट स्ट्रेटजी अपनाई :

मुकेश अंबानी ने Jio की शुरुआत गन एंड बुलेट स्ट्रेटजी को अपनाते हुए की। जिस प्रकार बंदूक ख़रीद लेने पर बुलेट खरीदना आवश्यक होता है, ठीक उसी तरह मुकेश अंबानी ने पूरे देश में 4G सिम फ्री में बाट दी वो भी 1 आधार कार्ड पर 8 सिम। इससे क्या हुआ यूजर्स को 4G फ़ोन भी खरीदना पड़ा। उन्होंने 6 महीने तक डाटा, कलिंग, SMS फ्री में दिए। जब लोगों को आदत हो गई, तब उन्होंने Jio की सिम पैसे में देना शुरू कर दिया।

Jio के 3 साल :

रिलायंस Jio ने इन 3 साल में अपने यूजर्स को 1 साल तक फ्री सिम उपलब्ध कराई जिसमे यूजर्स को पूरे एक साल तक फ्री डाटा, फ्री कॉलिंग, फ्री SMS और साथ ही में Jio ऐप चलाने का मौका दिया। कंपनी ने Jio की इस सिम के अलावा Jio के ब्रॉडबैंड की सेवा भी अपने ग्राहकों को उपलब्ध करवाई। जो उपभोगता फ्री वाली Jio सिम का इस्तेमाल करते है उन्हें सिम के साथ ही Jio ऐप में उपलब्ध सभी सेवाओं का लाभ बिना किसी चार्ज दिए मिलता है। Jio की इस ऐप में बहुत सारी सेवाएं उपलब्ध है जैसे कि,

  • Recharges करने की सुविधा।

  • इस Jio ऐप में सावन के द्वारा फ्री में मन चाहे सांग्स भी सुने जा सकते है।

  • इन एप को इंस्टॉल कर, ले सकते है इन सुविधाओं का भी फायदा।

Jio App Features
Jio App Features
Syed Dabeer Hussain - RE

Jio LYF फ़ोन :

Reliance Jio कंपनी अपने लांचिंग के समय से ही कई आकर्षक ऑफर्स पेश करती आई है। सिम के बाद कंपनी ने अपने फ्री वाले फ़ोन बाटे थे जो, कीपैड वाला हुआ करता था इसको लेते समय ग्राहक को 1500 रुपये की राशि जमा करना पड़ता था जो, पूरी तरह रिफंडेबल राशि थी। इसके बाद कंपनी ने टचस्क्रीन वाले फ्री स्मार्टफोन बाटे, जिसकी कीमत 3000 रूपये थी। यह भी पूरी तरह से रिफंडेबल थी। जैसे-जैसे टाइम बीतता गया कंपनी अपने आकर्षक ऑफर्स के साथ आगे बढ़ती चली गई। Reliance Jio कंपनी ने अपनी फ़ोन के बदले फ़ोन की नई स्कीम की पेशकश भी की, इस स्कीम में आप कोई भी कीपैड वाला चलता हुआ फ़ोन और 500 रूपये लेकर दूकानदार के पास जाओ और वो फ़ोन और पैसे लेकर आपको Jio कंपनी का नया फ़ोन दे देगा। कंपनी ने अभी तक जितने भी फ़ोन फ्री में बाटे है, इन सभी में कुछ समय के लिए डाटा, कॉलिंग और SMS की सुविधा फ्री मिली है।

इस साल क्या होगा खास :

Reliance Jio कंपनी एक लौती ऐसी कंपनी है जो, अपने ग्राहकों के लिए नए-नए आकर्षक ऑफर पेश करती आई है, आज जब Jio के 3 साल पूरे होने के मौके पर कंपनी Jio GigaFiber की नई पेशकश कर रही है। कंपनी का यह GigaFiber ब्रॉडबैंड से काफी अलग होगा और इसके द्वारा यूजर्स को कई सारी सुविधाएं मिलेगी।

Jio के उपभोक्ता :

Reliance Jio ने बहुत कम समय में बहुत अधिक उपभोक्ता को अपनी कंपनी से जोड़ा है। अगर ट्राई की रिपोर्ट के अनुसार देखा जाये तो, jio ने मात्र मार्च 2019 में 962885 यूजर्स जोड़े थे। ट्राई ने बताया कि, मार्च 2019 तक भारत में कुल मोबाईल यूजर्स की संख्या 116.18 करोड़ थी। इसके अलावा जुलाई 2019 के महीने में Reliance Jio के साथ 82 लाख नए उपभोक्ता जुड़े है। ट्राई के अनुसार ही जुलाई में Jio की अवरेज स्पीड 21Mbps रही थी। Reliance की Jio कंपनी 2016 में टेलिकॉम मार्केट में उत्तरी थी, आज इस कंपनी को 3 साल पूरे हो गए है और इन 3 साल में रेवेन्यू के लिहाज से देखा जाये तो, Jio देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी बन गई है।