खुदरा महंगाई में गिरावट से मिली कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच राहत की खबर
खुदरा महंगाई में गिरावट से मिली कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच राहत की खबर सांकेतिक चित्र

खुदरा महंगाई में गिरावट से मिली कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच राहत की खबर

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच जब देश की खुदरा महंगाई के आंकड़े जारी हुए जो हैरान कर देने वाले हैं। क्योंकि अप्रैल के महीने में खुदरा महंगाई में गिरावट दर्ज की गई है।

राज एक्सप्रेस। कोरोना वायरस के चलते सभी देशों के लिए साल 2020 काफी बुरा साबित हुआ था, लेकिन किसी को अंदाजा भी नहीं था यह साल 2021 कैसा होने वाला है। पिछले साल देश ने आर्थिक मंदी की मार भी झेली। भारत में बढ़ती महंगाई को देखते हुए लग रहा था कि, यह साल भी भारत के लिए लिए कुछ खास नहीं रहने वाला है, लेकिन इसी बीच जब देश की खुदरा महंगाई के आंकड़े जारी हुए जो हैरान कर देने वाले हैं क्योंकि, अप्रैल के महीने में खुदरा महंगाई में गिरावट दर्ज की गई है।

खुदरा महंगाई में दर्ज की गई गिरावट :

जी हां, इस साल जहां कोरोना के चलते हाहाकार मचा हुआ है। इसी बीच यह बड़ी रहत की खबर है कि, अप्रैल में खुदरा महंगाई में गिरावट दर्ज की गई है। बता दें, सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय द्वारा आज आंकड़े जारी किए गए हैं। जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, इस साल 2021 के अप्रैल महीने में खुदरा महंगाई (मुद्रास्फीति) दर घटकर 4.29% पर पहुंच गई। यह गिरावट खाद्य कीमतों में दर्ज की गई गिरावट के चलते घटी है। इसके अलावा सरकार द्वारा जारी आंकड़ों से इस बात का खुलासा हुआ है कि, इससे पहले मार्च में यही खुदरा महंगाई की दर 5.52% थी, लेकिन अप्रैल में इसमें गिरावट दर्ज की गई है।

6% के ऊपरी मार्जिन के अंदर :

बताते चलें, खुदरा महंगाई अप्रेल में लगातार पांचवें महीने में रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया (RBI) के 6% के ऊपरी मार्जिन के अंदर रही है। इसके अलावा खुदरा मुद्रास्फीति मे आई गिरावट का मुख्य कारण खाद्य कीमतों में की गई कटौती को ही माना जा रहा है। बता दें, खाद्य महंगाई ( उपभोक्ता खाद्य मूल्य सूचकांक) का आंकड़ा अप्रैल में 2.02% पर था, जबकि खाद्य महंगाई का यही आंकड़ा मार्च में 4.87% पर था।

RBI की मौद्रिक नीति समिति की बैठक :

बताते चलें, हाल ही में RBI की मौद्रिक नीति समिति की अप्रैल की बैठक हुई थी। प्राप्त जानकारी के अनुसार, इस बैठक में सदस्यों ने महंगाई के लिए जोखिमों के बारे में चिंताओं पर चर्चा की थी और इस वित्तीय वर्ष की पहली छमाही के लिए महंगाई के प्रक्षेपण को 5.2% तक बढ़ा दिया था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co