सतीश कुमार ने ग्रहण किया महाप्रबंधक उत्तर मध्य रेलवे का पदभार
सतीश कुमार ने ग्रहण किया महाप्रबंधक उत्तर मध्य रेलवे का पदभारSocial Media

सतीश कुमार ने ग्रहण किया महाप्रबंधक उत्तर मध्य रेलवे का पदभार

यात्रियों को बेहतर सुविधाएं प्रदान करना और यात्रा अनुभव में निरंतर सुधार के लिए काम करना और तेजी से बढ़ते यातायात को संभालने के लिए क्षमता वृद्धि हमारी प्राथमिकता रहेगी : सतीश कुमार

प्रयागराज, उत्तर मध्य। सतीश कुमार ने महाप्रबंधक/उत्तर मध्य रेलवे का पदभार ग्रहण किया। सतीश कुमार ने आज प्रयागराज पहुंचने पर उत्तर मध्य रेलवे मुख्यालय में अधिकारियों की बैठक को संबोधित किया। बैठक में सभी प्रमुख विभागाध्यक्ष, वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे और तीनों मंडलों के मंडल रेल प्रबंधक, शाखा अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक में शामिल हुए।

ज्ञात हो कि, सतीश कुमार, एमएनआईटी जयपुर से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में बी.टेक है और इंदिरा गांधी राष्ट्रीय ओपेन विश्वविद्यालय से ऑपरेशन मैनेजमेंट और पीजीसीसीएल (साइबर लॉ)में पीजी डिप्लोमा हासिल किया है। वह भारतीय रेल यांत्रिक इंजीनियरिंग सेवा के 1986 बैच के अधिकारी हैं। उन्होंने अपने रेल सेवा मार्च, 1988 में प्रारंभ की और उन्हें भारतीय रेलवे में काम करने का 34 वर्षों का समृद्ध अनुभव है।

उन्होंने पूर्व के मध्य रेलवे के झांसी डिवीजन और बीएलडब्ल्यू (डीजल रेल इंजन कारखाना, वाराणसी), पूर्वोत्तर रेलवे, गोरखपुर तथा पटियाला लोकोमोटिव वर्क्स में काम किया। उन्होंने 1996 में यूएनडीपी कार्यक्रम के तहत टोटल क्वालिटी प्रबंधन में प्रशिक्षण प्राप्त किया था और साथ ही सतीश कुमार ने अपने करियर में कई परियोजनाओं का दायित्व संभाला है। श्री कुमार ने फॉग सेफ डिवाइस में सुधार लाने में विशेष योगदान दिया है। यह डिवाइस कोहरे की अवधि में सुरक्षित ट्रेन संचालन में बहुत महत्वपूर्ण साबित हुई है।

उन्होंने अप्रैल, 2017 से अप्रैल, 2019 तक उत्तर रेलवे में मंडल रेल प्रबंधक, लखनऊ मंडल के रूप में भी काम किया। डीआरएम/लखनऊ के रूप में उनके कार्यकाल के दौरान बड़ी संख्या ढांचागत कार्य पूरे किए गए। कुंभ, 2019 के दौरान उनके कार्यों की सभी स्तरों पर सराहना की गई। ये एक बहुत बड़ी चुनौती थी जिसको उनके नेतृत्व में लखनऊ डिवीजन टीम द्वारा सफलतापूर्वक पूरा किया गया। महाप्रबंधक उत्तर मध्य रेलवे का पदभार ग्रहण करने से पहले, उन्होंने उत्तर पश्चिम रेलवे जयपुर में एसडीजीएम और सीवीओ के रूप में काम किया।

उनकी प्राथमिकता यात्रियों को सुविधाएं प्रदान करना और यात्री यात्रा के अनुभव में निरंतर सुधार और यातायात को संभालने में क्वांटम जंप के लिए क्षमता वृद्धि के लिए काम करना होगा। बैठक के दौरान अधिकारीरियों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि यात्रियों को बेहतर सुविधाएं प्रदान करना और यात्रा अनुभव में निरंतर सुधार के लिए काम करना और तेजी से बढ़ते यातायात को संभालने के लिए क्षमता वृद्धि हमारी प्राथमिकता रहेगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co