Saudi Aramco can deal with Reliance Industries of India
Saudi Aramco can deal with Reliance Industries of India|Kavita Singh Rathore -RE
व्यापार

'सऊदी अरामको' कर सकती है भारत की रिलायंस इंडस्ट्रीज के साथ डील

'सऊदी अरामको' के इरादे अब भारत में निवेश करने के नजर आ रहे हैं। कंपनी की भारत की दिग्गज रिलायंस इंडस्ट्रीज से 20% की हिस्सेदारी की डील को लेकर बातचीत चल रही है।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

राज एक्सप्रेस। दुनिया की जानी-मानी और राजस्व के हिसाब से सबसे बड़ी कंपनी 'सऊदी अरामको' के इरादे अब भारत में निवेश करने के नजर आ रहे हैं। कंपनी के क्रियाकलापों को देखते हुए कंपनी भारत में निवेश के अवसर तलाश रही है। इसको लेकर कंपनी की भारत से डील होने की सम्भावना नजर आ रही है। आपको बताते चलें कि, ऊर्जा जरूरतों के लिहाज से देखा जाये तो, भारत एक बहुत बड़ा बाजार है। भारत में निवेश की भी संभावनाएं काफी व्यापक हैं।

अरामको की डील :

दरअसल, सऊदी अरामको कंपनी की भारत की दिग्गज रिलायंस इंडस्ट्रीज से बातचीत चल रही है। इस बातचीत के तहत अरामको की रिलायंस इंडस्ट्रीज से 75 अरब डॉलर के कारोबार में से 20% की हिस्सेदारी खरीदने को लेकर डील चल रही है। बता दें, भारत 83% पेट्रोलियम से जुड़ी जरूरतें आयात द्वारा पूरा करता है और इसलिए ही अगर यह डील फाइनल हो जाती है तो, यह समझौता काफी फायदेमंद साबित होने की पूरी उम्मीद है। खबरों के अनुसार अरामको की नजर हिस्सेदारी लेने के लिए भारत के अलावा एशिया के कई अलग-अलग देशों पर भी है।

अरामको की रिपोर्ट :

अरामको द्वारा उसकी वार्षिक रिपोर्ट जारी की गई थी जिसमे साफ तौर पर बताया गया था कि, कंपनी उच्च वृद्धि वाले बाजारों के साथ ऐसे देशों में निवेश के अवसर तलाश रही है, जो कच्चे तेल का आयात करते हैं और उसी पर पूर्ण रूप से निर्भर हैं। वहीं, भारत में सालभर में होने वाली ईंधन की खपत 4-5% की दर से बढ़ रही है। इतना ही नहीं, भारत में कच्चे तेल का दूसरा सबसे बड़ा आपूर्तिकर्ता सऊदी अरब ही है। कंपनी ने साल की रिपोर्ट में यह भी बताया कि,

'सऊदी अरामको, चीन, भारत और दक्षिण पूर्व एशिया सहित उच्च वृद्धि वाले क्षेत्रों में अपना निवेश बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित कर रही है। इसके अलावा कंपनी निवेश के लिए अमेरिका, जापान और दक्षिण कोरिया जैसे देशों पर भी फोकस कर रही है।'

सऊदी अरामको

मुकेश अंबानी का ऐलान :

भारत के सबसे अमीर व्यक्ति और दिग्गज कारोबारी मुकेश अंबानी ने बीते साल 2019 के अगस्त माह में अपने कारोबार में 20% हिस्सेदारी सऊदी अरब की सऊदी अरामको कंपनी को बेचने से जुड़ी डील को लेकर घोषणा की थी। साथ ही रिलायंस ने अपने ईंधन रिटेलिंग कारोबार की 49% हिस्सेदारी 7,000 करोड़ रुपये में ब्रिटेन की bp PLC को बेची।

मोर्गन स्टेनली की रिपोर्ट :

मोर्गन स्टेनली द्वारा 19 मार्च को रिलीज किये गए रिसर्च नोट में कहा गया है कि, अरामको कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज के कारोबार में निवेश करने के लिए पहले जांच परख करने में जुटी है। बस इस प्रस्ताव के मूल्यांकन के पूरा होने की देर है, यह प्रस्ताव पास होते ही इस डील का स्तर एक कदम आगे बढ़ जाएगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co