वित्त वर्ष की पहली तिमाही में घटा SBI का मुनाफा

भारतीय स्टेट बैंक (SBI) का मुनाफा भी वित्त वर्ष 2022-2023 की पहली तिमाही (अप्रैल-जून) में घट गया है। इसक अंदाजा SBI द्वारा 6 अगस्त को जारी किए गए ताजा आंकड़ो से लगाया जा सकता है।
वित्त वर्ष की पहली तिमाही में घटा SBI का मुनाफा
वित्त वर्ष की पहली तिमाही में घटा SBI का मुनाफाSyed Dabeer Hussain - RE

राज एक्सप्रेस। देश में कोरोना के मामलों को बढ़ता देखते हुए लागू किए गए लॉकडाउन के चलते लगभग सभी कार्यालय बंद रहे थे। जिससे लगभग सभी सेक्टरों को भारी नुकसान उठाना पड़ा था। हालांकि, पिछले साल और इस साल के दौरान सभी बैंकों में रेग्युलर कार्य हो रहा था। इसके बाद भी भारत के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) का मुनाफा भी वित्त वर्ष 2022-2023 की पहली तिमाही (अप्रैल-जून) के काफी घटा है। इसक अंदाजा SBI द्वारा जारी किए गए ताजा आंकड़ो से लगाया जा सकता है। जो कि, SBI ने 6 अगस्त को जारी किए हैं।

SBI का मुनाफा घटा :

दरअसल, भारत के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) द्वारा वित्त वर्ष 2022-23 की पहली तिमाही के आंकड़े जारी किए गए हैं। इन आंकड़ों के मुताबिक SBI को जून तिमाही में नुकसान का सामना करना पड़ा। SBI का शुद्ध मुनाफा सालाना आधार पर 6.7% घटकर 6,058 करोड़ रुपए पर आ पहुंचा है। जबकि, पिछले साल की समान तिमाही में SBI का नेट प्रॉफिट 6504 करोड़ रुपएदर्ज किया गया था।

SBI की आय में दर्ज हुई गिरावट :

बताते चलें, वित्त वर्ष 2022-23 की पहली तिमाही के दौरान भारतीय स्टेट बैंक (SBI) में भी गिरावट दर्ज हुई है और बैंक की आय गिरकर 74,998.57 करोड़ रुपए पर जा पहुंची हैं। जबकि, पिछले साल की समान अवधि मेंSBI की आय 77,347.17 करोड़ रुपए दर्ज की गई थी। वहीँ, वित्त वर्ष 2022-23 की पहली तिमाही में SBI की स्टैंडएलोन आय भी घटकर 74,998.57 करोड़ रुपए रह गई है। जो पिछले साल की समान तिमाही में 77,347.17 करोड़ रुपए थी।

SBI की नेट इंटरेस्ट इनकम :

जून तिमाही में SBI की नेट इंटरेस्ट इनकम (NII) में 12.87% की बढ़त दर्ज हुई है। इस बढ़त के बाद यह बढ़कर 31,196 करोड़ रुपए पर जा पहुंची है। जबकि यह पिछले साल की सामान अवधि में 27,638 करोड़ रुपए थी।

SBI को हुए इस घाटे का मुख्य कारण :

वहीं, SBI को हुए इस घाटे का मुख्य कारण जाने तो, यह घाटा यह नॉन-इंटरेस्ट इनकम में आई बड़ी गिरावट के चलते हुआ है। SBI का नॉन-इंटरेस्ट इनकम जून तिमाही में 2,312 करोड़ रुपए दर्ज किया गया। जबकि, यह पिछले साल की सामान अवधि में 11,802 करोड़ रुपए था।

SBI का NPA :

SBI के ग्रॉस NPA की बात करें तो, इस दौरान बैंक का ग्रॉस NPA सुधरकर 3.91% पर आ गया है। जबकि, पिछले वित्त वर्ष की जून तिमाही में 5.32% था। हालांकि, शुद्ध NPA पिछले वर्ष की जून तिमाही के 1.7% से घटकर जून 2022 में 1.02% हो गया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co