SEBI ने लगाया शेयर बाजार में 85 कंपनियों की ट्रेडिंग पर बैन

कैपिटल मार्केट रेगुलेटर SEBI ने एक बड़ा फैसला लेते हुए 85 एंटिटीज पर शेयर बाजार में कारोबार करने पर बैन लगा दिया है। हालांकि, इन पर यह बैन किसी बड़े कारण के चलते लगाया गया है।
SEBI ने लगाया शेयर बाजार में 85 कंपनियों की ट्रेडिंग पर बैन
SEBI ने लगाया शेयर बाजार में 85 कंपनियों की ट्रेडिंग पर बैनSyed Dabeer Hussain - RE

राज एक्सप्रेस। यदि आप शेयर बाजार में अपना पैसा लगाते हैं तो, हो सकता है, ये खबर आपके काम की हो। मार्केट रेगुलेटर सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड (SEBI) द्वारा समय-समय पर वित्तीय नियमों में बदलाव किए जाते रहे हैं। वहीं, इस बार कैपिटल मार्केट रेगुलेटर SEBI ने एक बड़ा फैसला लेते हुए 85 एंटिटीज पर शेयर बाजार में कारोबार करने पर बैन लगा दिया है। हालांकि, इन पर यह बैन किसी बड़े कारण के चलते लगाया गया है।

SEBI ने लगाया बैन :

दरअसल, मार्केट रेगुलेटर सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड (SEBI) शेयर मार्केट की एक एक गतिविधियों और शेयर बाजार से जुड़ी एक-एक कंपनी पर बारीकी से नजर रखती है। इसी के चलते SEBI समय-समय पर नियम में बदलाव करता रहता है साथ ही किसी कंपनी द्वारा किये गए उस नियम के उलंघन पर उसके खिलाफ एक्शन भी ले सकता है। वहीं, अब SEBI ने सरराइज एशियन लिमिटेड (Sunrise Asian Ltd) समेत 85 एंटिटीज कड़ा एक्शन लेते हुए इनपर बैन लगा दिया है। इन सभी एंटिटीज पर आरोप है कि, इन्होने शेयर प्राइस में हेराफेरी की है। इसलिए SEBI ने सभी कंपनियों पर 1 साल के लिए बैन लगा दिया है।

SEBI ने जारी किए आदेश :

इस मामले में SEBI ने आदेश जारी करते हुए Sunrise Asian और उसके पांच डायरेक्टर्स को कैपिटल मार्केट से एक साल के लिए और 79 इकाइयों को 6 महीनों के लिए बैन कर दिया है। SEBI ने यह एक्शन जाँच के बाद लिया है और सनराइज एशियन के शेयरों की जांच प्रिंसिपल इनकम टैक्‍स डायरेक्‍टर (इन्‍वेस्टिगेशन), कोलकाता से मिले एक संदर्भ के आधार पर 16 अक्टूबर, 2012 से 30 सितंबर, 2015 की अवधि में की गई।

जाँच में SEBI ने पाया :

की गई जाँच में SEBI ने पाया कि, 'विलय स्‍कीम के तहत शेयरों के आवंटन के मुताबिक, सनराइज एशियन और उसके तत्कालीन डायरेक्टर्स ने एक व्यवस्था बनाई थी, जिसके तहत 83 संबंधित संस्थाओं ने जांच अवधि के दौरान ट्रेडिंग के चार पैच में शेयरों की कीमत में हेरफेर किया था, जिससे धोखाधड़ीपूर्ण और अनफेयर ट्रेड प्रैक्टिस (PFUTP) मानकों का उल्लंघन हुआ है. सेबी ने पाया कि 83 में से 77 संस्थाएं, 1059 संस्थाओं/आवंटियों की ओर से बनावटी रूप से बढ़ा-चढ़ाकर या हेरफेर किए गए मूल्य पर शेयरों की बिक्री के काउंटरपार्ट थे, जिससे नियमों का उल्लंघन हुआ।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co