सीरम इंस्टीट्यूट ने वॉलेंटियर के लिए जारी की मानहानि का केस करने की चेतावनी
CII issued a defamation case warning for VolunteerSyed Dabeer Hussain - RE

सीरम इंस्टीट्यूट ने वॉलेंटियर के लिए जारी की मानहानि का केस करने की चेतावनी

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (CII) ने रविवार को वैक्सीन के ट्रायल के दौरान ट्रायल में शामिल हुए एक वॉलेंटियर को 100 करोड़ रूपये का मानहानि का केस करने की चेतावनी देते हुए एक बयान जारी किया।

राज एक्सप्रेस। पूरी दुनिया में तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मामलों के बीच कई देश कोरोना की वैक्सीन तैयार करने में जुटे हैं। वहीं, इसी रेस में भारत की तीन कंपनियों में शुमार सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (CII) की वैक्सीन का ट्रायल अपने अंतिम चरण में है। इसी ट्रायल के दौरान सीरम इंस्टीट्यूट ने रविवार को ट्रायल में शामिल हुए चेन्नई के एक वॉलेंटियर को 100 करोड़ रूपये का मानहानि का केस करने की चेतावनी देते हुए एक बयान जारी किया।

क्या है मामला ?

दरअसल, भारत की फार्मा कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (CII) द्वारा एस्ट्राजेनेका के साथ मिलकर तैयार की गई वैक्सीन अपने ट्रायल के अंतिम चरण में है। इस ट्रायल में कई वॉलेंटियर्स ने भाग लिया हैं इन्ही में से चेन्नई के एक वॉलेंटियर को रविवार को सीरम इंस्टीट्यूट 100 करोड़ रूपये का मानहानि का केस करने की चेतावनी देते हुए अपने बयान में कहा कि, वैक्सीन ट्रायल और वॉलेंटियर की चिकित्सा स्थिति का कोई संबंध नहीं है। कंपनी को प्रतिभागी की चिकित्सा स्थिति को लेकर चिंता थी, लेकिन वह वैक्सीन ट्रायल पर अपनी चिकित्सा समस्याओं के लिए झूठा आरोप लगा रहा था।

वॉलेंटियर के परिवार ने CII को भेजा नोटिस :

बता दें, ये चेतावनी इस लिए जारी की गई है क्योंकि, ट्रायल में शामिल एक वॉलेंटियर का कहना था कि, वह ट्रायल के दौरान गंभीर रूप से बीमार पड़ गया। साथ ही वॉलेंटियर के परिवार ने CII ने को एक कानूनी नोटिस भेज कर कंपनी के पर आरोप लगाए है। वहीं, CII ने अपने ऊपर लगे आरोपों को दुर्भावनापूर्ण और गलत ठहराया है। इन आरोपों के चलते ही मानहानि का केस करने की चेतावनी देते हुए एक बयान जारी किया।

सीरम इंस्टीट्यूट का बयान :

सीरम इंस्टीट्यूट द्वारा जारी किए गए बयान में कहा गया है कि, मेडिकल टीम ने पहले ही वॉलेंटियर को जानकारी दे दी थी कि, उसकी चिकित्सा समस्या का वैक्सीन ट्रायल से कोई लेना-देना नहीं है। साथ ही कंपनी ने आरोप लगते हुए कहा है कि, इसके बावजूद वॉलेंटियर का सार्वजनिक जाकर बयान देना पैसा ऐंठने का एक तरीका था। वॉलेंटियर ने कंपनी की छवि को धूमिल करने की कोशिश की है। इसी के चलते CII ने वॉलेंटियर को चेतावनी दी और और कहा है की कंपनी वॉलेंटियर से 100 करोड़ रुपये के मुआवजे की मांग कर सकती है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co