shapoor ji mistri
shapoor ji mistriRaj Express

तात्कालिक जरूरतें पूरी करने के लिए टाटा संस के शेयर गिरवी रखकर धन जुटाएगा शापूरजी पालोनजी समूह

शापूरजी पालोनजी ग्रुप (एसपी ग्रुप) अपनी तात्कालिक जरूरतें पूरी करने के लिए पूंजी जुटाने के क्रम में टाटा संस के कुछ शेयरों की गिरवी रख सकता है।

राज एक्सप्रेस। शापूरजी पालोनजी ग्रुप (एसपी ग्रुप) अपनी तात्कालिक जरूरतें पूरी करने के लिए पूंजी जुटाने के क्रम में टाटा संस के कुछ शेयरों की गिरवी रख सकता है। ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार टाटा संस टाटा ग्रुप की होल्डिंग कंपनी है। इसमें शापूरजी पलौंजी ग्रुप की 18 फीसदी हिस्सेदारी है। सूत्रों के मुताबिक अरबपति कारोबारी शापूर मिस्त्री की अगुवाई वाला यह समूह एक प्राइवेट क्रेडिट फैसिलिटी के जरिए 1.6 अरब डॉलर की कैपिटल जुटाना चाहता है। इसकी अवधि तीन साल की हो सकती है और इंटरेस्ट रेट डबल डिजिट में हो सकता है। शापूरजी पलौंजी ग्रुप इंजीनियरिंग और इन्फ्रास्ट्रक्चर सेक्टर में एक्टिव है। पालोनजी मिस्त्री के बेटे साइरस मिस्त्री को 2012 में रतन टाटा की जगह टाटा संस का चेयरमैन बनाया गया था, लेकिन चार साल बाद 2016 में उन्हें अचानक पद से हटा दिया गया था। इसके बाद से ही दोनों ग्रुपों में ठनी हुई है। टाटा ग्रुप ने टाटा संस में एसपी ग्रुप की हिस्सेदारी खुद खरीदने का प्रस्ताव दिया था, लेकिन मिस्त्री परिवार इसके लिए तैयार नहीं था।

लंबे समय से धन जुटाने का प्रयास कर रहा है समूह

शापूरजी पलौंजी ग्रुप के प्रवक्ता ने इस बारे में कोई भी टिप्पणी करने से इन्कार कर दिया। ग्रुप लंबे समय से कैश जुटाने की योजना बना रहा है। अप्रैल में खबर आई थी कि ग्रुप अपनी फ्लैगशिप इंजीनियरिंग कंपनी में कंट्रोलिंग स्टेक बेचकर दो अरब डॉलर जुटाने की तैयारी में है। पिछले साल ग्रुप ने वॉटर प्यूरिफायर इक्विपमेंट बनाने वाली कंपनी यूरेका फोर्ब्स को एडवेंट इंटरनेशनल के हाथों बेच दिया था। साथ ही स्टर्लिंग एंड विल्सन रिन्यूएबल एनर्जी को रिलायंस इंडस्ट्रीज को बेच दिया था। इस बिक्री के बाद एसपी ग्रुप ने बैंकों के 1.5 अरब डॉलर चुकाए थे।

डील आर्गेनाइज कर रहे डायचे बैंक और स्टैंडर्ड चार्टर्ड

बताया जाता है कि डायचे बैंक एजी और स्टैंडर्ड चार्टर्ड पीएलसी प्राइवेट क्रेडिट डील को ऑर्गेनाइज कर रहे हैं। इस बातचीत में आनटारियो म्यूनिसिपल एम्प्लाइज रिटायरमेंट सिस्टेम, वर्डे पार्टनर्स एलपी, सेर्बेरस कैपिटल मैनेजमेंट एलपी और फेरोलान कैपिटल मैनेजमेंट एलएलसी भी शामिल हैं। इस कवायद से जुटाई जाने वाली राशि का कुछ हिस्सा बैंकों के कर्ज के भुगतान में इस्तेमाल किया जाएगा। इस बारे में जायचे विले और आनटैरियो म्यूनिसिपल ने इस पर टिप्पणी करने से इन्कार कर दिया। दूसरे बैंकों और इनवेस्टर्स ने तत्काल इस पर कोई टिप्पणी नहीं की।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co