Big fall in share market
Big fall in share marketRaj Express

Share Market Crash: बीएसई सेंसेक्स 1,300 अंक टूटा, बैंक निफ्टी में 1,863.30 अंक की गिरावट

Share Market Fall:12-57 PM: बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स, निफ्टी और बैंक निफ्टी में आज बड़ी गिरावट देखने को मिली है।

हाईलाइट्स

  • कमजोर नतीजों के बाद एचडीएफसी बैंक के शेयरों में 6% की गिरावट

  • आईटी-फार्मा के शेयरों में प्राफिट बुकिंग ने गिरावट को प्रोत्साहित किया

  • यूएस सेंट्रल बैंक फेडरल रिजर्व की घोषणा के बाद बाजार में फैली निराशा

राज एक्सप्रेस । भारतीय शेयर बाजार बुधवार 17 जनवरी को भारी गिरावट के साथ खुले। बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स शुरुआती कारोबार में 1,371.23 अंक गिरकर 71,757.54 अंक पर आ गया। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 395.35 अंक टूटकर 21,636.95 पर जा पहुंचा। सेंसेक्स की कंपनियों में एचडीएफसी बैंक के दिसंबर तिमाही के नतीजों के बाद उसके शेयर में 6 प्रतिशत की गिरावट देखने को मिली है। इससे बैंकिंग शेयर आज दूबाव में कारोबार कर रहे हैं। इसके अलावा, बाजार में आई आज की गिरावट के कई अन्य वजहें हैं। बैंक निफ्टी में 12.40 बजे तक 1,818.10 अंक की गिरावट के साथ 46,307.00 के स्तर पर गिर गया। आज के दिन बैंक निफ्टी में 3.78% गिरावट देखने को मिली है। यह यूक्रेन युद्ध के बाद सबसे बड़ी गिरावट है।

शेयर बाजार के विशेषज्ञों के अनुसार आज की गिरावट का नेतृत्व आईटी और फार्मा सेक्टर में की जाने वाली प्राफिट बुकिंग ने किया। इसके अलावा एचडीएफसी बैंक के शेयरों में लगभग छह फीसदी की गिरावट देखने को मिली। उल्लेखनीय है कि आज की गिरावट में एचडीएफसी का प्रमुख योगदान रहा है, क्योंकि एचडीएफसी का सेंसेक्स और निफ्टी में बड़ा वेटेज है।

उल्लेखनीय है कि बुधवार 17 जनवरी को एचडीएफसी बैंक के शेयर 6 फीसदी गिरावट के साथ खुले। बैंक का दिसंबर तिमाही शुद्ध मुनाफा और ब्याज से होने वाली आय में बाजार की अनुमानों के मुताबिक रहा, लेकिन तिमाही आधार पर सपाट मार्जिन ने निवेशकों को निराश किया। सपाट मार्जिन से यह संदेश गया कि अतिरिक्त कैपिटल का बैंक को फायदा होता नहीं दिख रहा है। इसकी वजह से बाजार में फैली निराशा ने अन्य शेयरों मे्ं भी गिरावट को प्रोत्साहित किया।

बाजार में गिरावट की दूसरी बड़ी वजह, ब्याज दरों में कटौती की उम्मीद का धूमिल होना भी बताया जा रहा है। अमेरिकी फेडरल रिजर्व ने संकेत दिया कि वह ब्याज दर में उम्मीद से धीमी गति से कमी कर सकता है। इससे मार्केट सेंटीमेंट कमजोर हुआ है। फेड गवर्नर क्रिस्टोफर वालर ने कहा कि केंद्रीय बैंक इस साल ब्याज दरों में कटौती करेगा, लेकिन इस प्रक्रिया में समय लग सकता है। उन्होंने कहा अमेरिका में महंगाई दर केंद्रीय बैंक की ओर से तय किए गए दो प्रतिशत के लक्ष्य से फिलहाल काफी दूर है।

आज की गिरावट की एक वजह यह रही कि हालिया तेजी की वजह से निवेशक मुनाफावसूली के लिए प्रेरित हुए हैं। इस वजह से शेयर बाजार में गिरावट देखने को मिली है। हालांकि, विश्लेषकों ने निवेशकों को इस गिरावट से परेशान नहीं होने को कहा है। उन्होंने निवेशकों ने हर गिरावट को खरीदारी के मौके के रूप में देखने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था तेजी से विकास कर रही है। कॉरपोरेट अर्निंग्स भी संतोषजनक हैं। यह शेयर बाजार में बने रहने की महत्वपूर्णँ वजह है।

वैश्विक शेयर बाजारों में भी आज आज के दिन कमजोरी देखने को मिल रही है। बॉन्ड यील्ड बढ़ने से अमेरिकी शेयर बाजार गिरावट के साथ बंद हुए हैं। एशियाई बाजारों में दक्षिण कोरिया का कॉस्पी, चीन का शंघाई कम्पोजिट और हांगकांग का हैंगसेंग नुकसान देखने को मिला, जबकि जापान का निक्की लाभ में ट्रेड करता दिखाई दिया।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co