दक्षिण कोरिया का कॉस्मेटिक उद्योग कोरोना के चलते बुरी तरह प्रभावित
South Korea's cosmetic industry affected due to CoronaSocial Media

दक्षिण कोरिया का कॉस्मेटिक उद्योग कोरोना के चलते बुरी तरह प्रभावित

दक्षिण कोरिया के कॉस्मेटिक उद्योग पर कोरोना की बहुत बुरी मार पड़ी है, जिससे यह उद्योग काफी मंदी की हालत में आगया है।

राज एक्सप्रेस। कोरोना वायरस के चलते आई मंदी की चपेट में कुछ ही ऐसे सेक्टर्स हैं जो, बच पाए हैं, लेकिन बहुत से सेक्टर्स कोरोना महामारी के चलते बुरी तरह प्रभावित हुए हैं। इन्हीं में दक्षिण कोरिया का कॉस्मेटिक उद्योग भी शामिल है। जी हां, दक्षिण कोरिया के कॉस्मेटिक उद्योग पर कोरोना की बहुत बुरी मार पड़ी है, जिससे यह उद्योग काफी मंदी की हालत में आगया है।

कॉस्मेटिक उद्योग पर कोरोना की मार :

दरअसल, कोरोना काल ऐसा समय लेकर आया है कि, ऐसे हालातों में कई बड़े से बड़े बिजनसमैन को नुकसान हुआ है और जो माध्यम वर्गीय लोग हैं उनकी भी जीवन शैली काफी प्रभावित हुई है। ऐसे में लोग सिर्फ जरूरी और आवश्यक सामान इस्तेमाल करना ज्यादा उचित समझते हैं। ऐसे में लोग कॉस्मेटिक के सामान को उतना जरूरी नहीं समझते हैं। यही कारण है कि, दक्षिण कोरिया के कॉस्मेटिक उद्योग को कोरोना के चलते हुए आर्थिक नुकसान उठाना पड़ा है।

बाजार के जानकारों का कहना :

कॉस्मेटिक उद्योग को हुए इस आर्थिक नुकसान को देखते हुए बाजार के जानकारों का भी कहना यही है कि, 'दुनिया भर के निवेशकों के लिए आकर्षण का केंद्र बनने वाले इस उद्योग पर कोरोना महामारी की बहुत तगड़ी मार पड़ी है। महामारी के कारण लोगों की जीवन शैली में आए बदलाव की वजह से सौंदर्य प्रसाधनों की बिक्री में जबरदस्त गिरावट दर्ज की गई है।

KPMG की एक रिपोर्ट :

कोरियाई उद्योगों का अध्ययन करने वाली एजेंसी सैमजोंग KPMG ने हाल ही में एक रिपोर्ट जारी की है। उस रिपोर्ट के अनुसार, 'साल 2010 से 2014 के बीच विदेशी कंपनियों के बीच दक्षिण कोरियाई कॉस्मेटिक कंपनियों को खरीदने की होड़ लगी रही थी। इस दौरान इन कंपनियों ने इस क्षेत्र में साढ़े 21 करोड़ डॉलर का निवेश किया। उस दौर में कोरिया में बने कॉस्मेटिक्स को दुनिया भर के बाजारों में ले जाया गया। वहीं, साल 2014 से 2019 तक दक्षिण कोरिया कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स का दुनिया में चौथा सबसे बड़ा निर्यातक बना रहा। इन उत्पादों के निर्यात से इन वर्षों में 5 अरब डॉलर की विदेशी मुद्रा आई।

गोल्डमैन सैक्स ने किया कंपनी में निवेश :

बता दें, साल 2014 से 2019 के दौरान एस्टी लॉडर कंपनीज इन्स और गोल्डमैन सैक्स जैसी बहुराष्ट्रीय कंपनियों ने दक्षिण कोरिया के कॉस्मेटिक उद्योग में निवेश किए।' मुख्य तौर पर गोल्डमैन सैक्स ने जीपी क्लब कंपनी में निवेश किया, जिसकी वजह से इसके मालिक किम जंग वूंग दक्षिण कोरिया के सबसे धनी व्यक्तियों में एक हो गए।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co