South Western Railway hikes platform ticket prices by up to 400%
South Western Railway hikes platform ticket prices by up to 400%|Social Media
व्यापार

दक्षिण पश्चिम रेलवे ने 400% तक की प्लेटफार्म टिकट की कीमतों में बढ़ोतरी

दक्षिण पश्चिम रेलवे ने गुरुवार को एक बार फिर प्लेटफार्म टिकटों की कीमतों में बढ़ोतरी करने का ऐलान करते हुए 400% की बढ़ोतरी कर दी है।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

राज एक्सप्रेस। भारती रेलवे द्वारा अगस्त माह में पुणे डिवीजन में प्लेटफॉर्म टिकट की कीमत पांच गुना की बढ़ोतरी करते हुए टिकिट की कीमत 50 रुपये कर दी थी।रेलवे की इस घोषणा के बाद काफी बबल मचा था। सबका कहना है कि, रेलवे का प्लेटफॉर्म टिकट को अचानक पांच गुना बढ़ाकर 50 रूपये कर देने का फैसला गलत है और कोई भी इस फैसले से सहमत नहीं है। वहीं, अब दक्षिण पश्चिम रेलवे ने आज एक बार फिर प्लेटफार्म टिकटों की कीमत में 400% की बढ़ोतरी करने का ऐलान किया है।

दक्षिण पश्चिम रेलवे का कहना :

दरअसल, दक्षिण पश्चिम रेलवे द्वारा गुरुवार को प्लेटफार्म टिकटों की कीमत में 400% की बढ़ोतरी करने का ऐलान करते हुए कहा कि, रेलवे ने यह कदम कोरोना से बने हालातों को देखते हुए उठाया है। इस फैसले के बाद रेलवे स्टेशनों पर भीड़ जमा होने से रोका जा सकेगा। बता दें, दक्षिण पश्चिम रेलवे के चुने गए रेलवे स्टेशनों के प्लेटफार्म टिकट की कीमत में 10 रुपये से लेकर 50 रुपये तक की बढ़ोतरी की गई है।

दक्षिण पश्चिम रेलवे ने जारी की विज्ञप्ति :

बताते चलें, दक्षिण पश्चिम रेलवे द्वारा एक विज्ञप्ति जारी की गई है जिसके अनुसार, प्लेटफार्म टिकटों के दामों में अस्थायी बढ़ोतरी की गई है। यह नई दरें क्रांतिवीरा सांगोली रायान्ना सिटी रेलवे स्टेशन, बेंगलुरु छावनी और यशवंतपुर रेलवे स्टेशनों पर लागू होगी। बेंगलुरु डिवीजन से 12 सितंबर से सात जोड़ी ट्रेनों की सेवा शुरू की जाएंगी। जो कि, वर्तमान में चल रही ट्रेनों से अलग होंगी। दक्षिण पश्चिम रेलवे ने अपना मकसद साफ़ करते हुए कहा कि, प्लेटफार्मो पर भीड़ रोकने के लिए आगंतुकों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाना जरूरी है। इस फैसले से कोरोना फैलने से रोकथाम होगी।

प्लेटफॉर्म टिकिट के नियम :

यदि आपको न पता हो तो जान लें कि, यदि आप प्लेटफॉर्म टिकट लेकर स्टेशन पर जाते है तो यह टिकिट मात्र दो घंटे तक के लिए ही वैध रहता है। यदि आप इससे ज्यादा समय प्लेटफॉर्म पर बितत्ते है तो आपको नया टिकिट खरीदना पड़ेगा। रेलवे का मानना है कि, किसी के लिए भी अपने परिजनों को प्लेटफॉर्म पर ट्रेने में बिठाने या उन्हें स्टेशन से लेने के लिए दो घंटे का समय काफी है। ग्राहक इस टिकिट को ऑनलाइन UTS एप के माध्यम से भी खरीद सकते हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co