ब्रिटेन से आने वाली फ्लाइट्स का निलंबन बढ़ा, उड्डयन मंत्री ने दी जानकारी
Suspension extended on UK flights until 7 January 2021Kavita Singh Rathore -RE

ब्रिटेन से आने वाली फ्लाइट्स का निलंबन बढ़ा, उड्डयन मंत्री ने दी जानकारी

सरकार ने DGCA को ब्रिटेन से आने वाली फ्लाइट्स को 31 दिसंबर तक रद्द करने के आदेश दिए थे। वहीं, अब इस समय सीमा को बढ़ा दिया गया है। इस बारे में जानकारी नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने दी।

राज एक्सप्रेस। पूरी दुनिया में कोरोना का प्रकोप लगातार बढ़ ही रहा है। ऐसे में ब्रिटेन से कोरोना वायरस के मिलने वाले नए स्‍ट्रेन के भारत तक पहुंचने की खबर सामने आने से खलबली मच गई है। इस स्‍ट्रेन को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार एतियातन तौर पर कई उचित कदम उठा रही है। इसी के तहत सरकार ने नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (DGCA) को ब्रिटेन से आने वाली इंटरनेशनल फ्लाइट्स को 31 दिसंबर तक रद्द करने के आदेश दिए थे। वहीं, अब इस समय सीमा को बढ़ा दिया गया है। इस बारे में जानकारी नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने दी।

फ्लाइट्स का निलंबन बढ़ा :

दरअसल, नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (DGCA) ने एतियातन तौर पर ब्रिटेन से आने वाली सभी फ्लाइट्स को 31 दिसंबर की रात 11:59 बजे तक निलंबित कर दिया है। वहीं, DGCA अब इस निलंबन की समय अवधि को 7 जनवरी 2021 बढ़ा दिया है। यानी अब ब्रिटेन से आने जाने वाली सभी फ्लाइट्स 7 जनवरी तक रद्द रहेंगी। इस बारे में जानकारी देते हुए नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने आज बताया कि,

'ब्रिटेन में मौजूदा स्थिति को देखते हुए भारत सरकार ने फैसला किया है कि ब्रिटेन से भारत आने वाली सभी उड़ानें अस्थायी रूप से 7 जनवरी 2021 रात 11:59 बजे तक निलंबित रहेंगी। ये निलंबन 22 दिसंबर को रात 11.59 बजे शुरू हुआ था।'
रदीप सिंह पुरी, नागरिक उड्डयन मंत्री

भारत में मिला नया स्‍ट्रेन :

बताते चलें, अब ब्रिटेन से मिलने वाले स्‍ट्रेन के भारत में भी मिलने की पुष्टि हुई है। इसके अलावा अब तक ब्रिटेन से आए 20 से ज्यादा लोगों में कोरोना वायरस का नया स्‍ट्रेन मिला है। साथ ही बुधवार को 13 और लोगों के नए कोरोना के स्‍ट्रेन से संक्रमित होने की खबर मिली है। इस स्‍ट्रेन के चलते ही नागर विमानन मंत्रालय ने पिछले हफ्ते ब्रिटेन और भारत के बीच आने जाने वाली फ्लाइट्स को रद्द करने की घोषणा 23 दिसंबर को की थी।

इनकी सिफारिश पर लिया गया फैसला :

बता दें, ब्रिटेन से आने जाने वाली फ्लाइट्स पर रोक का फैसला इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के जनरल डायरेक्टर, नीति आयोग के अध्यक्ष, स्वास्थ्य सेवा महानिदेशक (DGHS) और नेशनल टास्क फोर्स की संयुक्त निगरानी समूह (JMG) की सिफारिश पर लिया गया है। बताते चलें, नागरिक उड्डयन मंत्रालय को यह सलाह भी दी गई है कि, 7 जनवरी 2021 के बाद भी ब्रिटेन से आने वाली फ्लाइट्स की संख्या को सीमित रखा जाये। इसका सख्ती से पालन किया जाये। हालांकि, ऐसा स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के सुझावों के बाद ही किया जाएगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co