CBSE बोर्ड ने किया बड़ा बदलाव, फेस रीडिंग से ही मार्कशीट डाउनलोड
CBSE board marksheet will be downloaded from face ridingKavita Singh Rathore - RE

CBSE बोर्ड ने किया बड़ा बदलाव, फेस रीडिंग से ही मार्कशीट डाउनलोड

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सैकंडरी एजुकेशन यानि CBSE बोर्ड ने मार्कशीट और डॉक्यूमेंट्स डाउनलोड करने के नियमों में किए गए बदलावों के तहत एक नया सिस्टम शुरु किया है।

राज एक्सप्रेस। अब तक सभी स्टूडेंट्स अपनी बोर्ड परीक्षा का रिजल्ट ऑनलाइन अपने रोल नंबर के माध्यम से देखा करते थे, लेकिन अब सेंट्रल बोर्ड ऑफ सैकंडरी एजुकेशन यानि CBSE बोर्ड द्वारा 10वीं-12वीं के स्टूडेंट्स की मार्कशीट और दूसरे डॉक्यूमेंट्स डाउनलोड करने के नियमों में किए गए हैं।

CBSE बोर्ड ने किया बड़ा बदलाव :

दरअसल, सेंट्रल बोर्ड ऑफ सैकंडरी एजुकेशन यानि CBSE बोर्ड ने मार्कशीट और डॉक्यूमेंट्स डाउनलोड करने के नियमों में किए गए बदलावों के तहत एक नया सिस्टम शुरु किया है। बता दें, CBSE बोर्ड ने डॉक्यूमेंट्स डाउनलोड करने के लिए फेशियल रिकग्निशन सिस्टम की शुरुआत की हैं। इससे स्टूडेंट्स फेस रीडिंग के द्वारा अपनी मार्कशीट डाउनलोड कर सकेंगे। स्टूडेंट्स डिजिलॉकर की मदद से अपने मार्कशीट और डॉक्यूमेंट्स बिना आधार और मोबाइल नंबर के ही कहीं भी कभी भी डाउनलोड कर सकेंगे।

CBSE बोर्ड के स्पोक्सपर्सन ने बताया :

CBSE बोर्ड के स्पोक्सपर्सन रमा शर्मा ने बताया कि, 'लागू किए नए सिस्टम को स्टूडेंट्स डिजिलॉकर के माध्यम से एक्सेस कर सकेंगे। यदि कोई स्टूडेंट्स अपने डिजिलॉकर का पासवर्ड या अपना मोबाइल नंबर भूल गया हो या किसी अन्य कारणवश डिजिलॉकर नहीं खोल पा रहा हो तो, उनके लिए यह फेस रीडिंग काफी मददगार साबित होगा। खासकर फॉरेन में रहने वाले स्टूडेंट्स या ऐसे स्टूडेंट जिनके पास आधार कार्ड नहीं है।'

कैसे काम करेगा फेशियल रिकग्निशन सिस्टम :

रमा शर्मा ने बताया कि, 'यह एप्लिकेशन एक प्रकार का सॉफ्टवेयर है, जिसमें फेस को रीड करने के बाद डेटाबेस में पहले से ही स्टोर स्टूडेंट्स की डिटेल्स जैसे फोटो से इसे मैच करने के बाद मार्कशीट और सर्टिफिकेट उन्हें उपलब्ध कराए जाएंगे। इन डॉक्यूमेंट्स को स्टूडेंट्स अपनी सुविधा से बाद में डाउनलोड कर सकते हैं।

डिजिलॉकर से कैसे करें डाउनलोड :

यदि आप अपने डॉक्यूमेंट की इलेक्ट्रॉनिक कॉपी अपने पास रखना चाहते हैं तो, आपको प्लेस्टोर या iOS स्टोर से डिजिलॉकर (DigiLocker) डाउनलोड करना होगी। डाउनलोड करने के बाद आपको इस ऐप में अकाउंट बना कर OTP द्वारा वेरिफिकेशन प्रोसेस पूरी करके खुद को रजिस्टर करना होगा। इसके बाद आप अपने डॉक्यूमेंट को स्कैन करके इस ऐप में अपलोड कर दें। आपके डाक्यूमेंट्स इस ऐप में इलेक्ट्रॉनिक कॉपी के रूप में पूर्ण रूप से सुरक्षित रहेंगे। आप अपनी जरूरत के अनुसार डिजिलॉकर के द्वारा इन्हें कहीं भी दिखा सकते हैं। इस ऐप को अपने स्मार्टफोन में रखने से आप किसी भी तरह के डक्यूमेंट्स रखने से बच जाएंगे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co