भारत में हुई पहली 5G कॉल, 1G से लेकर 5G तक में क्या है G का मतलब
भारत में हुई पहली 5G कॉल, 1G से लेकर 5G तक में क्या है G का मतलबSyed Dabeer Hussain - RE

भारत में हुई पहली 5G कॉल, 1G से लेकर 5G तक में क्या है 'G' का मतलब

भारत में 5G नेटवर्क का परीक्षण (ट्रायल) सफल रहा। इसी का नतीजा है कि, देश में पहली 5G कॉल हो सकी। हालांकि, अब तक देशवासियों के लिए 5G सर्विस लांच नहीं हुई है। जानें, 1G से लेकर 5G तक की शुरुआत।

First 5G call in India : पिछले साल यह खबर आई थी कि, टेलीकॉम कंपनियां अपनी अपनी 5G सर्विस को लांच करने की तैयारियों में जुटी हुई हैं। इस खबर के सामने आते ही भारतवासी 5G नेटवर्क का इंतज़ार बेसब्री से कर रहे थे। हालांकि, इस दौरान 5G सर्विसेज शुरू करने में कई तरह की मुश्किलें आई, लेकिन अब इन सब के बाद भी भारत में 5G नेटवर्क का परीक्षण (ट्रायल) सफल रहा। इसी का नतीजा है कि, देश में पहली 5G कॉल हो सकी। हालांकि, अब तक देशवासियों के लिए 5G सर्विस लांच नहीं हुई है। जानें कब हुई पहली 5G कॉल और 1G से लेकर 5G तक की शुरुआत।

देश में हुई पहली 5G कॉल :

जी हां, देश में पहली 5G कॉल 19 मई को हो चुकी है। जो कि, संचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने IIT मद्रास में की थी। वैष्णव ने यह पहली 5G कॉल न केवल ऑडियो की बल्कि उन्होंने 5G वीडियो कॉल भी की। वहीं, उससे दो दिन पहले 17 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत का पहला 5G टेस्टबेड लॉन्च किया था। इस दौरान प्रधानमंत्री ने इस दशक के अंत तक देश में 6G सेवाएं भी शुरू करने के लक्ष्य को लेकर बात कही थी। देश में आज 1G से लेकर 5G तक सर्विस शुरू हो चुकी है। हालांकि, 5G सर्विस अभी आम जनता के लिए मुहैया नहीं कराइ गई है।

G का मतलब ?

बताते चलें, इन 1G से लेकर 5G तक की सर्विस में इस G का मतलब Generation से है जो Mobile Network की बढ़ती Generation है। जैसे-जैसे यह G बढ़ते है। वैसे वैसे इंटरनेट की स्पीड और सेवाएं और भी फास्ट और सरल होती जाती है। टेलीकॉम सेक्टर में इंटरनेट की दुनिया में कई बड़े बदलाव हुए हैं। देश में सबसे पहले 1G आया उसके बाद 2G आने से लोगों की ज़िंदगी में एक बड़ा बदलाव आया था।

1G की शुरुआत :

1G के समय में सिर्फ वॉयस कॉल ही संभव था। बता दें दुनिया में 1G की शुरुआत साल 1970 में जापान में हुई थी। इसमें आवाज की गुणवत्ता बहुत कम थी। क्योंकि, 1G एनलॉग सिस्टम पर काम करता था।

2G की शुरुआत :

दुनिया में 2G की शुरुआत साल 1991 में हुई थी। 2G पूरी तरह डिजिटल होने के कारण इसमें आवाज की गुणवत्ता में काफी सुधार देखने को मिला। इसी जनरेशन में CDMA और GSM सिस्टम की भी शुरुआत हुई थी। इसी के साथ ही मोबाइल उपभोक्ताओं को रोमिंग की सुविधा भी मिली थी। इस दौरान वॉयस कॉल के साथ ही SMS और MMS जैसी डाटा सेवाएं भी शुरू हो सकीय थी

3G की शुरुआत :

जब साल 2001 में दुनिया में 3G की शुरुआत हुई। तब तो मानों दुनिया का नक्शा ही बदलने लगा था। हालांकि, भारत में 3G की शुरुआत होने में काफी समाय लगा था। 3G सर्विस में 2G की तुलना में इसमें चार गुना ज्यादा इंटरनेट स्पीड मिलती थी। इसी जनरेशन ने ही मोबाइल फोन से वीडियो कॉलिंग, वेब ब्राउजिंग, ईमेल, नेविगेशनल मैप और म्यूजिक जैसी सुविधाओं को जन्म दिया था।

4G की शुरुआत :

बताते चलें, साल 2010 के लगभग जब भारत में 3G की शुरुआत हुई थी, ठीक उसी समय दुनिया में 4G की शुरुआत हो चुकी थी। 4G के दौर में हम अभी वर्तमान समय में जीवन जी रहे है। आप अंदाजा लगा सकते है कि, आपने एक पल में इस खबर को ओपन करके पढ़ना शुरू कर दिया। आप एक सेकंड से भी कम समय में किसी को वीडियो कॉल लगा सकते है। क्योंकि, 4G में हाई स्पीड, हाई क्वॉलिटी, हाई कैपसिटी वायस और डाटा सर्विस मिलती है। जो 3G की तुलना में लगभग 5 से 7 गुना ज्यादा तेज है। बता दें, भारत में 4G सर्विस सबसे पहले साल 2012 में एयरटेल ने लांच की थी।

4G और 5G में अंतर :

यदि आप काफी सालों से इंटरनेट का इस्तेमाल कर रहे होंगे तो अपने 3G और 4G नेटवर्क में अंतर साफ देखा होगा। चाहे वो स्पीड का हो या कॉल नेटवर्क का हो। ठीक उसी तरह 4G और 5G में भी काफी अंतर है। क्योंकि, 5G नेटवर्क में इंटरनेट की स्पीड 4G की तुलना में कई गुना ज्यादा तेज होने वाली है। यहीं आपको सबसे बड़ा अंतर नजर आने वाला है, क्योंकि, 4G में 100 मेगाबिट्स प्रति सेकंड (एमबीपीएस/Mbps) की स्पीड मिलती है,जबकि, 5G में यह 10 मेगाबिट्स प्रति सेकंड (जीपीएस/GPS) की मिलेगी। अधिक सरल भाषा में समझे तो, 5G की स्पीड 4G टेक्नोलॉजी की तुलना में सौ गुना तेज होगी और यह अंतर आपको डाउनलोडिंग स्पीड से साफ समझ आएगा ।

गौरतलब है कि, दक्षिण कोरिया, अमेरिका और कनाडा जैसे देशों में 5G की शुरुआत हो चुकी है। हालांकि, ऐसा माना जा रहा है कि, जल्द ही भारत में भी 5G की शुरुआत होगी। यदि केंद्र सरकार इस साल के अंत तक 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी करती है तो, इस साल के अंत तक या फिर अगले साल की शुरुआत में भारत में भी 5G सर्विस की शुरुआत हो जाएगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co