Android और iOS को टक्कर देने आ रहा स्वदेशी ‘BharOS’
Android और iOS को टक्कर देने आ रहा स्वदेशी ‘BharOS’Social Media

Android और iOS को टक्कर देने आ रहा स्वदेशी ‘BharOS’, जानिए इसकी खासियत

मौजूदा एंड्रॉइड ऑपरेटिंग सिस्टम में कई तरह के डिफॉल्ट एप आते हैं, जबकि स्वदेशी मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम ‘BharOS’ की खासियत है कि इसे ‘नो डिफॉल्ट एप्स’ के साथ लॉन्च किया गया है।

राज एक्सप्रेस। वह समय अब दूर नहीं जब भारत मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम के मामले में भी आत्मनिर्भर बन जाएगा। दरअसल वर्तमान में हम अपने स्मार्टफोन में Android और iOS जैसे ऑपरेटिंग सिस्टम का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन जल्द ही इन जैसे ऑपरेटिंग सिस्टम को एक स्वदेशी ऑपरेटिंग सिस्टम से कड़ी टक्कर मिलने वाली है। दरअसल हाल ही में आईआईटी मद्रास ने स्वदेशी मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम ‘BharOS’ बनाया किया है। इस ऑपरेटिंग सिस्टम को सरकार ने भी हरी झंडी दे दी है। तो चलिए जानते हैं कि स्वदेशी मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम ‘BharOS’ की खासियत के बारे में।

नो डिफॉल्ट एप :

मौजूदा एंड्रॉइड ऑपरेटिंग सिस्टम में कई तरह के डिफॉल्ट एप आते हैं, जबकि स्वदेशी मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम ‘BharOS’ की खासियत है कि इसे ‘नो डिफॉल्ट एप्स’ के साथ लॉन्च किया गया है। डिफॉल्ट एप ना होने से स्टोरेज भी अधिक मिलेगा और यूजर को कोई एप इस्तेमाल करने के लिए मजबूर भी नहीं किया जाएगा।

Native Over The Air :

‘BharOS’ को ‘नेटिव ओवर द एयर’ के साथ पेश किया गया है। इसका मतलब होता है कि इसमें भी एंड्रॉइड की तरह सॉफ्टवेयर अपडेट अपने आप डिवाइस पर डाउनलोड और इंस्टॉल हो जाएंगे।

पूरी तरह से सुरक्षित :

यह ऑपरेटिंग सिस्टम संगठन-विशिष्ट प्राइवेट एप स्टोर सर्विस (PASS) से विश्वनीय एप को एक्सेस करने की अनुमति देता है। PASS एप को पूरी तरह जांचने के बाद ही क्यूरेटेड लिस्ट तक पहुंचने की अनुमति देता है। ऐसे में ‘BharOS’ का इस्तेमाल करने वाले यूजर इस बात को लेकर आश्वस्त हो सकते हैं कि जिस एप को वह इनस्टॉल कर रहे हैं, वह पूरी तरह से सुरक्षित है।

प्राइवेसी का खास ध्यान :

दरअसल ‘BharOS’ को खास तौर पर उन लोगों के लिए बनाया गया है, जिन्हें सिक्योरिटी और प्राइवेसी की सख्त आवश्यकता है। वर्तमान में Android और iOS जैसे ऑपरेटिंग सिस्टम पर यूजर की निजी जानकारी चुराने के आरोप लगते रहे हैं। वहीं ‘BharOS’ को आईआईटी मद्रास प्रवर्तक टेक्नोलॉजीज फाउंडेशन द्वारा विकसित किया गया है। यह आईआईटी मद्रास की एक नॉट फॉर प्रॉफिट कंपनी है। यह पूरी तरह से भारत में बना है। ऐसे में ‘BharOS’ को एंड्रॉइड से ज्यादा भरोसेमंद माना जा रहा है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस यूट्यूब चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। यूट्यूब पर @RajExpressHindi के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co