Raj Express
www.rajexpress.co
Agent Smith Virus
Agent Smith Virus|Kavita Singh Rathore - RE
टेक & गैजेट्स

कही आपके स्मार्टफोन में भी तो नहीं छुपा है एजेंट-स्मिथ वायरस

पूरी दुनियाभर में एजेंट स्मिथ वायरस का प्रकोप फेल रहा है। आज हम आपको बताते है कि, एजेंट स्मिथ वायरस क्या है, इसका पता कैसे लगाया जाये, इसे अपने फ़ोन से कैसे हटाया जाये और किन एप के द्वारा ये आता है।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

राज एक्सप्रेस। कई बार हमे पता भी नहीं चलता है और हमारे फ़ोन में वायरस आ जाते है। कई वायरस हार्मफुल नहीं भी होते है, लेकिन ज्यादातर हार्मफुल होते है। इन्ही वायरसों में अब एक नया नाम एजेंट स्मिथ वायरस (Agent Smith Virus) का जुड़ गया है। अगर हम चेक पॉइंट रिसर्च की रिपोर्ट के अनुसार देखे तो, यह वायरस अभी तक दुनिया भर के 2.5 करोड़ एंड्रॉइड स्मार्टफोन में पाया गया है। इसी रिपोर्ट के अनुसार एक और जानकारी हाथ लगी जो ये है कि, पूरी दुनिया भर में सिर्फ भारत के करीब 1.5 करोड डिवाइस में इस वायरस की उपस्थिति नजर आई है।

क्या है Agent Smith Virus:

Agent Smith एक तरह का वायरस है जो, एंड्राइड स्मार्टफोन यूजर्स के फ़ोन में पहुंच कर कैमरा, लोकेशन, कॉल, मैसेज आदि के एक्सेस प्राप्त कर यूजर्स को विज्ञापन दिखा कर उसनका डाटा चोरी कर लेता है। ये विज्ञापन बैंकिंग से रिलेटेड होते है जिनमे आप देखते हो कि, आपको बहुत ही शानदार रिटर्न मिलेगा। आप इस तरह के विज्ञापन को देख कर आकर्षित हो जाते हो और इसी बिच आपका डाटा चुरा लिया जाता है। इस वायरस की सबसे लग बात यह है कि, आपको अपने पूरे स्मार्टफोन में इस वायरस का कोई आइकन दिखाई नहीं देगा। इतना ही नहीं एक साधारण एप जैसे whatsapp या गूगल को वायरस में बदल देता है।

चेक पॉइंट रिसर्च क्या है :

चेक पॉइंट रिसर्च (Check Point Research) एक तरह की Check Point Software की थ्रेट इंटेलिजेंस विंग है। जो साइबर सिक्योरिटी के क्षेत्र में काम करती है। यह संस्था Google के साथ मिलकर काम कर रही है। उन्होंने बताया है कि, फिलहाल Google के Play Store में अभी कोई हानिकारक ऐप उपस्थित नहीं है। इन्होने सलहा देते हुए कहा है कि, स्मार्टफोन यूजर्स को थर्ड पार्टी ऐप स्टोर से ऐप डाउनलोड न करे।

इस एप से आया पहली बार :

कंपनी ने बताया है कि यह एजेंट स्मिथ नाम का वायरस पहली बार 9 App को डाउनलोड करने पर आया था। जब इस बात की जानकारी लगी तब, 9 App ने अपना बयान जारी कर बताया है कि, वे इस मामले की जांच-पड़ताल कर रहे हैं इसी के साथ कंपनी लगातार Google के संपर्क में बानी हुई है। चेक पॉइंट रिसर्च के थ्रेट इंटेलिजेंस विंग के प्रमुख Jonathan Shimonovich ने बताया है कि, यह वायरस उन लोगो के फ़ोन में ज्यादा पाया जाता है जो हिंदी, अरबी, रूसी और इंडोनेशियाई भाषा का उपयोग करते है। इतना ही नहीं उनका दावा है कि, इस वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित होने बाले यूजर्स भारतीय हैं।

इन देशो में भी पाया गया यह वायरस :

भारत के अलावा इस वायरस का प्रकोप एशियाई देश जैसे- पाकिस्तान, बांग्लादेश और इंडोनेशिया में भी पाया गया है। इनके साथ ही इस वायरस के प्रकोप में आने वाले देशो की लिस्ट में ब्रिटेन, अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया ने नाम भी शामिल है।

इन एप के जरिये आ सकता है :

विशेषज्ञों ने बताया है कि, जिन स्मार्टपोनेस में निम्नलिखित अप्प उपलब्ध है उनके स्मार्टफोन्स को एजेंट स्मिथ वायरस का खतरा मंडरा सकता है।

  • whatsapp

  • lenovo.anyshare.gps

  • mxtech.videoplayer.ad

  • jio.jioplay.tv

  • jio.media.jiobeats

  • jiochat.jiochatapp

  • jio.join, good.gamecollection

  • opera.mini.native

  • startv.hotstar

  • meitu.beautyplusme

  • domobile.applock

  • touchtype.swiftkey

  • flipkart.android

  • cn.xender

  • eterno

  • truecaller

  • Ludo Master - New Ludo Game 2019 For Free

  • Blockman Go: Free Realms & Mini Games

  • Crazy Juicer - Hot Knife Hit Game & Juice Blast

  • Sky Warriors: General Attack

  • Bio Blast - Infinity Battle Shoot virus

  • Shooting Jet

  • Photo Projector

  • Gun Hero — Gunman Game for Free

  • Cooking Witch

  • Color Phone Flash - Call Screen Theme

  • Clash of Virus

  • Angry Virus

  • Rabbit Temple

  • Star Range

  • Kiss Game: Touch Her Heart

  • Girl Cloth Xray Scan Simulator

यदि आप इसे अपने फ़ोन से हटाना चाहते है तो, आप इन स्टेप्स को फॉलो कर सकते है।

  1. स्टेप - आप अपने स्मार्टफोन की सेटिंग्स में जाएं।

  2. स्टेप - सेटिंग्स में जाने के बाद आप एप्लिकेशन मैनेजर पर क्लिक करें।

  3. स्टेप - आप स्क्रॉल करके उन app को देखें जिसे आप नहीं जानते या उन्हें अपने इंसटाल नहीं किया।

  4. स्टेप - जिन app को आप नहीं जानते उन्हें अन-इंस्टॉल कर दें। साथ ही उन सभी app को भी अन-इंस्टॉल करदे जो हाल ही में इंस्टाल की हो।