Modi Government Ministers Meeting on Huawei 5G trial
Modi Government Ministers Meeting on Huawei 5G trial|Kavita Singh Rathore -RE
टेक & गैजेट्स

चाइनीज ऐप के बाद Huawei का हो सकता अगला नंबर, मंत्रियों ने की बैठक

अब भारत सरकार जल्द चीन को दूसरा बड़ा झटका दे सकती है। दरअसल, भारत और चीन के बीच बढ़ रहे विवादों के बीच सरकार के कई मंत्रियों ने Huawei और 5G पर बैठक कर चर्चा की।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

राज एक्सप्रेस। कल ही भारत सरकार ने चीन के खिलाफ बड़ा कदम उठाते हुए भारत में 59 चाइनीज ऐप को ब्लॉक कर दिया है। वहीं, अब सरकार जल्द चीन को दूसरा बड़ा झटका दे सकती है। जिसकी तैयारी में वह जुटी हुई है। बता दें भारत और चीन के बीच बढ़ रहे विवादों के बीच मोदी सरकार के कई दिग्गज मंत्रियों ने मिलकर एक बैठक आयोजित की, जिसमे चर्चा का मुख्य मुद्दा 5G रहा। बताते चलें, सोमवार को हुई इस बैठक में कई दिग्गज मंत्रियों में गृह मंत्री अमित शाह, विदेश मंत्री एस जयशंकर, वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल और संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद मौजूद भी शामिल हुए।

Huawei है चीन की कंपनी :

भारत और चीन के बीच बड़े तनावों को मद्देनजर रखते हुए भारत में चीन के सामान के बहिष्कार करने की मुहिम बहुत ही जोरों पर है इतना ही नहीं भारत सकरार ने देश की जनता का अह्वान पर ही चीनी ऐप्स बैन की हैं। वहीँ, अब अगला नंबर 5G सेवाओं के लिए इस्तेमाल होने वाले उपकरणों का नजर आरहा है।

बताते चलें इस बैठक में 5G सेवाओं में उपकरणों की आपूर्ति को लेकर चर्चा की गई है, क्योंकि, 5G सेवाओं से जुड़े इस उपकरणों का निर्माण चीनी ही कंपनी Huawei (हुवै) करती है। जिसे पिछले साल ही भारत में ट्रायल लेने के लिए अनुमति मिली थी, परंतु अमेरिका सहित अन्य देशों के दबाव के चलते हो सकता है। इसे भी बहार ही रखा जाए। वहीं, दूसरी तरफ बैठक में हुई बातचीत क लेकर मुख्य चर्चा सामने नहीं आई है और न ही इस बारे में किसी मंत्री द्वारा कोई जनकारी दी गई है।

5G की नीलामी टाली :

बताते चलें, भारत चीन के विवाद मामले के चलते ही फिलहाल भारत में 5G की नीलामी को एक साल तक के लिए टाल दिया गया है। बता दें, Huawei के उत्पादों पर अमेरिका में मई 2021 तक के लिए पाबंदी लगी है। वहीं, सिंगापुर और ऑस्ट्रेलिया में भी 5G की के लिए Huawei कंपनी का इस्तेमाल नहीं किया जा रहा है। भारत में Huawei को जगह मिली हुई थी लेकिन अब भारत में भी Huawei कंपनी का जम कर विरोध किया जा रहा है। विरोध का एक कारण यह भी बताया जा रहा है कि, Huawei के संस्थापक के PLA से रिश्ते हैं।

सोमवार को हुई बैठक :

वहीं, दूसरी तरफ बैठक में हुई बातचीत को लेकर हुई मुख्य चर्चा सामने नहीं आई है और न ही इस बारे में किसी मंत्री द्वारा कोई जनकारी दी गई है। परन्तु खबरों के अनुसार, भारत में सुरक्षा के लिहाज से Huawei को लेकर चिंता जताई गई है। भारत में बेन हुई 59 चाइनीज ऐप की लिस्ट जानने के लिए- क्लिक करें

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co