Apple ने जताया भारत पर भरोसा।
Apple ने जताया भारत पर भरोसा।|Syed Dabeer Hussain – RE
टेक & गैजेट्स

आत्मनिर्भर भारत : Apple ने चेन्नई में बनाना शुरू किया iPhone 11

"मंत्रियों के ट्वीट पर ट्विटर यूज़र्स ने भी बाल की खाल निकालना शुरू कर दी। किसी ने जानकारी में सुधार करने की ताकीद दी तो किसी ने बेरोजगारी का हवाला देकर नौकरी की मांग कर डाली।"

Neelesh Singh Thakur

हाइलाइट्स –

  • Apple ने जताया भारत पर भरोसा

  • भारत में बनेगी फ्लैगशिप डिवाइस

  • नामी टॉप लाइन मॉडल्स में से एक

  • iPhone 11 की मैन्युफेक्चरिंग शुरू

राज एक्सप्रेस। आत्मनिर्भरता की दिशा में बढ़ते भारत ने सफलता का एक और कदम बढ़ाया है। इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेस बनाने के मामले में मशहूर दुनिया के स्पेशल ब्रांड्स में से एक एप्पल (Apple) ने चेन्नई में काम के विस्तार का मन बना लिया है।

आत्मनिर्भर भारत –

भारत सरकार को अपने आत्मनिर्भर भारत अभियान में एक और बड़ी सफलता हासिल हुई है। लग्जरी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेस बनाने के मामले में दुनिया की टॉप कंपनियों में शुमार Apple ने अपनी फ्लैगशिप डिवाइस iPhone 11 को भारत में बनाने का निर्णय लिया है।

पहली बार भारत में –

यह पहला मौका है जब एप्पल ने अपने उच्च श्रेणी के किसी मॉडल को तैयार करना भारत में शुरू किया हो। इसके पहले तक एप्पल अपने कुछ मॉडल्स की असेंबलिंग का काम जरूर भारत में करता रहा है।

टॉप लाइन मॉडल -

कंपनी ने अब चीन के बजाए भारत में Apple के iPhone 11 का निर्माण करना शुरू कर दिया है। आपको बता दें Apple iPhone 11 कंपनी के टॉप लाइन मॉडल्स में से एक है।

भारत में यहां –

कंपनी एप्पल ने भारत के चेन्नई स्थित फॉक्सकॉन प्लांट में iPhone 11 को तैयार करना शुरू किया है। व्यापारिक रणनीति के तौर पर इसे भारत सरकार की बड़ी सफलता माना जा रहा है।

वाणिज्य मंत्री ने बताया -

केंद्रीय वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को ट्विटर पर इस खबर की घोषणा की। उनके ट्वीट में उल्लेखित है - सौजन्य ट्विटर -

केंद्रीय मंत्री गोयल ने ट्वीट में द इकोनॉमिक टाइम्स की खबर को साझा किया है। ट्वीट कुछ एस प्रकार है- मेक इन इंडिया के लिए महत्वपूर्ण प्रोत्साहन! Apple ने भारत में iPhone 11 का निर्माण शुरू कर दिया है, जो देश में पहली बार एक शीर्ष-पंक्ति मॉडल ला रहा है।

केंद्रीय मंत्री ने किया रीट्वीट -

केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री रविशंकर प्रसाद ने भी एक अंग्रेजी माध्यम के हवाले से अपने ट्वीट में इस सफलता के बारे में जानकारी दी है। सौजन्य ट्विटर -

केंद्रीय मंत्री प्रसाद के ट्वीट में उल्लेखित है कि -

2020 - आईफोन 11

2019 - iPhone 7 और XR

2018 - आईफोन 6 एस

2017 - आईफोन एसई

यह कालक्रम अपने आप में एक विवरण है कि कैसे@नरेंद्र मोदीसरकार ने भारत में मोबाइल फोन निर्माण के लिए पारिस्थितिकी तंत्र विकसित किया है। यह केवल एक विनम्र शुरुआत है।

ट्विटरातियों के रिप्लाई -

बात निकले तो फिर दूर तलक न जाए? ट्विटर पर ऐसा कभी होता है भला? दोनों मंत्रियों के ट्वीट के बाद ट्विटर यूज़र्स ने भी बाल की खाल निकालना शुरू कर दी। किसी ने जानकारी में सुधार करने की ताकीद दी तो किसी ने रोजगार का हवाला देकर नौकरी देने की मांग अपनी प्रतिक्रिया में की।

सार्थक सिरोही लिखते हैं कि लोगों को रोजगार दीजिये। ये फोन बनाने से क्या होगा माय गॉड।

ठीक इसी तरह मनंजॉय दत्ता चौधरी ने यह साफ करने की कोशिश की है कि यह भारत निर्मित नहीं है। यह भारत में असेंबल्ड है।

इतिहास पर गौर -

आपको याद हो इससे पहले क्यूपर्टिनो बेस्ड इस तकनीकी दिग्गज ने साल 2019 के दौरान भारत में आईफोन एक्सआर (iPhone XR) असेंबल करना शुरू कर दिया था। वर्ष 2017 में Apple ने भारत में घरेलू तौर पर बेंगलुरु प्लांट में एप्पल आईफोन एसई (iPhone SE) 2016 तैयार करने की शुरुआत की थी।

नया प्लान – मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एप्पल की योजना भारत में iPhone SE 2020 को बेंगलुरु के पास अपने विस्ट्रॉन प्लांट में तैयार करने की भी है।

निवेश की योजना - इस महीने की शुरुआत में, एप्पल की एक प्रमुख आपूर्तिकर्ता फॉक्सकॉन ने भारत में मौजूद कारखाने का विस्तार करने के लिए 1 बिलियन डॉलर निवेश की योजना की जानकारी दी थी। यह वही कारखाना है जहां एप्पल के आईफोन मॉडल्स की असेंबलिंग होती है।

फॉक्सकॉन के बाद दूसरे सबसे बड़े iPhone असेंबलर पेगाट्रॉन ने भी भारत में कुछ निवेश करने और भविष्य में एक स्थानीय सहायक स्थापित करने की जानकारी दी थी।

डिस्क्लेमर आर्टिकल प्रचलित रिपोर्ट्स पर आधारित है। इसमें शीर्षक-उप शीर्षक और संबंधित अतिरिक्त प्रचलित जानकारी जोड़ी गई हैं। इस आर्टिकल में प्रकाशित तथ्यों की जिम्मेदारी राज एक्सप्रेस की नहीं होगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co