Telegram CEO Pavel Durav Described WhatsApp
Telegram CEO Pavel Durav Described WhatsApp|Kavita Singh Rathore -RE
व्यापार

Telegram के CEO ने दी WhatsApp को लेकर तीखी प्रतिक्रिया

Telegram के CEO पावेल दुराव ने Amazon के फाउंडर जेफ्फ बेज़ोस से बातचीत के दौरान WhatsApp को एक खतरनाक ऐप बताया। साथ ही ग्राहकों और बेज़ोस को WhatsApp के स्थान पर Telegram का इस्तेमाल करने की सलाह दी।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

हाइलाइट्स :

  • Telegram के CEO ने WhatsApp को बताया खतरनाक ऐप

  • पावेल दुराव ने जेफ्फ बेज़ोस को बातचीत के दौरान दी सलाह

  • WhatsApp के स्थान पर Telegram का इस्तेमाल करने की दी सलाह

  • WhatsApp करता है एंड-टू-एंड एनक्रिप्शन का बहुत प्रचार-प्रसार

राज एक्सप्रेस। Telegram और WhatsApp में आ सकती है तकरार, क्योंकि Telegram के CEO पावेल दुराव ने Amazon के फाउंडर जेफ्फ बेज़ोस से बातचीत के दौरान WhatsApp को लेकर कहा कि, WhatsApp एक खतरनाक ऐप है, ग्राहकों इसकी जगह टेलीग्राम का इतेमाल करना चाहिए। इसके अलावा उन्होंने बेज़ोस को इसे इस्तेमाल करने की सलाह भी दी। साथ ही उन्होंने कहा कि, Jeff Bezos अपने फोन में WhatsApp के स्थान पर Telegram का इस्तेमाल कर रहे होते तो, डिवाइस हैक करके उन्हें ब्लैकमेल नहीं कर पाता।

क्या है मामला :

दरअसल, हाल ही में बहुचर्चित शॉपिंग साइट Amazon के फाउंडर जेफ्फ बेज़ोस (Jeff Bezos) का फ़ोन हैक होने की घटना सामने आई थी जो कि, WhatsApp के द्वारा हुआ था और इस हैकिंग का जिम्मेदार Apple के ऑपरेटिंग सिस्टम को बताया गया था। इतना ही नहीं उन्हें इस हैकिंग के बाद ब्लैकमेल करने की खबर भी सामने आई थी। इसी घटना के चलते 6 साल पुरानी मैसेजिंग ऐप Telegram ने दुनियाभर में बहुचर्चित 11 साल पुरानी ऐप WhatsApp को खतरनाक बता दिया।

कई डिवाइसेज में हो सकता है नुकसानदायक :

elegram के CEO Durov ने बताया कि, WhatsApp की ये कमियां न केवल iOS में है बल्कि इसके साथ ही एंड्राइड और विंडोज फोन में भी उपलब्ध है अर्थात, iOS, एंड्राइड और विंडोज डिवाइसेज में WhatsApp का इस्तेमाल करना यूजर्स के लिए खतरनाक और नुकसानदायक साबित हो सकता है। जिन लोगों के फोन में WhatsApp इंस्टॉल है उनके फोन में भी करप्ट वीडियो से जुड़ी दिक्कत आ सकती हैं।

Durov की WhatsApp को लेकर तीखी प्रतिक्रिया :

Durov ने WhatsApp ऐप को लेकर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए यह भी कहा है कि, WhatsApp अपने एंड-टू-एंड एनक्रिप्शन का बहुत प्रचार-प्रसार करता है। हालांकि, कंपनी का कहना यह है कि, ये फीचर एक दम सिक्योर​ है, लेकिन हकीकत तो यह है कि, आज तक ऐसी कोई टेक्नोलॉजी नहीं बनी है जो, कि इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों की प्रायवेसी की गारंटी ले सके। इसके अलावा उन्होंने बताया कि, Telegram का इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों को ढेरों में​लिशस बग्स से भी छुटकारा मिल जाएगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co