अमेरिका: TikTok बैन मामले में कंपनी ने खटकाया वाशिंगटन कोर्ट का दरवाजा

ट्रंप द्वारा TikTok पर बैन का मामला अब कोर्ट में पहुंच गया है। अमेरिका की तरफ से TikTok और WeChat के बैन की आधिकारिक घोषणा होने से पहले ही TikTok कंपनी ने बैन मामले को में कोर्ट का दरवाजा खटकाया।
अमेरिका: TikTok बैन मामले में कंपनी ने खटकाया वाशिंगटन कोर्ट का दरवाजा
Tiktok filed a petition in Washington court on ban caseSocial Media

अमेरिका। भारत के बाद अब अमेरिका ने भी चाइना की बहुचर्चित शार्ट मेकिंग और शेयरिंग वीडियो ऐप TikTok और मैसेंजिंग ऐप WeChat जैसी चाइनीज ऐप्स पर प्रतिबंध लगा दिया है। हालांकि इस बारे में अमेरिका की तरफ से आधिकारिक घोषणा रविवार यानि 20 सितंबर को की जानी है। अमेरिका द्वारा TikTok बैन को लेकर होने वाली आधिकारिक घोषणा से पहले ही TikTok कंपनी ने बैन मामले को लेकर कोर्ट का दरवाजा खटखटाया।

वाशिंगटन कोर्ट पंहुचा TikTok बैन का मामला :

दरअसल, अमेरिका में TikTok के बैन होने की खबर सामने आते ही TikTok के स्वामित्व वाली चीनी कंपनी Bytdance की मुश्किलें और अधिक बाद गई जिससे परेशां होकर कंपनी ने वाशिंगटन स्थित संघीय कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। कंपनी ने अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के फैसले के खिलाफ कोर्ट में याचिका दायर करते हुए इस फैसले को अपने अधिकार क्षेत्र से बाहर जाकर फैसला बताया है। फिलहाल अब यह मामला वाशिंगटन की कोर्ट तक पहुंच गया है।

कंपनी की याचिका :

ट्रंप प्रशासन द्वारा TikTok पर बैन का मामला अब कोर्ट में पहुंच गया है। TikTok के स्वामित्व वाली चीनी कंपनी Bytdance द्वारा कोर्ट में दायर की याचिका में कहा गया था कि, 'अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप द्वारा TikTok पर बैन लगाने का यह फैसला अपने अधिकार क्षेत्र से बाहर जाकर लिया है। साथ ही इस फैसले को लेने के पीछे की मुख्य वजह शुद्ध राजनीतिक है'। न कोई राष्ट्रीय सुरक्षा।' बताते चलें, राष्ट्रपति ट्रंप ने 6 अगस्त को चीनी ऐप्स को बैन करने से संबंधी आदेशों पर हस्ताक्षर किए थे। हस्ताक्षर किए गए यह आदेश 45 दिनों में प्रभावी होने थे, जिसके फलस्वरूप 20 सितंबर से पहले शुक्रवार को US के वाणिज्य मंत्रालय ने इस मामले में एक आदेश जारी कर दिया।

रविवार को होगी आधिकारिक घोषणा :

US के वाणिज्य मंत्रालय द्वारा जारी बयान के अनुसार, अमेरिका द्वारा TikTok और WeChat के ऑपरेशंस पर पूरी तरह बैन करने के फैसले की आधिकारिक घोषणा रविवार यानि 20 सितंबर को की जाएगी यानि अमेरिका में रविवार से यह दोनों ही चीनी ऐप्स बैन हो जाएंगी। साथ ही इसे कोई भी अमेरिकी यूजर डाउनलोड भी नहीं कर सकेगा। हालांकि, जिन यूजर्स के फोन में यह ऐप्स पहले से मौजूद है वह पहले की तरह ही काम करती रहेंगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co